Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

बर्खास्त हो सकते हैं गायत्री प्रजापति, राज्यपाल ने लिखा सीएम अखिलेश को पत्र

गैंग रेप के आरोपी मंत्री प्रजापति के खिलाफ कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है

FP Staff Updated On: Mar 05, 2017 06:39 PM IST

0
बर्खास्त हो सकते हैं गायत्री प्रजापति, राज्यपाल ने लिखा सीएम अखिलेश को पत्र

उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति की गिरफ्तारी के मामले में राज्यपाल राम नाईक बेहद खफा है. उन्होंने सीएम अखिलेश यादव को पत्र लिखकर कहा है कि गैंग रेप के आरोपी मंत्री प्रजापति के खिलाफ कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है.

ऐसे हालात में राज्यपाल के रुख को देखते हुए किसी भी पल गायत्री प्रजापति को मंत्रीमंडल से बर्खास्त किया जा सकता हैं. राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखकर कहा है कि इस प्रकार के मंत्री के कैबिनेट में बने रहने तथा उनके विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं किए जाने से लोकतांत्रिक शुचिता, संवैधानिक मर्यादा के साथ ही साथ संवैधानिक नैतिकता का गंभीर प्रश्न उत्पन्न होता है.

राज्यपाल ने अपने पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के कैबिनेट में बने रहने के औचित्य पर अपने अभिमत से उन्हें शीघ्रातिशीघ्र अवगत कराएं.

नाईक ने कहा है कि मीडिया में आई खबरों के अनुसार, फरार चल रहे उक्त कैबिनेट मंत्री के विदेश भाग जाने की आशंका को देखते हुए गृृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा उनके विरुद्ध न केवल लुक आउट नोटिस जारी किया गया है बल्कि पासपोर्ट प्राधिकारी ने उनका पासपोर्ट भी निलंबित कर दिया है.

तस्वीर: यूपी के राज्यपाल राम नाइक

तस्वीर: यूपी के राज्यपाल राम नाइक

क्या है महिला का आरोप

महिला का आरोप है कि वह प्रजापति से लगभग 3 साल पहले मिली थी. उस समय मंत्री ने उसकी चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर बेहोशी की हालत में उसके साथ रेप किया और उसकी तस्वीरें भी ले ली. महिला ने आरोप लगाते हुए कहा था कि इसके बाद प्रजापति ने उसको कई बार तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल करते हुए रेप किया.

कौन हैं गायत्री प्रजापति?

गायत्री प्रजापति पर भ्रष्टाचार के कई आरोप हैं. उन्हें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त भी किया था. लेकिन बाद में दोबारा शामिल कर लिया. इस वक्त वो समाजवादी पार्टी के टिकट पर अमेठी से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं.

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले ही आचार संहिता उल्लंघन का मामला भी देखने को मिला जब कानपुर से अमेठी ले जाई जा रही 4000 साड़ियों की एक खेप को पुलिस ने पकड़ा. बिल पर भी गायत्री प्रजापति का नाम था. इस मामले में केस दर्ज हुआ है.

साभार: न्यूज़18 हिंदी 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi