S M L

होटल के बदले जमीन घोटाला: CBI के सामने पेश नहीं होंगे लालू, तेजस्वी

सीबीआई ने लालू को 11 सितंबर और तेजस्वी को 12 सितंबर को हाजिर होने का समन भेजा था

Updated On: Sep 11, 2017 02:41 PM IST

Bhasha

0
होटल के बदले जमीन घोटाला: CBI के सामने पेश नहीं होंगे लालू, तेजस्वी

आईआरसीटीसी के दो होटलों के देखभाल की जिम्मेदारी एक प्राइवेट फर्म को देने को लेकर हुई कथित गड़बड़ियों के मामले में लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव सीबीआई के सामने पेश नहीं होंगे.

सूत्रों ने बताया कि लालू ने रांची की अदालत में अपने खिलाफ चल रहे मुकदमे की सुनवाई के कारण जबकि तेजस्वी ने अपने पूर्व निर्धारित राजनीतिक व्यस्तताओं की वजह से सीबीआई द्वारा तय तारीख पर पेश होने को लेकर असमर्थता जताई है. सीबीआई ने लालू को 11 सितंबर और तेजस्वी को 12 सितंबर को हाजिर होने का समन भेजा था.

सीबीआई के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा, ‘हम ताजा समन की नई तारीख तय करेंगे.’ सीबीआई सूत्रों ने बताया कि आरजेडी प्रमुख को पूछताछ के लिए सोमवार (11 सितंबर) जबकि तेजस्वी को मंगलवार (12 सितंबर) को सीबीआई मुख्यालय में पेश होना था.

आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू प्रसाद यादव ने रेलवे के दो होटलों बीएनआर रांची और पुरी की देखभाल की जिम्मेदारी विनय और विजय कोचर के मालिकाना हक वाली कंपनी सुजाता होटल को सौंपी. इसके बदले में लालू ने एक बेनामी कंपनी के जरिए तीन एकड़ महंगी जमीन हासिल की.

एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि लालू ने अवैध तरीके से कोचर बंधुओं को लाभ पहुंचाने के लिए रेल मंत्री के अपने पद का दुरूपयोग किया. इसके बदले डिलाइट नामक बेनामी कंपनी के जरिए से ‘महंगी जमीन’ ली. उन्होंने बेइमानी और फर्जीवाड़ा कर के बीएनआर रांची और पुरी के देखभाल का जिम्मा कोचर बंधुओं को सौंपा.

सीबीआई ने इस संबंध में लालू, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी यादव और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

एफआईआर में सुजाता होटल के निदेशक और चाणक्य होटल के मालिक विजय कोचर और विनय कोचर, डिलाइट मार्केटिंग कंपनी और तत्कालीन प्रबंधक निदेशक पी. के. गोयल भी आरोपी हैं. डिलाइट का नाम बदलकर अब लारा प्रोजेक्ट्स हो गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi