विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

लालू प्रसाद यादव और उनकी सात लक्ष्मियां

सबसे छोटी बेटी राजलक्ष्मी के जन्म के बाद से धन की देवी लक्ष्मी का लालू यादव को भरपूर आशीर्वाद मिलता रहा है

Kanhaiya Bhelari Kanhaiya Bhelari Updated On: May 24, 2017 09:40 AM IST

0
लालू प्रसाद यादव और उनकी सात लक्ष्मियां

'हस्त रेखाएं राज करने का योग बता रही हैं. इसीलिए एक प्रकांड पंडित की सलाह पर मैंने अपनी बेटी का नाम राजलक्ष्मी रखा है.'

यह बात कहकर सीएम लालू प्रसाद ने अपने तन पर ओढ़े हुए चादर को हाथ में लिया, फिर अपनी दाहिनी कानी उंगली में पहनी हुई अंगूठी को बाहर निकालकर उसके छोटे से छेद में उस चादर को घुसाकर सेकेंडों में आर-पार कर दिया.

उसके बाद मुस्कुराते हुए गर्व से कहा 'बांग्लादेश का पसमीना है. एक लाख रुपए का है. बेटी की छठी के शुभ अवसर पर एक मित्र ने उपहार दिया है.' बड़ी ही साफगोई से लालू प्रसाद ने हम पत्रकारों को ये बताया था.

लालू प्रसाद यादव की सातवीं  बेटी राजलक्ष्मी यादव

राजलक्ष्मी यादव लालू प्रसाद की नौवीं और अंतिम संतान है जो उनके सीएम बनने के कुछ दिन बाद पैदा हुई थी. तब गरीबों के ‘मसीहा’ और गुदड़ी के लाल, लालू प्रसाद ने अपने भाई के चपरासी क्वाटर को छोड़कर सीएम आवास में रहना शुरू कर दिया था.

बेटी की छठी समारोह के अवसर पर पूरी सरकार मेहमानों की खिदमत के लिए एक पैर पर खड़ी थी. नन्ही-मुन्नी राजलक्ष्मी को उपहार में करोड़ों रुपए का चढ़ावा मिला, जिसमें, मुंहा-मुंही चर्चा पर विश्वास करें तो, 66 सोने की मालाएं भी शामिल थीं. सबकी जुबान पर एक ही बात-‘घर में लक्ष्मी पैदा हुई है तो धन की वर्षा होना स्वभाविक है’.

राजलक्ष्मी के विवाह से लालू और मुलायम बने समधी

लालू प्रसाद का कुटुंब आज भी दावा करते नहीं थकता कि जिस दिन से राजलक्ष्मी के पैर राबड़ी देवी की गोद में पड़े, उसी दिन से धन की घनघोर बरसात शुरू हो गई. वो आगे कहते हैं कि ‘ऐसा प्रतीत होता है मानो लालू प्रसाद जी के घर में रुपए का घड़ा फूट गया हो.’

बहरहाल, लालू प्रसाद की पुत्रियों को धन संकट का सामना कतई व कभी नहीं करना पड़ा है. धन की देवी लक्ष्मी का उन्हें भरपूर आर्शीवाद मिलता रहा है. 27 जनवरी 2015 को राजलक्ष्मी की शादी मुलायम सिंह यादव के विस्तारित परिवार में उनके पोते तेज प्रताप यादव से हो गई.

लालू की सबसे छोटी बेटी की शादी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शरीक हुए थे (फोटो: फेसबुक)

लालू की सबसे छोटी बेटी की शादी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शरीक हुए थे (फोटो: फेसबुक)

तेज प्रताप अभी मैनपुरी से समाजवादी पार्टी के सांसद हैं. राजा-रानी के बच्चों की वेडिंग सेरेमनी पर कितना खर्च होता है इसका आकलन करना बेवकूफी के अलावा और कुछ नहीं है.

लालू से नाराज चल रहे उनके तीन सालों में से एक ने चुटकी लेते हुए कहा ‘नट सेल में यही समझिए कि आपके कपार में जितना बाल है उतना करोड़ टका मेरी भगिनी राजलक्ष्मी के मैरज पर खर्च हुआ है.’

लालू प्रसाद को कुल सात बेटियां हैं. बड़ी बेटी का जन्म 1975 में हुआ था जब राजद अध्यक्ष मेनटेनेन्स ऑफ इनटरनल सिक्योरिटी एक्ट, मीसा, के अंतर्गत जेल में बंद थे. उनके साथ वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय भी इमरजेंसी के समय पटना जेल में कैद थे.

लालू प्रसाद की सबसे बड़ी बेटी मीसा 

लालू प्रसाद ने एक बार खुलासा किया था कि राय की सलाह पर ही उन्होंने बेटी का नाम मीसा भारती रखा था. लालू प्रसाद जब सीएम बने तो टिस्को कोटा से मीसा का नामांकन एमजीएम मेडिकल कॉलेज जमशेदपुर में करवा दिया.

नियम को ट्विस्ट करके उसका स्थानांतरण पटना मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल करवाने के बाद सीएम लालू प्रसाद ने मीसा भारती को एमबीबीएस की परीक्षा में टाॅप भी करा दिया. उस समय बीजेपी ने आरोप लगाया था कि बेटी को टाॅप कराने के लिए लालू प्रसाद ने अपने पद और पोजीशन का मिस यूज किया है.

मीसा भारती की शादी 1999 में बिहटा निवासी शैलेश कुमार यादव के साथ काफी धूम-धाम से सीएम आवास पटना से हुई. शैलेश इनफोसिस में कंप्यूटर इंजीनियर थे. राजकुमारी की शैली में जीवन यापन करने की आदी मीसा बहुत कम ही अपने पिया के घर पर रही. माता-पिता की इच्छा के खिलाफ मीसा ने अपने पति शैलेश को भी घर-जमाई बना कर सीएम आवास में ही रहने को विवश कर दिया.

मीसा के कहने पर ही लालू प्रसाद ने अपने तीनों सालों के लिए घर का दरवाजा बंद किया था. सत्ता तक पहुंच रखने वालों ने देखा है कि ताकतवर होती जा रही मीसा शादी के बाद अपनी मां एवं सीएम राबड़ी देबी की अन-ऑफिशियल पीए के रूप में काम करने लगी.

जयप्रकाश नारायण के साथ लालू प्रसाद यादव (फोटो: फेसबुक)

जयप्रकाश नारायण के साथ लालू प्रसाद यादव (फोटो: फेसबुक)

कहते हैं कि चारा घोटाले में जब जब लालू प्रसाद जेल में रहे तब सीएम का सारा महत्वपूर्ण एसाइनमेंट मीसा ही डील करती रही. 2004 में लालू प्रसाद जब केंद्र की मनमोहन सिंह सरकार में रेल मंत्री बने तो मीसा अपने पतिदेव के साथ दिल्ली शिफ्ट हो गईं.

वो मीसा भारती जो पिता से भी नहीं हारती 

लालू प्रसाद को भी एक विश्वासी शख्स की सख्त जरूरत थी. बेटी और दामाद से बेहतर भरोसेमंद और कौन हो सकता था. हालांकि ऐसी भी चर्चा रही है कि न चाहते हुए भी लालू प्रसाद बेटी को अपने साथ रखने के लिए मजबूर थे क्योंकि बेहद महत्वाकांक्षी मीसा अपने पिता की सारी कमजारियों से वाकिफ थी.

लालू के एक कट्टर भक्त और पूर्व सांसद ने बताया ‘2014 लोकसभा चुनाव में राजद ने पाटलीपुत्र संसदीय क्षेत्र से रामकृपाल यादव को उम्मीदवार लगभग फाइनल कर लिया था लेकिन मीसा ने लालू प्रसाद के सामने अड़ कर अंतिम समय में टिकट ले लिया.’

लालू प्रसाद यादव की इच्छा थी कि 2016 राज्यसभा चुनाव में राबड़ी देवी को उम्मीदवार बनाएं ताकि दिल्ली लुटियन जोन में रहने को एक बड़ा बंगला मिल जाए जो पूर्व मुख्यमंत्रियों को संसद में जाने पर मिलता है.

पहली बार के सांसदों को छोटे मकानों से काम चलाना पड़ता है. मीसा ने विद्रोह का बिगुल फूंक दिया. अपुष्ट खबरों के अनुसार सीएम नीतीश कुमार ने भी मीसा को समझाने का प्रयास किया लेकिन फेल हो गए. ऐसी स्थिति में लालू प्रसाद के पास मीसा को राज्यसभा सदस्य बनाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बच गया था.

मीसा भारती (फोटो: फेसबुक)

मीसा भारती (फोटो: फेसबुक)

2014 में चुनाव आयोग को दी गई रिपार्ट के अनुसार मीसा भारती 5 करोड़ रुपए की मालकिन हैं. वैसे इनकम टैक्स विभाग द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे डॉक्यूमेंट के अनुसार मीसा भारती के पास 100 करोड़ से उपर की चल अचल प्रापर्टी है.

लालू प्रसाद की दूसरी बेटी रोहणी

लालू कपल की दूसरी बेटी रोहणी हैं जिसकी शादी 2002 में समरेस यादव से हुई थी, जो यूएसए में कम्प्यूटर इंजीनियर हैं. मीसा की तरह रोहणी भी टिस्को कोटे से एम.जी.एम मेडिकल कॉलेज जमशेदपुर से एम.बी.बी.एस पास की हैं. लेकिन डॉक्टर का प्रैक्टिस कभी नहीं की.

पटना के एक मॉल में, जिसमें दो दिन पहले भीषण आग लगी थी, इनके नाम पर घोषित 60 लाख रुपए का फ्लैट है, जिसकी खरीददारी वर्षों पहले हुई थी.

लालू प्रसाद  की तीसरी बेटी चंदा यादव 

लालू प्रसाद ने अपनी तीसरी बेटी चंदा यादव की शादी 2006 में दिल्ली में की थी जब वे केंद्र में मंत्री थे.

चंदा के पति विक्रम सिंह एअर इंडिया में पायलट की नौकरी करते हैं. चंदा के नाम पर पटना और दिल्ली में अरबों रुपए की संपत्ति है जिसका खुलासा बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी द्वारा पुख्ता प्रमाण के साथ हाल ही में किया गया है.

लालू प्रसाद की चौथी बेटी रागिनी  यादव

चौथी  बेटी रागिनी यादव पर भी लक्ष्मी की कृपा रही है. बीआईटी मेसरा, रांची में इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में ही छोड़कर पापा के पास दिल्ली लौट आई थीं. लालू प्रसाद यादव उस समय मंत्री थे. आने के बाद रागिनी एल.आई.सी की एजेंट बन गईं और कहा जाता है कि उनका काम इतना अच्छा था कि उन्हें करोड़ों रुपए का कमीशन पहले ही साल में मिला.

रागिनी की भी शादी जनवरी 2012 में पॉलिटिकल परिवार में जन्मे राहुल सिंह से हुई है. राहुल के पिता जितेंद्र यादव गाजियाबाद से समाजवादी पार्टी के विधायक थे, जो बाद के दौर में कांग्रेस में शामिल हो गए थे.

Young Lalu Yadav

लालू सबसे पहली बार 29 साल की उम्र में सांसद बन गए थे (फोटो: फेसबुक से साभार)

लालू प्रसाद की पांचवीं बेटी हेमा यादव 

पांचवे नंबर की बेटी हेमा यादव की शादी मार्च 2012 में विनीत यादव से हुई. विनीत भी हरियाणा के पॉलिटिकल परिवार से ताल्लुक रखते हैं.

लालू प्रसाद की छठवीं बेटी अनुष्का यादव 

छठवीं बच्ची अनुष्का यादव का विवाह हरियाणा के हुडा सरकार में उर्जा मंत्री रहे कैप्टेन अजय सिंह के पुत्र चिरंजीव राव से अप्रैल 2012 में हुआ. शादी के समय राव हरियाणा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष थे.

सुशील कुमार मोदी आरोप लगाते हैं कि ‘लालू प्रसाद अपनी बेटे बेटियों के नाम पर अरबों रुपए की नाजायज प्रॉपर्टी जमा कर रखी है. जिसको बचाने के लिए पटना में 27 अगस्त को तथाकथित महारैली कर रहे हैं’.

लालू प्रसाद इसका खंडन करते हुए दावा करते हैं कि ‘संपत्ति की खरीद-फरोख्त कानून के दायरे में रहकर की गई है.’ वहीं एक वर्ग ऐसा भी है, जिसमें कई बुद्धिजीवी भी शामिल हैं जिनका मानना है कि ‘एक बंगाली ज्योतिषी ने 30 साल पहले बताया था कि लालू प्रसाद के हाथ और पैर के बीसों उंगली में चक्र का निशान है. वो बाइ बर्थ किंग हैं, धनलक्ष्मी उनकी सेवा में ऑलवेज प्रेजेंट रहेंगी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi