S M L

मध्य प्रदेश चुनाव: जयस की चेतावनी, अगर कांग्रेस देगी 15 सीटें, तब होगा गठबंधन

उन्होंने कहा, 'अगर 30 अक्टूबर तक चुनावी गठबंधन पर हमारी कांग्रेस से सहमति नहीं बनी, तो हम आगामी चुनावों में अपने नेताओं को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतारेंगे'

Updated On: Oct 27, 2018 10:17 PM IST

Bhasha

0
मध्य प्रदेश चुनाव: जयस की चेतावनी, अगर कांग्रेस देगी 15 सीटें, तब होगा गठबंधन
Loading...

कांग्रेस से चुनावी गठबंधन की कोशिश में जुटे संगठन जय आदिवासी युवा शक्ति (जयस) ने मध्यप्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल से कम से कम 15 विधानसभा सीटें मांगी हैं. इसके साथ ही, कांग्रेस को अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि वह तीन दिन के भीतर इस प्रस्तावित तालमेल पर फैसला कर ले.

शनिवार को जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा ने इंदौर प्रेस क्लब में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, 'चुनावी गठबंधन के लिए कांग्रेस से हमारी चर्चा जारी है. हम मालवा-निमाड़ अंचल की कम से कम 15 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करना चाहते हैं. हम चाहते हैं कि कांग्रेस इन सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे और हमें समर्थन दे.'

उन्होंने कहा, 'अगर 30 अक्टूबर तक चुनावी गठबंधन पर हमारी कांग्रेस से सहमति नहीं बनी, तो हम आगामी चुनावों में अपने नेताओं को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतारेंगे.' अलावा ने बताया कि वह धार जिले के कुक्षी विधानसभा क्षेत्र से खुद चुनाव लड़ना चाहते हैं और जयस ने चुनावी गठबंधन की चर्चाओं के दौरान कांग्रेस से उसके कब्जे वाली यह सीट भी मांगी है.

चुनाव आयोग में पंजीकृत नहीं है जयस, जीजीपी ने दी चेतावनी

उन्होंने कहा, 'कुक्षी क्षेत्र हमारे संगठन का गढ़ है. इसलिए इस सीट पर हमारा स्वाभाविक दावा है.' गौरतलब है कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनावों में कुक्षी सीट से कांग्रेस उम्मीदवार सुरेंद्र सिंह बघेल 'हनी' ने अपने नजदीकी प्रतिद्वन्द्वी को 42,768 मतों से पराजित किया था.

'अबकी बार, आदिवासी सरकार' का चुनावी नारा देने वाला जयस हालांकि एक राजनीतिक दल के रूप में चुनाव आयोग में अभी पंजीकृत नहीं है. लेकिन उसकी अलग-अलग सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार उतारकर इन्हें समर्थन देने की योजना है. इस बीच, जयस की सहयोगी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) ने इस नए संगठन को आगाह किया है कि वह कांग्रेस से चुनावी तालमेल हर्गिज न करे.

कांग्रेस देती है लॉलीपॉप

समाजवादी पार्टी से चुनावी गठबंधन करने वाली जीजीपी के राष्ट्रीय महासचिव बलबीर सिंह तोमर ने कार्यक्रम में कहा, 'कांग्रेस हम जैसे छोटे सियासी दलों को उसी तरह अपने पास बुलाती है. जैसे छोटे बच्चों को लॉलीपॉप दिखाकर ललचाया जाता है. कांग्रेस छोटे दलों को खत्म करने का षड्यंत्र रच रही है.'

उन्होंने कहा, 'हमने कांग्रेस की चुनावी लॉलीपॉप की तरफ देखना बंद कर दिया है. मैं जयस से भी कहना चाहता हूं कि वह भी कांग्रेस की इस लॉलीपॉप की तरफ न देखे.' तोमर ने कहा, 'हम कांग्रेस के पास (चुनावी गठबंधन की) भीख मांगने नहीं गए थे बल्कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ हमारे पास (चुनावी गठबंधन की) भीख मांगने आए थे. क्योंकि उनकी पार्टी राज्य की सत्ता से पिछले 15 साल से वनवास में है.'

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi