S M L

MP Election Results: सिंधिया और कमलनाथ के अलावा भी कांग्रेस के पास हैं कई CM कैंडिडेट

मध्य प्रदेश में मतगणना जारी है. कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला चल रहा है.

Updated On: Dec 11, 2018 12:15 PM IST

FP Staff

0
MP Election Results: सिंधिया और कमलनाथ के अलावा भी कांग्रेस के पास हैं कई CM कैंडिडेट

मध्य प्रदेश में मतगणना जारी है. कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला चल रहा है. इस लड़ाई में अगर बीजेपी जीती तो सीएम शिवराज सिंह चौहान ही होंगे लेकिन अगर कांग्रेस ने बाजी मारी तो मुख्य मुकाबला पार्टी के दो बड़े नेताओं के बीच होगा. वैसे कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा भी कई चेहरे जो सीएम पद की दावेदारी में शामिल हैं.

कमल नाथ

72 साल के कमल नाथ लोक सभा के सबसे वरिष्ठतम सदस्यों में एक हैं. नौ बार छिंदवाड़ा से सांसद रहे हैं. कांग्रेस सरकार में वो कैबिनेट मंत्री रहे हैं. नेहरू-गांधी परिवार के करीबी कमलनाथ पीसीसी अध्यक्ष हैं. उन्हें सबको साथ लेकर चलने वाले नेताओं में गिना जाता है. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का भी समर्थन उनके साथ है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया

ग्वालियर रियासत के ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस के नेता स्व. माधवराव सिंधिया के बेटे हैं. 47 साल के ज्योतिरादित्य गुना से लोक सभा सांसद हैं. उन्हें कांग्रेस के उदीयमान नेताओं में गिना जाता है. यूपीए सरकार के समय वो केंद्रीय मंत्री रहे हैं. मध्य प्रदेश कांग्रेस की कैंपेन कमेटी के प्रमुख सिंधिया ने 115 विधान सभा क्षेत्रों में कैंपेनिंग की. इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं और ग्रास रूट स्तर पर वोटर्स से संपर्क साधा.

कांतिलाल भूरिया

68 साल के कांतिलाल भूरिया पांच बार लोक सभा सांसद रहे हैं. आदिवासी नेता भूरिया का राज्य के आदिवासी इलाकों में खासा असर है. यूपीए सरकार में वो केंद्रीय मंत्री रहे हैं. विधानसभा चुनाव में अपने बेटे और भतीजे को टिकट दिलाने में कामयाब रहे. इससे कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व में उनके असर को समझा जा सकता है. भूरिया का संबंध आदिवासी जिले झाबुआ से है.

अरुण यादव

44 साल के अरुण यादव भी एक नाम हैं, जिन पर नजर रहेगी. दिग्विजय सरकार में उप मुख्यमंत्री सुभाष यादव के वो बेटे हैं. पीसीसी के अध्यक्ष रहे हैं. इसके अलावा, पब्लिक अकाउंट्स कमेटी के सदस्य और यूपीए वन में राज्य मंत्री रहे हैं. इस चुनाव में वो हैवीवेट कैंडिडेट मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ बुधनी से खड़े हुए हैं. ऐसे में पहले उन्हें अपनी सीट निकालने का इंतजार करना होगा, उसके बाद आगे बात बढ़ेगी.

Tags: 2018 Madhya Pradesh Assembly Electionajit jogiAmit JogiAssembly Election 2018assembly election resultassembly election resultsAssembly Election Results 2018Assembly Election semi-finalassembly electionsassembly elections 2018Assembly resultbhupesh baghelBjpBrijmohan agrawalchhattisgarhChhattisgarh Assembly Elections 2018Congresselection 2018exit pollsExit Polls 2018Exit Polls ResultExit Polls Results 2018lok sabha election 2019Mizoramnarendra modiPoliticsDecoderrajasthanRajasthan assemblyRajasthan Assembly election 2018Raman SinghT. S. Singh DeoTelanganaVasundhara Rajevidhan sabha electionअजीत जोगीअमित जोगीअरुण यादवअशोक गहलोतइलेक्शनएक्जिट पोलकमलनाथकांग्रेसकांतिलाल भूरियाचरणदास महंतचुनावचुनाव 2018छत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018ज्योतिरादित्य सिंधियाटीएस सिंहदेवतम्रध्वज साहूत्रिभुवनेश्वर शरण सिंहदेवब्रजमोहन अग्रवालभूपेश बघेलमध्यप्रदेशरमन सिंहराजस्थानराजस्थान विधानसभा चुनाव 2018विधानसभा चुनाव 2018सचिन पायलट
0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi