S M L

स्थिति ठीक होने पर ही मिलेगी मुहर्रम के दिन विसर्जन की अनुमति: बंगाल सरकार

ममता बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार दुर्गा पूजा के दौरान संभावित उपद्रवों को रोकने के लिए सभी संभव कदम उठाएगी

Updated On: Sep 23, 2017 04:12 PM IST

Bhasha

0
स्थिति ठीक होने पर ही मिलेगी मुहर्रम के दिन विसर्जन की अनुमति: बंगाल सरकार

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार दुर्गा पूजा के दौरान संभावित उपद्रवों को रोकने के लिए सभी संभव कदम उठाएगी. साथ ही उन्होंने कहा कि यह उनका संकल्प है कि समारोह शांतिपूर्वक समाप्त हो जाएं.

उन्होंने दावा किया कि उन्हें जानकारी मिली है कि ‘कुछ बाहरी तत्वों’ ने समस्या उत्पन्न करने की मंशा से पश्चिम बंगाल की ‘ट्रेन टिकटें बुक करवा ली है.’ उनका यह बयान दुर्गा मूर्ति के विसर्जन (जो मुहर्रम के ताजिया जुलूस के समय ही हो रहा है) के दौरान गड़बड़ी होने की आशंका के बीच आया है.

उन्होंने किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न करने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा, ‘एक चिंगारी आग भड़काने के लिए पर्याप्त है. मुझे पता चला है कि कुछ बाहरी तत्वों ने समस्या उत्पन्न करने और उपद्रव फैलाने की मंशा से बंगाल का टिकट बुक करवा लिया है.’

ममता ने कहा, ‘मैं उन्हें कहना चाहूंगी कि बंगाल को बंगाल की तरह रहने दें. हम अपने त्योहार को अच्छी भावना से और अपने तरीके से शांतिपूर्वक मनाएंगे.’ कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा 30 सितंबर को विजयादशमी के बाद सभी दिनों दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन की अनुमति देने के एक दिन बाद पश्विम बंगाल सरकार ने कहा कि ‘स्थिति ठीक पाए जाने’ पर मुहर्रम पर विसर्जन की अनुमति दी जाएगी.

दिक्कत होने पर नहीं मिलेगी अनुमति

राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अध्यक्षता में शीर्ष अधिकारियों की एक बैठक में यह निर्णय किया गया कि पुलिस पूजा आयोजनकर्ताओं से कहेगी कि वे रविवार तक अनुमति ले लें.

पश्चिम बंगाल के गृह सचिव अत्रि भट्टाचार्य ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘परिस्थितियों और स्थिति के अनुसार जहां भी यह फिट पाई जाएगी (एक अक्तूबर को मुहर्रम के दिन विसर्जन के लिए) अनुमति दी जाएगी.’

उन्होंने कहा, ‘जहां भी दिक्कतें हैं अनुमति नहीं दी जाएगी.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार उच्च न्यायालय के आदेश को ध्यान में रखते हुए एक रास्ता निकालेगी. उन्होंने यहां एक पूजा पंडाल का उद्घाटन करने के बाद कहा, ‘चिंता की कोई बात नहीं है. हम दुष्प्रचार फैलने से रोकने के लिए कदम उठा रहे हैं.’

राज्य सरकार ने इससे पहले 30 सितंबर को विजयादशमी के दिन रात 10 बजे के बाद विसर्जनों पर रोक लगाई थी और कहा था कि मुहर्रम के दिन किसी भी विसर्जन की अनुमति नहीं दी जाएगी जो कि एक अक्तूबर को है.

शहर के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि शहर में करीब 2600 पूजा पंडाल लगेंगे और किसी भी आयोजक ने एक अक्तूबर को एकादशी के दिन विसर्जन की अनुमति नहीं मांगी है जिस दिन मुहर्रम भी है.

उन्होंने कहा, ‘यह हमारे संज्ञान में आया है कि कुछ लोग सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने का प्रयास कर रहे हैं. हम ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे जो सोशल मीडिया के जरिए गड़बड़ी उत्पन्न करने का प्रयास करते पाए जाएंगे.’

राज्य के डीजीपी सुरजीत पुरकायस्थ ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गुप्तचर सूचना के अनुसार ‘बाहरी’ लोग धार्मिक उत्सव के मौके पर राज्य में गड़बड़ी उत्पन्न करने का प्रयास कर सकते हैं. इस बीच पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने राज्य में हिंदू और मुस्लिमों से अपील की कि वे शांतिपूर्ण तरीके से अपने धार्मिक आयोजन मनाएं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi