S M L

MP चुनाव 2018: चुनाव में ताल ठोक रहे हैं देश के पहले मूक-बधिर प्रत्याशी

सतना के रहने वाले सुदीप शुक्ला ने चेन्नई के अलगप्पा विश्विद्यालय से एमएससी (आईटी) की पढ़ाई की है.

Updated On: Oct 23, 2018 08:27 PM IST

FP Staff

0
MP चुनाव 2018: चुनाव में ताल ठोक रहे हैं देश के पहले मूक-बधिर प्रत्याशी
Loading...

भारत में चुनावों की खासियत ये है कि तकरीबन हर चुनाव अपने साथ इतिहास का एक नया अध्याय जोड़ता है. इस बार मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कम से कम एक ऐतिहासिक वजह तो अभी से क्लियर हो गई है. इस बार मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में पहली बार एक मूक-बधिर प्रत्याशी भी चुनावी ताल ठोक रहे हैं.

सुदीप शुक्ला पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं लेकिन चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने अपनी 1 लाख महीने की पगार वाली नौकरी छोड़ दी है. इंडिया टुडे में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक वो सॉफ्टवेयर की नामी कंपनी इंफोसिस में काम कर चुके हैं.

देश में दिव्यांग लोगों के साथ हो रही मुश्किलों के मद्देनजर सुदीप ने अपनी नौकरी छोड़कर राजनीति के जरिए लोगों तक इस मुद्दे पर अपनी बात पहुंचाने का फैसला किया है.

सुदीप के प्रचार को लेकर कई तरीके नायाब तरीके तलाशे जा रहे हैं. इनमें देश के अन्य हिस्सों से दिव्यांग नेताओं को बुलाकर प्रचार कराना भी शामिल है.

मुकबधिरों की आवाज बनने की कोशिश

SUDIP SHUKLA

सतना के रहने वाले सुदीप शुक्ला ने चेन्नई के अलगप्पा विश्विद्यालय से एमएससी (आईटी) की पढ़ाई की है. राजस्थान पत्रिका अखबार की वेबसाइट पर प्रकाशित एक खबर के मुताबिक सुदीप के परिवार में माता-पिता, भाई प्रसून, दो बहनों के अलावा पत्नी दीपमाला हैं. दीपमाला भी मूकबधिर हैं.

सुदीप अच्छी नौकरी करते थे लेकिन राजनीति में उनके आने का उद्देश्य समाज में मूक-बधिर लोगों को समाज में प्रतिष्ठा दिलाने का है.

सुदीप सतना में अपनी गृहविधानसभा से ही चुनाव लड़ने के मूड में हैं. साथ ही उनकी ये भी तमन्ना है कि जिले में आस-पास की विधानसभाओं में भी और मूक-बधिर प्रत्याशी चुनाव लड़ें.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi