S M L

कर्नाटक चुनाव 2018: मणिशंकर के 'पाकिस्तान कनेक्शन' पर भड़के अमित शाह

जिन्ना को कायदे-ए-आजम बताने पर शाह ने कहा, गुजरात हो या कर्नाटक का चुनाव, मुझे समझ नहीं आता कांग्रेस पाकिस्तान को क्यों शामिल करती है

Updated On: May 06, 2018 12:42 PM IST

FP Staff

0
कर्नाटक चुनाव 2018: मणिशंकर के 'पाकिस्तान कनेक्शन' पर भड़के अमित शाह

कांग्रेस से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर पाकिस्तान में मोहम्मद अली जिन्ना का मुद्दा उठाकर बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं. एक कार्यक्रम में उन्होंने जिन्ना को कायदे आजम बोलकर संबोधित किया जिस पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कड़ा एतराज जताया.

दरअसल, अय्यर शनिवार को लाहौर में 'थ्रेट टू सिक्योरिटी इन द 21th सेंचुरी; फाइंडिंग ए ग्लोबल वे फॉरवर्ड' इंटरनेशनल कॉफ्रेंस में हिस्सा लेने पहुंचे. इस कॉन्फ्रेंस को लाहौर यूनिवर्सिटी ने आयोजित किया है. कॉन्फ्रेंस में उन्होंने एएमयू में जिन्ना की तस्वीर पर मचे विवाद को लेकर अपनी राय रखी. इसके लिए उन्होंने 'सांप्रदायिक हिंदुओं' को जिम्मेदार ठहराया.

अय्यर ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, मौजूदा एनडीए सरकार भारत में हिंदुत्व की अवधारणा पेश कर रही है लेकिन इसका विरोध भी हो रहा है. इस पर प्रतिवाद करते हुए बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने कांग्रेस से भारत की घरेलू राजनीति में दूसरे देशों को नहीं शामिल करने को कहा. उन्होंने हैरानी जताई कि पार्टी ऐसे मामलों में पाकिस्तान को क्यों शामिल करती है.

शाह ने पाकिस्तान सरकार की ओर से टीपू सुल्तान को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने और मणि शंकर अय्यर की ओर से मोहम्मद अली जिन्ना की सराहना का स्क्रीनशॉट भी ट्वीट किया. उन्होंने दावा किया, ‘कांग्रेस और पाकिस्तान में गजब की टेलीपैथी है. कल पाकिस्तान सरकार ने टीपू सुल्तान को याद किया, जिनकी जयंती कांग्रेस ने धूमधाम से मनाई थी और आज श्री मणि शंकर अय्यर ने जिन्ना की सराहना की. गुजरात हो या कर्नाटक का चुनाव, मुझे समझ नहीं आता कांग्रेस पाकिस्तान को क्यों शामिल करती है.’

इधर कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के एक सांसद की ओर से आजादी की लड़ाई में नेहरू-गांधी के योगदान की तुलना मोहम्मद अली जिन्ना से करने की निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तान के संस्थाक भारत के कभी आदर्श नहीं हो सकते. पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के लिए जिन्ना के नाम पर ‘बनावटी मुद्दा’ तैयार किया गया है.

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा, ‘चाहे किसी पार्टी का व्यक्ति हो या अराजनीतिक व्यक्ति हो, हम उसकी निंदा करते हैं जो जिन्ना की तारीफ करता है. जिन्ना किसी भी हालत में इस देश के आदर्श नहीं हो सकते. इस देश में जिन्ना की जयजयकार कभी नहीं हुई और न ही होनी चाहिए. लेकिन अलीगढ़ में जिन्ना के बहाने एक बनावटी मुद्दा बनाया जा रहा है. इसका मकसद यह है कि प्रतिक्रिया हो और ध्रवीकरण हो सके.’

(इनपुट भाषा के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi