S M L

ममता Vs केंद्र: CBI ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, सबूत नष्ट कर सकती है कोलकाता पुलिस

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर सीबीआई को यह लगता है कि दिल्ली पुलिस सबूत नष्ट कर सकती है तो वह अपने सबूत सुप्रीम कोर्ट के सामने रखे

Updated On: Feb 04, 2019 11:36 AM IST

FP Staff

0
ममता Vs केंद्र: CBI ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, सबूत नष्ट कर सकती है कोलकाता पुलिस

ममता बनर्जी और केंद्र सरकार के बीच की लड़ाई अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. सीबीआई और केंद्र की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीप कोर्ट से कहा कि इस मामले की सुनवाई जल्द से जल्द की जाए. मेहता का दावा था कि कोलकाता पुलिस शारदा चिट फंड मामले से जुड़े सबूतों को नष्ट कर सकती है. इसलिए इस मामले की सुनवाई आज दोपहर 2 बजे तक कर दी जाए.

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को इतना जरूरी ना समझते हुए इसकी सुनवाई 5 फरवरी सुबह 10.30 बजे करने को है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर सीबीआई को यह लगता है कि दिल्ली पुलिस सबूत नष्ट कर सकती है तो वह अपने सबूत सुप्रीम कोर्ट के सामने रखे. कोर्ट ने यह भी कहा कि अगर दिल्ली पुलिस सबूतों को नष्ट करने की कोशिश करती है तो सुप्रीम कोर्ट उनके खिलाफ कुछ ऐसे फैसले लेगा, जिसके बाद कोलकाता पुलिस को अफसोस होगा.

क्या कहा सरकारी वकील ने?

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि रविवार रात जब सीबीआई के ऑफिस को सीज कर लिया गया था. सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर को उनके घर में बंद कर दिया गया था. तुषार मेहता ने कहा, राजीव कुमार को इस मामले में सहयोग करना चाहिए.

क्या राजीव कुमार सुप्रीम कोर्ट आएंगे? 

सीबीआई और राज्य सरकार के बीच की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. कल इस मामले में सुनवाई है. ऐसे में सवाल यह है कि क्या कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार सुप्रीम कोर्ट पहुंचेंगे. असल में जब भी किसी मामले की सुनवाई होती है तो आरोपी को डायरेक्टली कोर्ट में नहीं बुलाते हैं. अब देखना है कि इस मामले में क्या होता है. हालांकि सीबीआई की चार्जशीट में राजीव कुमार का नाम नहीं है.

कौन लड़ेगा किसका केस? 

पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से कांग्रेस के नेता और जानेमाने वकील अभिषेक मनु सिंघवी केस लड़ना चाहते हैं. वहीं सरकार और सीबीआई का पक्ष तुषार मेहता रखेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi