S M L

कुर्सी के पीछे भिड़े कांग्रेसी, राज्य प्रभारी ने कहा RSS से सीखें अनुशासन में रहना

उन्होंने कहा, 'हां मैं आरएसएस के अनुशासन की तारीफ करता हूं ठीक वैसे ही जैसे पंडित नेहरू ने की थी चीन से युद्ध के समय.

Updated On: Aug 07, 2018 03:38 PM IST

FP Staff

0
कुर्सी के पीछे भिड़े कांग्रेसी, राज्य प्रभारी ने कहा RSS से सीखें अनुशासन में रहना

सोमवार को मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए. इस झगड़े को शांत कराने के बाद कांग्रेस के मध्य प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने कहा कि इस हरकरत से पार्टी लीडरशिप खुश नहीं होगी. इसी के साथ बाबरिया ने कार्यकर्ताओं को सलाह दी कि उन्हें आरएसएस से अनुशासन सीखना चाहिए.

सीडब्लूसी सदस्य हैं बाबरिया

दीपक बाबरिया अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव हैं. हालांकि उन्होंने बाद में कहा कि आरएसएस का उदाहरण देने से कोई नुकसान नहीं होगा. गौरतलब है कि आरएसएस बीजेपी का पितृ संगठन है जो आए दिन उसके अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते रहता है.

दरअसल कांग्रेस नेता ने एक सांगोष्ठी बुलाई थी, जहां तमाम नेताओं के लिए कुर्सियों का इंतजाम किया था. लेकिन सिंधू विक्रम सिंह भंवर बाना के लिए कोई इंतजाम नहीं था. विक्रम सिंह एक शाही परिवार से ताल्लुक रखते हैं और आगामी चुनावों में पार्टी से टिकट की मांग भी कर रहे हैं.

एनडीटीवी के मुताबिक मेहमूद कामिल ने जिला प्रभारी से कहा कि अन्य नेताओं के लिए कुर्सियों का इंतजाम था लेकिन ऐसा कोई इंतजाम विक्रम सिंह के लिए नहीं किया गया. इसके बाद कई और कार्यकर्ता कामिल के समर्थन में आ गए और इस बातचीत ने हिंसक रूप ले लिया. इसके बाद कार्यकर्ताओं में धक्का मुक्की शुरू हो गई. इसके बात वरिष्ठ नेता बाबरिया ने कार्यकर्ताओं के बीच हो रहे झगड़े को सुलझाया और इसी दौरान उन्होंने आरएसएस से संबंधित बयान दिया.

नेहरू की तरह मैनें भी तारीफ की

जब मीडिया ने उनसे बयान पर सफाई मांगी तो उन्होंने कहा, 'हां मैं आरएसएस के अनुशासन की तारीफ करता हूं ठीक वैसे ही जैसे पंडित नेहरू ने की थी चीन से युद्ध के समय. अगर किसी संगठन में कुछ अच्छा है तो उसकी तारीफ करने में कुछ गलत नहीं है.' उन्होंने कहा, 'जहां कॉम्पटिशन ज्यादा होता है वहां ऐसे हादसे होते हैं लेकिन मुझे यकीन है कि यह लोग खुद को अनुशासन में रखना जानते हैं.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi