S M L

#MeToo: यौन उत्पीड़न के मामलों पर MP महिला आयोग की अध्यक्ष ने किया एम.जे अकबर का बचाव

अकबर पर कई महिलाओं द्वारा सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाने के बाद गुरुवार को मध्यप्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष ने अकबर का बचाव करते हुए विवादास्पद बयान दिया है

Updated On: Oct 12, 2018 09:07 AM IST

FP Staff

0
#MeToo: यौन उत्पीड़न के मामलों पर MP महिला आयोग की अध्यक्ष ने किया एम.जे अकबर का बचाव

#Metoo अभियान के तहत नरेंद्र मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर कई महिलाओं द्वारा सेक्सुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाने के बाद गुरुवार को मध्यप्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष ने अकबर का बचाव करते हुए विवादास्पद बयान दिया है.

अध्यक्ष लता एलकर ने कहा, 'मैं महिला पत्रकारों को इनोसेंट नहीं मानती. गलती दोनों ओर से हुई होगी. वो इतनी इनोसेंट नहीं होती कि कोई उनका मिस यूज कर सके.' इस्तीफे के सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, हम इस्तीफा क्यों मांगे, कांग्रेस को इसकी जरूरत महसूस होती है तो वह मांगे.

फिर अचानक ही अपनी बातों को संतुलित करते हुए वह कहने लगीं, मैं इस कैंपेन का स्वागत करती हूं. इस कैंपेन ने महिलाओं को ऐसा साहस दिया कि अपने ऊपर हुए जुल्मों को लोगों के सामने साझा कर पा रही हैं.बाहर लाए जा रहे इन सभी मामलों की जांच के साथ कार्रवाई भी होनी चाहिए.

इसके पूर्व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बिना विदेश राज्य मंत्री का नाम लिए कहा कि जिन भी सज्जन का नाम लिया जा रहा है उन्हें बयान जारी करना चाहिए.

वहीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने #metoo अभियान में शामिल होने वाली महिलाओं का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि ये महिलाएं बुरे दौर से गुजरी होंगी, ऐसे में सामने आने के लिए काफी हिम्मत चाहिए.

हालांकि इसी हफ्ते केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने कहा था कि राजनेताओं पर लगे आरोपों समेत, सभी इल्जामों की जांच होनी चाहिए.

एलकर ग्वालियर में राजमाता विजयराजे सिंधिया के जन्मशताब्दी वर्ष समारोह पर होने जा रहे मैराथन दौड़ में शामिल होने गई थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi