S M L

UP में 67 सीटों के लिए 65.5% वोटिंग, उत्तराखंड में पांच बजे तक 68% मतदान

यूपाी में 11 जिलों में 67 सीटों पर मतदान, उत्तराखंड में 69 सीटों पर वोटिंग हो रही है.

| February 16, 2017, 01:31 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Feb 15, 2017

  • 19:56(IST)

     अक्षय मिश्रा

    सीनियर एडिटर फ़र्स्टपोस्ट

    क्या यूपी में भारी मतदान जाहिर तौर पर सत्ता विरोधी लहर की तरफ इशारा करता है?

    उत्तर प्रदेश चुनाव के दूसरे दूसरे चरण की वोटिंग में रिकॉर्ड 66 फीसदी मतदान हुआ. पहले फेज में मतदान का प्रतिशत 2012 के 64.2 से तीन प्रतिशत ज्यादा रहा था.

    सामान्य रूप से यही माना जाता है ज्यादा वोटिंग सत्ता विरोधी लहर में होती है. लेकिन बीते कुछ चुनावों पर गौर कीजिए तो ये साफ होता है कि ज्यादा वोटिंग और चुनाव नतीजों के बीच कोई आपसी संबंध नहीं है. ये सिर्फ ये बताता है कि इस बार वोट देने के लिए ज्यादा लोग बाहर आए. इसका मतलब ये भी है कि पार्टियों ने बूथ लेवल पर ज्यादा मेहनत की है. लेकिन वोट किसी भी तरफ जा सकते हैं

     

  • 19:40(IST)

    उत्तराखंड में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न. कहीं से भी कोई हिंसा की खबर नहीं. - चुनाव आयोग

  • 19:30(IST)

    चुनाव प्रचार की लिस्ट में नाम न होने पर अभिनेता और बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि उन्हें नाम न होने पर आश्चर्य है...

  • 19:20(IST)

    उत्तराखंड में शाम 5 बजे तक 68 फीसदी मतदान

  • 18:23(IST)
  • 18:11(IST)

    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का अखिलेश पर निशाना

    " अखिलेश जी ने एक ही जाति के लोगों को 80 प्रतिशत नौकरी दी है."

  • 17:46(IST)

    लखनऊ में  देवरानी अपर्णा यादव के लिये डिंपल यादव की जनसभा

  • 17:42(IST)

    लखनऊ में मुलायम सिंह ने कहा- 'बाबरी मस्जिद की सुरक्षा करना हमारा कर्तव्य था और कारसेवकों पर गोली चलवाने के लिए हमें मजबूर किया गया.' 

  • 17:42(IST)

    उत्तराखंड में शाम 5 बजे तक 68 फीसदी मतदान

  • 17:22(IST)

    दूसरे चरण की 11 जिलों की 67 सीटों के लिए वोटिंग शाम 5 बजे खत्म हो गई. इसी के साथ 721 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला भी ईवीएम में बंद हो गया. अब शाम 6 बजे तक उन्हीं लोगों को वोट डालने दिया जाएगा जो मतदान केंद्र के अंदर हैं. यूपी में शाम 4 बजे तक 60 प्रतिशत मतदान.

  • 16:34(IST)

    दांव पर दिग्गज

    उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में इस बार मुख्यमंत्री हरीश रावत दो जगह से चुनाव लड़ रहे हैं. हरिद्वार जिले की हरिद्वार ग्रामीण और ऊधम सिंह नगर की किच्छा सीट से खड़े हुए हैं. दोनों सीटों पर सबकी नजर रहेगी. जबकि बीजेपी के हरक सिंह रावत कोटद्वार से खड़े हुए हैं और सतपाल महाराज चौबट्टाखाल से ताल ठोंक रहे हैं. ऐसे में ये सीटें बीजेपी के लिये प्रतिष्ठा का सवाल हैं.

  • 16:27(IST)

    बाराबंकी की रैली में राहुल गांधी की रैली 

    "दो युवा मिले हैं तो युवाओं के लिये काम करेंगे, आपसे 15 लाख के झूठे वादे नहीं करने आए हैं"

  • 16:26(IST)
  • 16:23(IST)

    उत्तराखंड चुनाव में करोड़पति और दागी उम्मीदवारों की भरमार

    एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तराखंड चुनाव में 136 उम्मीदवार करोड़पति हैं. सबसे ज्यादा 52 करोड़पति उम्मीदवार कांग्रेस के हैं. जबकि बीजेपी के 48, बसपा के 19, सपा के चार, यूकेडी के 13 के अलावा 53 निर्दलीय उम्मीदवार भी करोड़पतियों की फेहरिस्त में शामिल हैं.

  • 16:22(IST)

    उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिये मतदान जारी है. इस बार 13 जिलों की विधानसभा की कुल 70 सीटों की जगह 69 सीटों पर चुनाव हो रहा है. कर्णप्रयाग में बीएसपी उम्मीदवार कुलदीप कनवासी की सड़क दुर्घटना में मृत्यु की वजह से इस सीट पर मतदान रोक दिया गया है जो कि 9 मार्च को होगा. 

    इस बार चुनाव में कुल 637 उम्मीदवार उतरे हैं. बीजेपी और कांग्रेस ने सभी 70 सीटों के लिये अपने उम्मीदवार उतारे हैं जबकि बीएसपी ने 69 और यूकेडी ने 55 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं जबकि समाजवादी पार्टी ने 21 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं.

  • 16:19(IST)

    चाय के ठेलों से लेकर पार्टियों के वॉर रूम तक चुनाव की पहेली लोग अक्सर परंपरागत सोच की चौहद्दी में रहकर सुलझाते हैं. ये तरीका बहुत गलत भी नहीं साबित हुआ है. लेकिन 2017 के यूपी चुनाव पर एक सरसरी नजर भी डालें तो इसमें कोई शुब्हा नहीं रह जाता कि लोकतंत्र के पेड़ के पुराने पत्ते झड़ रहे हैं.

    विस्तार से पढ़ें : यूपी चुनाव 2017: वोट और सोच हर तरफ बदल रहे हैं

  • 16:17(IST)

    फर्स्टपोस्ट ने ‘गूगल के पार’ नाम से एक विशेष सीरीज शुरू की गई है. एक्जीक्यूटिव एडिटर अजय सिंह अपने लंबे अनुभव के साथ उन दिलचस्प घटनाओं का जिक्र कर रहे हैं जिन्होंने देश की सियासत पर असर छोड़ा. अनकही और अनसुनी वो बातें जिनकी आज भी अपनी अहमियत है. देखते रहिए ये विशेष सीरीज़ – गूगल के पार , अजय सिंह के साथ.

  • 16:12(IST)

    नमिता सिंह, देहरादून से

    मतदान के दिन देहरादून के राजपुर रोड पर स्थित कांग्रेस पार्टी का स्टेट ऑफिस बिल्कुल सुनसान है. यहां कांग्रेस के इक्के-दुक्के कार्यकर्ता ही दिख रहे हैं.
    कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ता प्रशांत किशोर की टीम से नाखुश हैं. पीके की टीम उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी के प्रचार की कमान को संभाल रही है. पीके की टीम शहर के दूसरे हिस्से से चुनाव का काम कर रही है. कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की यह शिकायत है कि मतदान के दिन राज्य कार्यालय और पीके की टीम के बीच तालमेल की कमी है. एक कार्यकर्ता ने अपना नाम न बताने की शर्त पर कहा, 'पीके की टीम को पार्टी ऑफिस के काम करना चाहिए था.'  उनके अनुसार मतदान के दिन पार्टी ऑफिस में पार्टी कार्यकर्ताओं की बहुत अधिक भूमिका नहीं होती है.
    मतदान के दिन पार्टी के बड़े नेताओं के चैम्बर भी खाली हैं.   

  • 16:09(IST)

    उत्तराखंड में 69 सीटों पर मतदान जारी, दोपहर 3 बजे तक 53 फीसदी मतदान दर्ज हुआ

  • 16:06(IST)

    श्रीमॉय तालुकदार, सीनियर एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट

    अखिलेश कांग्रेस की चालाकी समझने में बहुत अपरिपक्व हैं: कन्नौज रैली में पीएम मोदी

    ​यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अपरिपक्व और मासूम करार देते हुए पीएम मोदी ने कन्नौज की रैली में पहले से गर्म राजनीतिक माहौल को और गर्मा दिया है. अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव यहां से सांसद हैं. 

    पीएम ने काग्रेस पर तंज करते हुए लोगों से ही ये सवाल किया कि आखिर पार्टी ने बीएसपी को लेकर चुप्पी क्यों साध रखी है. उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से पूछा, ‘ मीडिया को राहुल गांधी से पूछना चाहिए कि आखिर उन्होंने कांग्रेस पर चुप्पी क्यों साधी हुई है. आप जानते हैं क्यो? ’ इसके बाद उन्होंने खुद ही इसका जवाब दिया. ‘कांग्रेस का एक पैर हाथी पर है दूसरा साइकिल पर.’

    मोदी ने इशारा किया कि अगर चुनाव बाद अखिलेश किसी मसीबत में होंगे तो कांग्रेस बीएसपी के साथ मिलकर सरकार बनाने में एकबार भी नहीं सोचेगी. उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह कांग्रेस का असली रंग जानते हैं इसी वजह से उन्होंने अखिलेश को फटकार लगाई थी कि वे चालाकी समझ नहीं पा रहे हैं.

    साथ ही पीएम ने 4 मार्च 1984 को मुलायम सिंह की हत्या के प्रयास की भी याद दिलाई. उन्होंने कहा कि अखिलेश इतिहास भूल गए हैं. अखिलेश ने उन ताकतों के साथ हाथ मिला लिया है जिनपर उनके पिता पर हमला करवाने का आरोप था.

  • 16:04(IST)

    उत्तराखंड में 69 सीटों पर मतदान जारी, दोपहर 3 बजे तक 53 फीसदी मतदान दर्ज हुआ

  • 16:03(IST)

    उत्तर प्रदेश में 11 जिलों की 67 सीटों पर मतदान जारी

  • 15:56(IST)

    उत्तर प्रदेश में  3 बजे तक दूसरे चरण में 54.27 फीसदी मतदान

  • 15:54(IST)

    यूपी के 11 जिलो की 67 सीटों में दूसरे चरण में मतदान हो रहा है. इनमें 6 जिले मुस्लिम बहुल हैं. साल 2012 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने यहां सबसे ज्यादा 34 सीटें जीती थीं. दूसरे नंबर पर बीएसपी रही थी. लेकिन माना जाता है कि उस वक्त बीजेपी कमजोर थी और इस बार बीजेपी ने खुद को रेस में शामिल किया है. सुबह से दोपहर 3 बजे तक यूपी के इन जिलों में मतदान पचास फीसदी को पार कर चुका है. इसे देखकर लगता है कि इस चरण में भी भारी मतदान हो सकता है.

  • 15:50(IST)

    दोपहर 3 बजे तक यूपी में दूसरे चरण का मतदान

    अमरोहा- 57 फीसदी

    मुरादाबाद-51 फीसदी

    बिजनौर-57.49 फीसदी

    शाहजहांपुर – 51.8 फीसदी

    बरेली – 52 फीसदी

    संभल – 58 फीसदी

    सहारनपुर – 61 फीसदी

    बदायूं – 50 फीसदी

    लखीमपुर खीरी- 55.2 फीसदी

  • 15:47(IST)

    यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में महिलाओं ने आज बरसों पुरानी रवायत तोड़ दी. घर की दहलीज लांघ कर आज इन महिलाओं ने बूथ पर जाकर वोटिंग की. इस गांव में आजादी के बाद से महिलाएं वोटिंग नहीं करती थीं. वहीं संभल में फर्जी वोट डाल रही दो महिलाओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

  • 15:45(IST)

    संजय सिंह, पॉलिटिकल एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट

    उत्तराखंड में मुख्यमंत्रियों की दिलचस्प लड़ाई

    उत्तराखंड विधानसभा चुनाव की जो तस्वीर सामने आ रही है उससे काफी दिलचस्प हालात पैदा हो रहे हैं. वहां के चुनाव में मौजूदा मुख्यमंत्री हरीश रावत एक तरफ खड़े हैं और उन्हें चुनौती देने के लिए प्रतिपक्ष में सभी छह पूर्व मुख्यमंत्री एक साथ खड़े हैं. हरीश रावत कांग्रेस पार्टी से उम्मीदवार हैं जबकि विपक्ष में पूर्व मुख्यमंत्री नित्यानंद स्वामी, भगत सिंह कोश्यारी, एनडी तिवारी, वीसी खंडुरी, रमेश पोखरियाल निशंक और विजय बहुगुणा बीजेपी की तरफ से मोर्चे पर खड़े हैं.     

    मजे की बात ये है कि इन सभी सातों नामों में से सिर्फ एक हरीश रावत ही वो शख्स हैं जो विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. लेकिन उत्तराखंड का ये इतिहास रहा है कि यहां मुख्यमंत्री हमेशा उपर से थोपा गया है. हर बार मुख्यमंत्री एक ऐसा व्यक्ति बना है जिसने चुनाव नहीं जीता है.

    कांग्रेस के दोनों पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी और विजय बहुगुणा का बीजेपी के साथ होना ये तय करता है कि बीजेपी के पास नामी ब्राह्मण और राजपूत चेहरा है. उत्तराखंड की आबादी में मुख्य तौर पर ब्राह्मण और राजपूत जातियों का ही वर्चस्व है.

    सतही तौर पर देखें तो जाति के स्तर बीजेपी ज्यादा मजबूत नजर आती है, जिसमें अच्छी-खासी संख्या में नामी चेहरे और वो सभी चीजें हैं जो एक वोटर का मन बदल सकती है. लेकिन अगर बीजेपी उत्तराखंड में सत्ता में आ जाती है तो उसके सामने सबसे बड़ी मुश्किल वहां अपना नेता चुनने की होगी.    

  • 15:42(IST)

    साल 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर थी. सिर्फ 1 सीट के फर्क ने सरकार का फैसला कर दिया था. इस बार भी कांटे की टक्कर है.

    लेकिन बीजेपी ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पांचों सीट जीत कर जोरदार वापसी की थी.

  • 15:39(IST)

  • 15:37(IST)

    उत्तराखंड में दोपहर 3 बजे तक 53 प्रतिशत मतदान

    सुबह 8 बजे से शुरु हुआ मतदान

    उत्तराखंड में 69 सीटों पर मतदान

UP में 67 सीटों के लिए 65.5% वोटिंग, उत्तराखंड में पांच बजे तक 68% मतदान
0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi