S M L

MP: अब गौपालन संरक्षण बोर्ड के अध्यक्ष को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा

स्वामी अखिलेश्वरानंद सीएम शिवराज सिंह चौहान को खत भी लिखा था जिसमें उन्होंने कहा था 'नर्मदा संरक्षण पैनल में अपना नाम देख कर मुझे हैरानी हुई

Updated On: Jun 13, 2018 10:57 AM IST

FP Staff

0
MP: अब गौपालन संरक्षण बोर्ड के अध्यक्ष को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा

मध्य प्रदेश में गौपालन और संरक्षण बोर्ड के अध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है. जानकारी के मुताबिक इससे पहले स्वामी अखिलेश्वरानंद को नर्मदा संरक्षण पैनल में नियुक्त किया गया था. उनके साथ अन्य पांच धर्मगुरुओं की भी नियुक्ति की गई थी. कहा जा रहा था कि स्वामी अखिलेश्वरानंद नर्मदा संरक्षण पैनल में नियुक्त किए जाने से नाराज थे और वो इस पैनल से हटना चाहते थे. सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नहीं चाहते थे की अखिलेश्वरानंद इस्तीफा दें, क्योंकि उन्हें डर था कि इससे और विवाद खड़ा हो सकता है. ऐसे में मामले को संभालते हुए स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दे दिया गया.

अप्रैल में हुई थी नियुक्ति

दरअसल अप्रैल को नर्मदा संरक्षण पैनल में पांच धर्म गुरुओं की नियुक्ति की गई थी जिसमें कंप्यूटर बाबा (नामदेव त्यागी), पंडित योगेंद्र महंत, भय्यूजी महाराज, स्वामी हरिहरनानंदजी सरस्वती और नरमदानंदजी शामिल थे. बता दें इनमें कंप्यूटर बाबा, पंडित योगेंद्र महंत को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है. बताया जा रहा है कि स्वामी अखिलेश्वरानंद कंप्यूटर बाबा, पंडित योगेंद्र महंत के साथ पैनल का हिस्सा बनना नहीं चाहते थे.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इस मामले में उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान को खत भी लिखा था जिसमें उन्होंने कहा था, 'नर्मदा संरक्षण पैनल में अपना नाम देख कर मुझे हैरानी हुई क्योंकि मुझसे मेरी सहमति नहीं पूछी गई. मुझे 'विवादित' धर्म गुरुओं के साथ पैनल का हिस्सा बनने में आपत्ति है.' बताया जा रहा है कि स्वामी अखिलेश्वरानंद ने ये खत तब लिखा जब उन्हें पता चला कि कंप्यूटर बाबा, पंडित योगेंद्र महंत को राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त है.

इसके बाद स्वामी अखिलेश्वरानंद नर्मदा संरक्षण पैनल की कई बैठकों से नदारद दिखें. वो ऐसी किसी भी बैठक में नहीं जाते थे जहां कंप्यूटर बाबा और पंडित योगेंद्र महंत मौजूद होते थे. इसके बाद 10 जून को किसान सम्मेलन में वह शिवराज सिंह चौहान के साथ मंच पर दिखे और 11 जून को उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दे दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi