S M L

बेटों के बीच झगड़ा सुलझाएंगे लालू यादव, तेजस्‍वी से आज करेंगे बैठक

आरजेडी सूत्रों के अनुसार लालू ने बेटी मीसा भारती को भी मिलने का संदेश भिजवाया है. लालू की कोशिश है कि अगले साल लोकसभा चुनाव और उसके अगले साल बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी मजबूत रहे

Updated On: Sep 29, 2018 11:30 AM IST

FP Staff

0
बेटों के बीच झगड़ा सुलझाएंगे लालू यादव, तेजस्‍वी से आज करेंगे बैठक

बहुचर्चित चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू यादव इन दिनों रांची के इंस्टीट्यूट्स ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में भर्ती हैं. मगर पिता के तौर पर वो इन दिनों चिंतित नजर आ रहे हैं. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू यादव अपने छोटे बेटे और विधानसभा में नेता विपक्ष तेजस्वी यादव से आज यानी शनिवार को मुलाकात करेंगे. यह मुलाकात तेजस्वी और उनके बड़े भाई तेज प्रताप के बीच आ रही खटपट की खबरों के बीच होगी.

आरजेडी सूत्रों के अनुसार लालू यादव ने बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती को भी मिलने का संदेश भिजवाया है. लालू की कोशिश है कि अगले साल लोकसभा चुनाव और उसके अगले साल बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी मजबूत रहे. उन्हें मालूम है कि दोनों बेटों के बीच की खाई आरजेडी में बिखराव पैदा कर सकती है.

लालू न सिर्फ पारिवारिक मसलों पर बात करेंगे, बल्कि 2019 लोकसभा चुनाव की रणनीति पर भी चर्चा करेंगे. माना जा रहा है कि टिकट बंटवारे को लेकर भी लालू अपने बेटों को सलाह देंगे. पार्टी के कई वरिष्ठ नेता लालू के संपर्क में हैं और लगातार रांची का चक्कर लगाते रहे हैं.

छोटे भाई तेजस्वी यादव को मुकुट पहनाते हुए तेज प्रताप

छोटे भाई तेजस्वी यादव को मुकुट पहनाते हुए तेज प्रताप

कई मौकों पर तेज प्रताप जता चुके हैं अपना विरोध

पिछले साल 27 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में हुई आरजेडी की रैली में तेज प्रताप ने खुद को कृष्ण बताते हुए छोटे भाई तेजस्वी का सारथी बनने की घोषणा की थी. ये तेज प्रताप के फेमस शंखनाद के बीच हुआ. लेकिन जैसे-जैसे तेजस्वी ने पार्टी और सांगठन से जुड़े फैसले लेने शुरू किए, तेज प्रताप की नाराजगी कई मौकों पर उभरकर सामने आ गई.

पहला बड़ा मामला तेज प्रताप के चहेते नेता राजेंद्र पासवान को पार्टी में ओहदा नहीं बढ़ाने पर सामने आया. जब ऐसा नहीं हुआ तो तेज ने ट्वीट कर लिखा, 'हम अर्जुन को हस्तिनापुर की गद्दी सौंप कर खुद द्वारका जाना चाहते हैं.'

बीते 5 जुलाई को आरजेडी की स्थापना दिवस पर तेज प्रताप ने कई वरिष्ठ नेताओं को सार्वजनिक तौर पर झिड़की दी थी और कहा था, जब तेजस्वी दिल्ली जाएगा तो यहां बागडोर हम ही संभालेंगे.

इतना ही नहीं पिछले महीने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर हुई पार्टी की बैठक में तेज प्रताप नहीं पहुंचे और जहां बैठक थी, वहीं अपनी गाड़ी पार्क कर लापता हो गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi