S M L

LJP ने राजनीति में भाषा की मर्यादा बनाए रखने के लिए BJP और RJD को दी नसीहत

एलजेपी सांसद चिराग पासवान ने कहा कि राजनीति में अमर्यादित भाषा के लिए जगह नहीं होनी चाहिए. जो भी नेता अपने विरोधियों के लिए ऐसी भाषा का प्रयोग करते हैं वो गलत है

Updated On: Jan 21, 2019 02:37 PM IST

FP Staff

0
LJP ने राजनीति में भाषा की मर्यादा बनाए रखने के लिए BJP और RJD को दी नसीहत

बीजेपी विधायक साधना सिंह के बीएसपी सुप्रीमो मायावती पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर सियासत तेज हो गई है. विपक्षी पार्टियों के अलावा एनडीए की सहयोगी लोकजन शक्ति पार्टी (एलजेपी) ने भी इसे लेकर बीजेपी को नसीहत दी है.

उन्होंने सोमवार को ट्वीट किया, 'एनडीए के सभी नेताओं से आग्रह करना चाहूंगा कि लोकतंत्र का त्योहार दस्तक देने जा रहा. हम सभी को इसका अपने बीते हुए पांच वर्ष में किए गए विकास कार्यों के साथ स्वागत करना चाहिए. ना कि अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर के. ताकि जनता हमारा आकलन विकास के कार्यों के आधार पर कर सके.'

चिराग ने लिखा, 'पूर्व मुख्यमंत्री मायावती जी के उपर सहयोगी दल की नेत्री ने बेहद शर्मनाक भाषा का प्रयोग किया था जो निंदनीय है. लेकिन कल शाम (रविवार) बीजेपी नेत्री ने इसपर खेद जताया है. किसी भी दल के लोगों को अनुचित भाषा का प्रयोग नहीं करना चाहिए.'

इसके बाद उन्होंने मीसा भारती के केंद्रीय मंत्री राम कृपाल यादव पर हाल में दिए आपत्तिजनक बयान के लिए राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को आड़े हाथों लिया. उन्होंने ट्वीट किया, 'परिवारवाद के कारण राजनीति में आना जरूर आसान होता है परंतु आने के बाद लगातार इसमें अपनी जगह बनानी पड़ती है. जगह बनाते समय अपनों से बड़ों के अनुभव का सम्मान करना भी जरूरी है और भाषा पर नियंत्रण रखना भी जरूरी है.'

चिराग ने इस दौरान लालू यादव पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने रांची जेल में बंद रहने के दौरान ऐसी भाषा सीखी और सबको (अपने परिवार) सिखाई है.

बता दें कि बीते 16 जनवरी को पटना के पास विक्रम में एक जनसभा को संबोधित करते हुए लालू की बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने कहा था, 'जब मुझे पता चला कि राम कृपाल आरजेडी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं, मेरा मन किया कि मैं उनके हाथ काट दूं.'

मीसा ने कहा, 'वो (राम कृपाल यादव) हमारे यहां चारा काटते थे. उनके लिए हमारे मन में बहुत सम्मान था. लेकिन उनके लिए हमारा यह सम्मान तब खत्म हो गया जब उन्होंने सुशील कुमार मोदी से हाथ मिला लिया. उस समय मेरा मन किया था कि उसी चारा काटने वाली मशीन से उनके हाथ काट दूं.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi