S M L

मध्य प्रदेश: चुनाव से ठीक पहले 'गाय' की राजनीति में कूदी कांग्रेस

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने एक रैली के दौरान घोषणा की कि अगर उनकी सरकार बनी तो वे हर पंचायत में गोशाला बनावाएंगे

Updated On: Sep 05, 2018 06:16 PM IST

FP Staff

0
मध्य प्रदेश: चुनाव से ठीक पहले 'गाय' की राजनीति में कूदी कांग्रेस

मध्य प्रदेश में आने वाले महीनों में चुनाव होने वाले हैं. सत्ता और विपक्षी पार्टियों ने पूरा दमखम लगा दिया है. डेढ़ दशक से मध्य प्रदेश की सत्ता से दूर कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए इस बार पूरा दमखम लगा दिया है. कांग्रेस का कहना है कि राज्य में सरकार विरोधी लहर हैं और हमें उसका लाभ मिलेगा. हालांकि पार्टी को सत्ता हथियाने के लिए वर्तमान में सरकार चला रही बीजेपी के रास्ते पर भी चलने से कोई गुरेज नहीं है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने भी गाय की राजनीति करनी शुरू कर दी है.

कांग्रेस के नेता न सिर्फ अपनी रैलियों के दौरान मंदिरों का दौरा कर रहे हैं बल्कि अब उनके हिस्से में गायों की सुरक्षा का मुद्दा भी आ गया है. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने एक रैली के दौरान घोषणा की कि अगर उनकी सरकार बनी तो वे हर पंचायत में गोशाला बनावाएंगे. उन्होंने विदिशा के गंजबासोदा में एक रैली करते हुए कहा कि गायों की अवस्था देखिए... बीजेपी वाले सिर्फ इस मुद्दे पर बात करते हैं लेकिन कुछ करते नहीं. अगर हम सत्ता में आए तो हर पंचायत में गोशाला बनावाएंगे.

गोशाला खोलना सिर्फ एक घोषणा नहीं बल्कि वचन पत्र है

सिर्फ इतना ही नही कमलनाथ ने इसके बाद ट्वीट कर भी कहा कि हर पंचायत में गोशाला खोलना सिर्फ घोषणा नही बल्कि उनका और पार्टी का वचन है. वहीं चुनावी मौसम में कमलनाथ के गाय के मुद्दे को बीजेपी से हथियाने के प्लान पर सत्ताधारी पार्टी भी हरकत में आ गई है.

शिवराज सरकार ने अपने पुरानी घोषणा पर अमल तेज कर दिया है. बीजेपी सरकार ने नर्मदा नदी से लगी पंचायतों में 107 गोशाला बनाने का काम तेज कर दिया है.

राज्य में चुनावी मौसम है. कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुद्दों को हथियाने का दौर चल रहा है. दोनों पार्टियों की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा वोटरों को लुभाकर सत्ता की सीढ़ी चढ़ी जाए. लेकिन इन सब के बीच जरूरी मुद्दे कही गायब होते नजर आ रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi