S M L

पश्चिम बंगाल में लेफ्ट का बंद हुआ फेल, जनजीवन रहा सामान्य

वाममोर्चा ने राज्य में पंचायत चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरने के दौरान लोकतंत्र का गला घोंटे जाने का आरोप लगाते हुए उसके विरुद्ध शुक्रवार को बंद का आह्वान किया था

Updated On: Apr 13, 2018 05:04 PM IST

Bhasha

0
पश्चिम बंगाल में लेफ्ट का बंद हुआ फेल, जनजीवन रहा सामान्य

पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को वाम मोर्चे के छह घंटे के बंद का कोई असर नजर नहीं आया और जनजीवन साामन्य रहा. सड़कों पर सार्वजनिक एवं निजी वाहन सामान्य रूप से चलते रहे तथा मेट्रो सेवाएं भी सामान्य रहीं.

वाममोर्चा ने राज्य में पंचायत चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरने के दौरान लोकतंत्र का गला घोंटे जाने का आरोप लगाते हुए उसके विरुद्ध शुक्रवार को बंद का आह्वान किया था.

पूर्व रेलवे के सूत्रों के अनुसार ट्रेन सेवाएं सामान्य रहीं. नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के सूत्रों के मुताबिक उड़ान सेवाएं भी सामान्य रहीं.

शिक्षण संस्थान खुले रहे. कलकत्ता विश्वविद्यालय में और सीबीएसई की परीक्षाएं भी सामान्य रूप से हुईं. राज्य के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ब्रत्य बसू ने कहा कि स्थिति सामान्य और शांतिपूर्ण है. लोग आम दिन की तरह बाहर निकल रहे हैं. कोई बंद नहीं है. बसु ने अपने विधानसभा क्षेत्र दमदम में सुबह स्थिति का जायजा लिया.

उत्तरी हावड़ा के विधायक और मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने कहा कि आम लोगों की ओर से कोई उत्साह नहीं है क्योंकि वे वाममोर्चा को स्थायी रूप से नकार चुके हैं. लोग एक दिन बर्बाद नहीं करना चाहते हैं.

राज्य सचिवालय के सूत्रों के अनुसार सभी सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति सामान्य रही. राज्य सरकार ने गुरुवार को अपने कर्मचारियों को आज काम पर आने का निर्देश दिया था. उसने एक अधिसूचना में कहा था कि शुक्रवार को कोई आकस्मिक छुट्टी नहीं दी जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi