S M L

विधानसभा चुनाव 2018 LIVE: मध्यप्रदेश में दोपहर 3 बजे तक 50 फीसदी और मिजोरम में 58 फीसदी मतदान

पांचो राज्यों मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम, राजस्थान और तेलंगाना के विधानसभा चुनाव को लेकर मतगणना 11 दिसंबर को होगी

| November 28, 2018, 05:18 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Nov 28, 2018

  • 19:26(IST)

    मध्यप्रदेश में कुल 74 फीसदी मतदान हुए हैं. यह आंकड़ा 2013 के मुकाबले बेहतर है. 

  • 16:50(IST)

    3 बजे के बाद नक्सल प्रभावित बलाघाट जिले में मतदान बंद हो गया है. सिर्फ उन्हीं लोगों को वोटिंग करने दिया गया जो लाइन में लगे थे. इसके अलावा पूरे प्रदेश में औसत मतदान का आंकड़ा पचास प्रतिशत से ऊपर पहुंच गया है

  • 16:17(IST)

    मध्य प्रदेश में 230 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे चुनाव के तहत बुधवार दोपहर दो बजे तक 36 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. इस दौरान प्रदेश में 745 ईवीएम और वीवीपैट मशीनों को बदला गया. वहीं चुनाव ड्यूटी के दौरान स्वास्थ्य कारणों से इंदौर और गुना में दो मतदान अधिकारियों की मृत्यु हो गई.

  • 15:30(IST)

    मिजोरम में दोपहर 3 बजे तक 58 फीसदी मतदान हुआ है

  • 15:27(IST)

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव : दोपहर 3 बजे तक 50 फीसदी मतदान

  • Ajay SinghAjay Singh14:32 (IST)

    तीखा हो, मजाहिया हो, ज़हरीला और बेहद शोर-शराबे वाला हो, सोशल मीडिया पर आज का सियासी संवाद चाहे जैसा भी हो, वो ग्रामीण भारत की गलियों-नुक्कड़ों के चुटीली और पैनी बातों के मुकाबले कहीं नहीं ठहरता. मध्य प्रदेश के दतिया में शहर के शोर-शराबे और तेज-तर्रार जिंदगी से दूर एक गांव के अलमस्त बाशिंदे ने मुझे इसका बखूबी एहसास कराया. जब मैंने उस गांववाले से पूछा कि आखिर मध्य प्रदेश विधानसभा में किसकी हवा बह रही है, तो उसका जवाब था, 'रोटी दोनों तरफ से सेंकना चाहिए. एक तरफ ज्यादा सेंकने से जल जाती है.'

    उस ग्रामीण ने किसी का नाम नहीं लिया. न तो किसी नेता का और न ही किसी पार्टी का. लेकिन, बिना कोई नाम लिए भी उसने तीन बार से चुनाव जीत रहे शिवराज चौहान को लेकर दुविधा को बड़े मजे से जता दिया. मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले चुनाव में शिवराज चौहान इस बार चौथी दफा मुख्यमंत्री बनने के लिए जोर लगा रहे हैं. वो इतने लोकप्रिय रहे हैं तभी पिछले 13 साल से मध्य प्रदेश पर राज कर रहे हैं. लेकिन उनकी ये उपलब्धि ही अबकी बार उनकी सबसे बड़ी चुनौती बन गई है. अगर शिवराज चौहान को जनता फिर से अगले पांच साल के लिए चुनती है, तो इसका मतलब रोटी को एक तरफ ज्यादा सेंकना होगा. तो, अब रोटी को दूसरी तरफ सेंकने का वक्त आ गया है.

    पूरा पढ़ें: मध्य प्रदेश चुनाव: क्या एक तरफ से 'रोटी ज्यादा सिक' गई है, पलटेगी इस बार सरकार?

  • लंबे समय से बीजेपी वंशवादी राजनीति के लिए कांग्रेस पर हमला करती रही है. लेकिन अब कांग्रेस को ऐसा मौका मिला है कि वह इसी वजह से बीजेपी का मजाक उड़ा सकती है. भगवा पार्टी ने मध्यप्रदेश में वरिष्ठ पार्टी सदस्यों के रिश्तेदारों को बड़े पैमाने पर टिकट दिए है. 230 सीटों के लिए घोषित बीजेपी की सूची में 42 उम्मीदवार पार्टी नेताओं के बेटे, बेटियां या रिश्तेदार हैं. कांग्रेस के हिस्से में यह संख्या महज एक दर्जन से अधिक है.

    पूरा पढ़ें: मध्य प्रदेश चुनाव: यह सूची देख बीजेपी पर वंशवाद का आरोप लगा सकती है कांग्रेस

  • 14:24(IST)

    मध्यप्रदेश में पिछले 15 साल से बीजपी की सरकार है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज सुबह वोट डालने के बाद दावा किया कि राज्य में बीजेपी 200 सीटों के लक्ष्य को पूरा करेगी. साल 2013 में मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों में बीजेपी ने 166 सीटें और कांग्रेस ने 57 सीटें जीती थीं. पंद्रह साल से सत्ता का वनवास झेल रही कांग्रेस को उम्मीद है कि इस बार प्रदेश में सत्ता विरोधी लहर चल रही है जिस वजह से कांग्रेस की सरकार बन सकती है. कांग्रेस ने इस बार अपनी रणनीति में बड़े बदलाव किए. राज्य के दिग्गज कांग्रेसियों को चुनाव न लड़ा कर पहले तो पार्टी को भीतरघात से बचाया वहीं दूसरी तरफ इस बार प्रचार में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह को दूर ही रखा गया ताकि बीजेपी एक बार फिर दिग्गी के दौर के दस साल को लेकर राज्य की जनता को बरगला न सके. लेकिन बड़ा सवाल ये है कि सिर्फ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे चेहरों के दम पर कांग्रेस मालवा-निमाड़ में बीजेपी के गढ़ में सेंध नहीं लगा सकती और बिना यहां सीटें बढ़ाए कांग्रेस के लिए सत्ता दूर की कौड़ी ही साबित होगी. 

  • Ajay SinghAjay Singh14:17 (IST)

    1990 के दशक में नरेंद्र मोदी बीजेपी के संगठन महामंत्री के तौर पर मध्य प्रदेश के प्रभारी थे. उस वक्त उन्हें एक उपनाम मिला था, 'मास्टर साहब'. इसकी वजह बीजेपी का संगठन चलाने और पार्टी का वोट बैंक बढ़ाने का उनका तरीका था. मोदी की पुरजोर कोशिश बीजेपी के समर्थन का दायरा बढ़ाने की होती थी.

    पूरा पढ़ें : मध्यप्रदेश चुनाव: 1998 की सोशल इंजीनियरिंग से BJP की बनेगी बात!

  • 14:10(IST)

    मिजोरम में 106 साल की बुजुर्ग महिला ने वोट डाला

  • 13:56(IST)

    मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा है कि ईवीएम में आई खराबी की वजह से बाधित हुए मतदान की सीमा को बढ़ाने का प्रावधान है और इस पर फैसला स्थानीय अधिकारी ले सकते हैं जिसमें चुनाव आयोग को दखल देने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि जहां जहां से ईवीएम मशीनों में खराबी की शिकायतें आ रही हैं उन मशीनों को तुरंत ही दुरुस्त या फिर बदला जा रहा है. दरअसल, कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मतदान की समय सीमा बढ़ाने की मांग की थी जिस पर मुख्य चुनाव आयुक्त ने ये बयान दिया.

  • 13:52(IST)

    कमलनाथ कैसे दिखाते 'कमल'?

    मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर वोट डालने के बाद आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगा है. इस पर उन्होंने कहा कि जब उनसे मीडिया ने पूछा  कि किसको वोट दिया तो उन्होंने हाथ दिखाया. क्या वो लोगों को कमल का फूल दिखाते?

  • 13:47(IST)

    मिजोरम में दोपहर 1 बजे तक 49 फीसदी मतदान

  • 13:46(IST)

    मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों पर दोपहर 1 बजे तक 28 फीसदी मतदान होने की खबर है. लेकिन कई जगहों पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में खराबी की शिकायतों की वजह से मतदान बाधित हो रहा है. मध्यप्रदेश 70 जगहों पर ईवीएम में खराबी की वजह से मशीनें बदली गईं वहीं 100 केंद्रों में ईवीएम को शिकायत मिलने पर दुरुस्त किया गया है.

  • 13:25(IST)

    कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के मतदान समय सीमा बढ़ाने संबंधी अपील पर मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि इस तरह के प्रावधान हैं जिन पर लोकल अधिकारी अपने स्तर पर फैसला ले सकते हैं और इसमें चुनाव आयोग को दखल देने की जरूरत नहीं है. दरअसल मध्यप्रदेश में कई जगहों पर ईवीएम की खराबी की वजह मतदान बाधित हुआ जिस पर सिंधिया ने ये मांग की कि पोलिंग का समय बढ़ाना चाहिए ताकि सभी लोग अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें. वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ये आरोप लगाया कि जहां जहां कांग्रेस मजबूत है वहां ईवीएम खराब होने की शिकायतें आ रही हैं. 

  • 13:07(IST)

    मध्य प्रदेश में दोपहर 12 बजे तक 24 फीसदी मतदान हो चुका है. कई जिलों में अभी भी वोट प्रतिशत इससे कम है. शहरी इलाकों में मतदाताओं की छोटी तो ग्रामीण इलाकों में लंबी कतारें देखी जा रही हैं.

  • 13:02(IST)

    राघोगढ़ में वोट डालने जा रहे मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह की गाड़ी को गुना में रोक लिया गया था लेकिन परिचय पत्र दिखाने के बाद उनको जाने दिया गया. उनका काफिला दर्रोली गांव में रोका गया था.

  • 13:00(IST)

    शहरों के मतदान केंद्रों में ज्यादा उत्साह नहीं दिखाई दे रही है. वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में पोलिंग बूथ पर लोगों की भीड़ दिखाई दे रही है.

  • 12:21(IST)

    मध्य प्रदेश में 11 बजे तक 21 फीसदी मतदान रिकॉर्ड किया गया है.

  • 12:18(IST)

    कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें आई हैं. ऐसे मतदान केंद्रों पर मतदान की समय सीमा बढ़ाने की गुजारिश की गई है. इस बारे में चुनाव आयोग को लिखा गया है.

  • 12:16(IST)

    मिजोरम में 11 बजे तक 29 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई है.

  • 12:15(IST)

    चुनाव आयोग ने वोटिंग के दौरान हार्ट अटैक से मरने वाले पीठासीन अधिकारियों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजे का ऐलान किया है.  

  • 11:28(IST)

    मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव के लिए आज मतदान हो रहा है. विधानसभा की 230 सीटों के लिए प्रदेश के 52 ज़िलों में वोट डाले जाएंगे. चुनाव आयोग ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए व्यापक इंतजाम किए हैं. पूरे प्रदेश में सुबह 8 बजे से मतदान शुरू होकर शाम 5 बजे चलेगा, सिर्फ नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले की 3 सीटों के लिए सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक वोटिंग होगी.

  • 11:26(IST)

    श्योपुर में मतदान के दौरान फर्जी वोटिंग की शिकायत पर विवाद होने पर कांग्रेस और बीएसपी के एजेंट आपस में भिड़े. दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच पथराव हुआ. ये घटना विजयपुर इलाके के बांगरोद गांव के मतदान केंद्र में हुई.

  • 11:07(IST)

    कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दावा किया है कि इस बार मध्य प्रदेश की जनता ने बीजेपी सरकार हटाने का पूरी तरह से मन बना लिया है.

  • 11:06(IST)

    मध्यप्रदेश में ईवीएम और वीवीपैट में खराबी की शिकायतों के बाद चुनाव आयोग ने अब तक 32 ईवीएम और 72 वीवीपैट बदले.

  • 10:52(IST)

    मध्यप्रदेश में मतदान के वक्त इंदौर में दो और गुना में एक चुनाव कर्मी की मृत्यु

  • 10:31(IST)

    मध्यप्रदेश चुनाव 2018: पहली बार मतदान करने आए युवाओं की क्या हैं अपेक्षाएं, जानिए...

  • 10:28(IST)

    मध्यप्रदेश चुनाव 2018: सतना के मैहर स्थित मदई गांव में अभी तक स्कूल न होने की वजह से नाराज जनता ने वोटिंग का बहिष्कार किया.

  • 10:25(IST)

    मध्यप्रदेश: केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोगों से भारी संख्या में मतदान करने की अपील की

विधानसभा चुनाव 2018 LIVE: मध्यप्रदेश में दोपहर 3 बजे तक 50 फीसदी और मिजोरम में 58 फीसदी मतदान

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा है कि ईवीएम में आई खराबी की वजह से बाधित हुए मतदान की सीमा को बढ़ाने का प्रावधान है और इस पर फैसला स्थानीय अधिकारी ले सकते हैं जिसमें चुनाव आयोग को दखल देने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि जहां जहां से ईवीएम मशीनों में खराबी की शिकायतें आ रही हैं उन मशीनों को तुरंत ही दुरुस्त या फिर बदला जा रहा है. दरअसल, कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मतदान की समय सीमा बढ़ाने की मांग की थी जिस पर मुख्य चुनाव आयुक्त ने ये बयान दिया.

Update -

मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों पर दोपहर 1 बजे तक 28 फीसदी मतदान होने की खबर है. लेकिन कई जगहों पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में खराबी की शिकायतों की वजह से मतदान बाधित हो रहा है. मध्यप्रदेश 70 जगहों पर ईवीएम में खराबी की वजह से मशीनें बदली गईं वहीं 100 केंद्रों में ईवीएम को शिकायत मिलने पर दुरुस्त किया गया है.

मध्य प्रदेश में दोपहर 12 बजे तक 24 फीसदी मतदान हो चुका है. कई जिलों में अभी भी वोट प्रतिशत इससे कम है. शहरी इलाकों में मतदाताओं की छोटी तो ग्रामीण इलाकों में लंबी कतारें देखी जा रही हैं.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए इंतजार अब खत्म हो गया है. बुधवार सुबह आठ बजे से राज्य के 52 जिलों की 230 सीटों पर वोटिंग शुरू होगी. वहीं 40 विधानसभा सीटों वाले मिजोरम में भी आज 7.70 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. यहां मतदान सुबह 7 बजे से शुरू होगा. सियासतदारों ने अपने हिस्से का काम कर लिया है अब सब कुछ मतदाताओं के मत पर निर्भर है.

राज्य भर की 230 सीटों के लिए 65,000 से ज्यादा मतदाता केंद्र बनाए गए हैं. इन सभी सीटों पर एक हजार 102 निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी रण में हैं. इनका राजनीतिक भविष्य मतदाता मतपेटी में बंद कर रहे हैं. जिनकी गणना 11 दिसंबर को होगी.

मध्य प्रदेश में कुल पांच करोड़ चार लाख 95 हजार 251 मतदाता हैं. इनमें दो करोड़ 63 लाख एक हजार 300 पुरुष और दो करोड़ 41 लाख 30 हजार 390 महिला मतदाता हैं. वहीं एक हजार 389 थर्ड जेंडर मतदाता भी हैं. विधानसभा चुनाव के लिए पूरी वोटिंग प्रक्रिया के लिए चुनाव आयोग और प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए हैं.

शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए राज्य की सीमाओं को भी सील कर दिया गया है. वहीं एक लाख 90 हजार पुलिसकर्मियों को चुनाव कार्य संपन्न कराने के लिए तैनात किया गया है. केंद्रीय सुरक्षाकर्मियों की 650 कंपनियां और 33 हजार होमगार्ड भी निर्वाचन ड्यूटी में तैनात किए गए हैं. सुरक्षा के इंतजामों के चलते केंद्रीय अर्धसैनिक दल और वेबकास्टिंग के साथ माइक्रो पर्यवेक्षक भी तैनात किए गए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi