S M L

लोकसभा चुनाव 2019: BJP में शामिल हुईं जया प्रदा, रामपुर में आज़म खान को दे सकती हैं चुनौती!

जया प्रदा पूर्व में यूपी के रामपुर सीट से दो बार समाजवादी पार्टी की सांसद रही हैं. उनके लोकसभा चुनावों से ऐन पहले पाला बदलने से माना जा रहा है कि बीजेपी उनको यहां से अपना उम्मीदवार बना सकती है

Updated On: Mar 26, 2019 02:02 PM IST

FP Staff

0
लोकसभा चुनाव 2019: BJP में शामिल हुईं जया प्रदा, रामपुर में आज़म खान को दे सकती हैं चुनौती!

चुनावी मौसम में नेताओं का राजनीतिक पार्टी बदलने का सिलसिला जारी है. इस कड़ी में अब फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा का नाम भी शामिल हो गया है. जया प्रदा मंगलवार को बीजेपी में शामिल हो गईं.

जया प्रदा ने दिल्ली में बीजेपी के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र यादव और अनिल बलूनी की मौजूदगी में पार्टी का दामन थामा. जया प्रदा पूर्व में यूपी के रामपुर सीट से दो बार समाजवादी पार्टी की सांसद रही हैं. उनके लोकसभा चुनावों से ऐन पहले पाला बदलने से माना जा रहा है कि बीजेपी उनको यहां से अपना उम्मीदवार बना सकती है.

रामपुर के मौजूदा सांसद नेपाल सिंह के अस्वस्थ रहने और उम्र अधिक होने से उनकी जगह इस बार किसी अन्य को टिकट दिए जाने पर काफी वक्त से मंथन चल रहा है.

दरअसल बीजेपी समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान को उनके ही गढ़ रामपुर में ही घेरने के लिए मजबूत उम्मीदवार को उतारने की जुगत में है.  सूत्रों के अनुसार राज्यसभा सांसद अमर सिंह काफी समय से जया प्रदा को बीजेपी में शामिल कर पार्टी पर उन्हें चुनाव लड़वाने का दबाव बना रहे थे. बीजेपी नेतृत्व की तरफ से इस संबंध में उन्हें सकारात्मक आश्वासन भी मिल रहा था.

Azam Khan and Jaya Prada

माना जा रहा है कि बीजेपी समाजवादी पार्टी के आज़म खान के खिलाफ जया प्रदा को रामपुर में अपना उम्मीदवार बना सकती है

जया प्रदा का सियासी सफर

दक्षिण भारतीय फिल्मों (मुख्यत: तेलगु) के जरिए हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अपना पांव जमाने वाली जया प्रदा 2004 और 2009 में रामपुर से सांसद रह चुकी हैं. समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में उन्होंने दोनों बार कांग्रेस की बेगम नूर बानो को हराया था.

फिल्म अभिनेता से नेता बने आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामाराव वर्ष 1994 में जया प्रदा को तेलगु देशम पार्टी (TDP) में लेकर आए थे. बाद में जया प्रदा रामाराव का साथ छोड़कर तेलगु देशम के चंद्रबाबू नायडु वाले गुट में शामिल हो गईं थीं.

1996 में जया आंध्र प्रदेश से सबसे पहली बार राज्यसभा पहुंची. मगर बाद में चंद्रबाबू से भी मतभेद होने पर जया प्रदा ने टीडीपी को भी अलविदा कह दिया और समाजवादी पार्टी में शामिल हो गईं थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi