S M L

NRC ड्राफ्ट पर बोलीं ममता- BJP की राजनीति स्वीकार नहीं, 2019 में हराएंगे

एनआरसी ड्राफ्ट को लेकर ममता बनर्जी के 'सिविल वॉर' बयान पर असम के डिब्रुगढ़ में उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है

FP Staff Updated On: Aug 01, 2018 12:07 PM IST

0
NRC ड्राफ्ट पर बोलीं ममता- BJP की राजनीति स्वीकार नहीं, 2019 में हराएंगे

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) की दूसरे और फाइनल ड्राफ्ट को लेकर बीजेपी और विपक्षी पार्टियों के बीच घमासान तेज हो गया है. सोमवार को जारी हुए एनआरसी के दूसरे ड्राफ्ट में 40 लाख लोगों का नाम नहीं होने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष ममता बनर्जी ने बीजेपी के खिलाफ जोरदार तरीके से अपनी आवाज बुलंद की है.

दिल्ली पहुंची ममता ने बीजेपी के अलग-अलग नेताओं में अंतर का जिक्र करते हुए कहा, 'मैं नहीं कह रहीं हूं कि सभी लोग खराब हैं. सुषमा स्वराज और राजनाथ सिंह अच्छे हैं. आलू और आलू चिप्स बराबर नहीं हो सकता.'

ममता ने मंगलवार देर शाम गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी की असहिष्णुता वाली राजनीति स्वीकार नहीं की जाएगी. विपक्ष एकजुट होकर 2019 में सत्तारूढ़ दल को हराएगा. टीएमसी अध्यक्ष ने बताया कि वो बुधवार को यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से भी मिलेंगी.

राजनाथ सिंह ने ममता से कहा कि असम में एनआरसी को अपडेट करना पूरी तरह निष्पक्ष, पारदर्शी और कानूनी प्रक्रिया है. उन्होंने ममता को भरोसा दिलाया कि एनआरसी प्रक्रिया में किसी को भी परेशान नहीं किया जाएगा. सभी को पर्याप्त मौका दिया जाएगा.

असम में एक एनआरसी केंद्र पर महिला

असम में एक एनआरसी केंद्र पर महिला

ममता बनर्जी के 'सिविल वॉर' बयान पर असम के डिब्रुगढ़ में केस दर्ज

बता दें कि असम के एनआरसी के दूसरे और फाइनल ड्राफ्ट में 40 लाख लोगों का नाम नहीं होने पर ममता बनर्जी ने देश में सिविल वॉर (गृह युद्ध) की चेतावनी दी थी, जिसे लेकर उनके खिलाफ शिकायत दर्ज हुई है.

सिविल वॉर की चेतावनी देते हुए ममता बनर्जी ने कहा था कि बंगाली ही नहीं अल्पसंख्यकों, हिंदुओं और बिहारियों को भी एनआरसी से बाहर रखा गया है. जिन 40 लाख से ज्यादा लोगों ने सत्ताधारी पार्टी के लिए वोट किया था, उन्हें अपने ही देश में रिफ्यूजी बना दिया गया है. ममता ने कहा, 'वो (बीजेपी) लोग देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं. यह जारी रहा तो देश में खून की नदियां बहेंगी, देश में सिविल वॉर शुरू हो जाएगा.'

ममता बनर्जी के सिविल वॉर वाले बयान को लेकर असम के डिब्रुगढ़ जिले के नाहरकटिया पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है. ममता पर प्रदेश की सांप्रदायिक सद्भावना को नुकसान पहुंचाने की कोशिश का आरोप लगाया गया है. पुलिस ने फिलहाल केस दर्ज नहीं किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi