S M L

2019 के पहले दिन सबसे बड़ा इंटरव्यू: किस मुद्दे पर क्या बोले पीएम मोदी, पढ़ें खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल के पहले दिन बड़ा इंटरव्यू दिया. साथ ही साथ हर एक बड़े मुद्दे पर भी खुलकर बात की

Updated On: Jan 02, 2019 09:49 AM IST

FP Staff

0
2019 के पहले दिन सबसे बड़ा इंटरव्यू: किस मुद्दे पर क्या बोले पीएम मोदी, पढ़ें खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल के पहले दिन बड़ा इंटरव्यू दिया. साथ ही साथ हर एक बड़े मुद्दे पर भी खुलकर बात की. न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री राम मंदिर से लेकर नोटबंदी तक से जुड़े सवालों के जवाब दिए. आइए पढ़ें किस-किस मुद्दे पर क्या बोले पीएम मोदी...

राम मंदिर

राम मंदिर पर अध्यादेश के मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा कि जब राम मंदिर मामले में कानूनी प्रकिया पूरी हो जाएगी, उसके बाद ही अध्यादेश पर विचार किया जा सकता है. पीएम ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट में यह मामला थोड़ा धीमा है, क्योंकि कांग्रेस के वकील खलल पैदा कर रहे हैं. बीजेपी के घोषणा-पत्र में भी कहा गया है कि इस मुद्दे का हल संविधान के दायरे में रहकर ही निकल सकता है. अदालती प्रक्रिया खत्म होने दीजिए. जब यह खत्म हो जाएगी, उसके बाद बतौर सरकार हमारी जो भी जवाबदारी होगी, हम उस दिशा में सभी कोशिशें करेंगे.

नोटबंदी

मोदी सरकार अगर सबसे ज्यादा किसी मुद्दे को लेकर विरोधी दलों के निशाने पर रही है, तो उसमें नोटबंदी भी शामिल है. नोटबंदी करने के दो साल बाद पीएम मोदी ने इस मुद्दे पर भी खुलकर अपनी बात कही. उन्होंने कहा, 'नोटबंदी झटका नहीं था. हमने करीब एक साल पहले ही लोगों को इस बात की चेतावनी दे दी थी कि अगर आपके पास ब्लैकमनी है तो आप पर जुर्माना लग सकता है.' हालांकि उन्हें लगा कि दूसरे लोगों की तरह मोदी भी 'स्वैच्छिक' तरीके से लोगों को ब्लैकमनी का खुलासा करने को कहेंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

जीएसटी

पीएम ने कहा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी GST को 'गब्बर सिंह टैक्स कहते हैं.' जो जैसा सोचता है, वो वैसा बोलता है. क्या जीएसटी लागू करने से पहले सभी पार्टियों की राय नहीं ली गई थी? जब प्रणब मुखर्जी फाइनेंस मिनिस्टर थे, तब से GST को लागू करने की प्रक्रिया चल रही थी. उन्होंने कहा कि आगे उनकी योजना कंस्ट्रक्शन से जुड़े मटीरियल को 5 फीसदी के स्लैब में लाने की है.

राफेल डील

बार-बार विपक्ष द्वारा राफेल डील को लेकर किए जाने वाले हमलों के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, उन पर निजी आरोप नहीं है. संसद में हमने इस पर जवाब दिया है. सुप्रीम कोर्ट तक मामला गया है, वहां से भी जवाब मिला है. फ्रांस के राष्‍ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री ने जवाब दिया है. विपक्ष बार-बार आरोप लगाता है तो मुझे हर बार जवाब देने और उस पर उलझने की जरूरत नहीं है.

सर्जिकल स्ट्राइक

मिशन सफल हो या असफल, आप सूर्योदय से पहले वापस लौट आना.' प्रधानमंत्री ने 28 दिसंबर 2016 की रात सर्जिकल स्ट्राइक पर जा रहे जवानों को यह मैसेज भेज कर विदा किया था. इसके बाद भारतीय सेना के स्पेशल फोर्सेस के जवान एलओसी पार कर पाकिस्तान की सीमा में घुस गए. और पीओके में आतंकियों को उनके अड्डों समेत नेस्तनाबूद कर के अगली सुबह के पहल वापस लौट आए. उन्होंने बताया कि वह सैनिकों कि सुरक्षा के बारे में बहुत चिंतित थे. और इसी लिए सर्जिकल स्ट्राइक की तारीख को दो बार बदला भी गया. पीएम मोदी ने कहा कि उरी हमले में भारतीय सैनिकों की शहादत के कारण उनमें और भारतीय सेना में बहुत गुस्सा था. इसी का नतीजा सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में सामने आया.

किसानों की कर्ज माफी

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस ने किसानों को कर्ज माफी का तोहफा दिया था. इस पर पीएम मोदी ने कहा, यह एक झूठ है. इसे मैं लॉलीपॉप कहूंगा. यह एक झूठ है कि वह किसानों का कर्ज माफ कर रही है. सच्चाई यह है कि ऐसा कुछ नहीं होने वाला है. उनके अपने सर्कुलर देखिए. वह लोगों को बरगला रहे हैं.

उर्जित पटेल का इस्तीफा

नए साल के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इंटरव्यू कई मुद्दों पर खुलकर बात की. इसमें हाल ही में इस्तीफा देने वाले RBI के गवर्नर उर्जित पटेल का मुद्दा भी शामिल था. पटेल के इस्तीफे पर पीएम मोदी ने कहा कि उर्जित पटेल ने अपने निजी कारणों की वजह से इस्तीफा दिया था. मैं पहली बार यह खुलासा कर रहा हूं कि उन्होंने यह बात मुझसे 6-7 महीने पहले ही कह दिया था. यहां तक कि उन्होंने यह बात मुझे लिखकर दिया था. उनपर किसी तरह का कोई राजनीतिक दबाव नहीं था. आरबीआई के गवर्नर के तौर पर उन्होंने काफी अच्छा काम किया था.

तीन तलाक

तीन तलाक के मामले पर उन्होंने कहा कि इस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही सरकार अध्यादेश लाई थी. उन्होंने यह बात राम मंदिर के मुद्दे पर अध्यादेश के सवाल पर कही. दरअसल राम मंदिर पर काफी समय से अध्यादेश की मांग उठती रही है, ऐसे में पीएम मोदी ने कहा कि कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही अध्यादेश के बारे में विचार किया जा सकता है.

विधानसभा चुनावों में मिली हार

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में हार पर नरेंद्र मोदी ने कहा, तेलंगाना और मिजोरम में बीजेपी को कभी मौका नहीं मिला था. छत्तीसगढ़ में स्पष्ट जनादेश था. लेकिन बीजेपी हार गई. लेकिन दो राज्यों में हंग असेंबली थी. दूसरी बात यह कि 15 साल के बाद सत्ताविरोधी लहरों की वजह से हमें हार का मुंह देखना पड़ा. हम उन मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं जिनकी वजह से हमें हार का मुंह देखना पड़ा.

मॉब लिंचिंग

पीएम मोदी ने असहिष्‍णुता, मॉब लिंचिंग और गाय के नाम पर होने वाली हिंसा पर कहा कि मॉब लिंचिग की घटना सभ्‍य समाज को शोभा नहीं देती. इनकी कड़ी निंदा होनी चाहिए. उन्‍होंने परोक्ष रूप से गाय का सम्‍मान करने की बात भी कही. पीएम ने कहा कि महात्‍मा गांधी और आचार्य विनोबा भावे ने जो बातें कहीं हैं उनका भी आदर होना चाहिए.

कांग्रेस मुक्त भारत

कांग्रेस मुक्त भारत पर बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, यहां तक कि कांग्रेस से जुड़े लोग भी कहते हैं कि कांग्रेस एक विचार है. एक कल्चर है. जब मैं कांग्रेस मुक्त देश की बात करता हूं तो मेरा मायना इस कल्चर और विचार से होता है. और मेरा यह कहना है कि कांग्रेस को भी इस कल्चर से मुक्त होना चाहिए.

पाकिस्‍तान और चीन से रिश्‍ते

अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन से रिश्तों पर भी प्रधानमंत्री ने अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि एक लड़ाई से पाकिस्‍तान सुधर जाएगा ये सोचना बहुत बड़ी गलती होगी. पाकिस्‍तान को सुधरने में अभी और समय लगेगा. पाकिस्‍तान के साथ संबंधों को लेकर सरकार की क्‍या योजना है इस बारे में मीडिया में नहीं बताया जा सकता. वहीं चीन को लेकर उन्होंने कहा कि भारत को डोकलाम पर उसके जवाब के लिए जाना जाएगा. भारत ने ऐसा कुछ नहीं किया, जिसे धोखा माना जाए. लेकिन हमारी शुरू से स्थिति रही है कि वह पड़ोसियों से दोस्‍ताना रिश्‍ते चाहता है.

भगोड़ों को एक-एक पैसे का हिसाब देना होगा

भगोड़ों पर पीएम मोदी ने कहा, इस सरकार के कार्यकाल के दौरान जो लोग भागे हैं उन्हें हम आज या कल वापस लेकर आएंगे. डिप्लोमैटिक तरीके से, कानूनी तरीके से और उनकी प्रॉपर्टी जब्त करके हम उन्हें वापस लाने की पूरी कोशिश करेंगे. जिन लोगों ने भारत का पैसा चुराया है उन्हें एक-एक पैसे का हिसाब देना होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi