S M L

महाराष्ट्र: बांग्लादेशियों का फर्जी आधार और पैन कार्ड बनवाने वाला गिरफ्तार

कुछ दिनों पहले भी एटीएस ने फर्जी आधार कार्ड के साथ पांच बांग्लादेशी नागरिकों की गिरफ्तारी की थी

Updated On: Mar 16, 2018 10:22 PM IST

FP Staff

0
महाराष्ट्र: बांग्लादेशियों का फर्जी आधार और पैन कार्ड बनवाने वाला गिरफ्तार

महाराष्ट्र की एटीएस टीम ने बांग्लादेशियों की फर्जी भारतीय आधार कार्ड और पैन कार्ड बनाने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपी के पास से एटीएस को बड़ी मात्रा में फर्जी आधार कार्ड और पैन कार्ड मिले हैं. कुछ दिनों पहले भी एटीएस ने फर्जी आधार कार्ड के साथ पांच बांग्लादेशी नागरिकों की गिरफ्तारी की थी.

पांच बांग्लादेशी नागरिक पहले भी हो चुके हैं गिरफ्तार

महाराष्ट्र एटीएस टीम ने नवी मुंबई से पांच बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार बांग्लादेशियों के पास से भारतीय आधार कार्ड भी मिले हैं. बता दें कि इससे पहले भी बांग्लादेशी नागरिकों से फर्जी आधार कार्ड बरामद होने की कई घटनाएं सामने आईं हैं.

सक्रिय है पासपोर्ट मुहैया कराने वाला गैंग

फर्जी आधार कार्ड और अन्य प्रमाण पत्र के आधार पर भारत में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों के पासपोर्ट बनाने वाले कई गिरोह सक्रिय हैं जो अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को भारतीय पासपोर्ट मुहैया कराते हैं. इन पर सरकार उचित ढंग से लगाम नहीं लगा पा रही है क्योंकि ऐसे रैकेट कहां-कहां सक्रिय हैं इसकी जानकारी किसी भी संस्था के लिए निकाल पाना मुश्किल है.

असम में हैं सबसे ज्यादा बांग्लादेशी घुसपैठिए

असम सरकार ने जनवरी में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का पहला ड्राफ्ट जारी किया था. इसके मुताबिक, सिर्फ 1.9 करोड़ लोगों को ही भारत का वैध नागरिक माना गया है. जबकि, कुल 3.29 करोड़ लोगों ने अप्लाई किया था. मतलब साफ है कि वहां बड़ी संख्या में बांग्लादेशी नागरिक, भारतीय नागरिक बनकर रह रहे हैं.

बताया जा रहा है कि असम में बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालने के लिए सरकार ने एनआरसी ड्राफ्ट जारी किया है. इसके तहत राज्य में रहने वाले भारतीयों की पहचान की जा रही है. सुप्रीम कोर्ट ने इसका आदेश दिया था. इस रजिस्टर में जिन आवेदकों का नाम नहीं है, उनके दस्तावेजों की जांच की जा रही है.

(साभार: न्यूज18 हिंदी)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi