S M L

कश्मीरः विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा से नहीं मिलेगा हुर्रियत

हुर्रियत के मुताबिक ‘जबरन कराई जा रही बातचीत’ को राजनीतिक या नैतिक आधार पर सही नहीं ठहराया जा सकता

Updated On: Nov 06, 2017 12:05 PM IST

Bhasha

0
कश्मीरः विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा से नहीं मिलेगा हुर्रियत

कश्मीर मुद्दे पर केंद्र की ओर से नियुक्त किए जाने के बाद से विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा पहली बार घाटी दौरे पर जा रहे हैं. दौरे से पहले हुर्रियत ने अपना पक्ष सामने रख दिया है.

सैयद अली शाह गिलानी की अगुवाई वाले हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी धडे़ ने सोमवार को दावा किया कि राज्य सरकार के एक अधिकारी ने गिलानी और शर्मा की बैठक कराने को लेकर उनसे संपर्क साधा है. लेकिन उसके नेता केंद्र के प्रतिनिधि शर्मा से मुलाकात नहीं करेंगे.

हुर्रियत के एक प्रवक्ता ने यहां कहा, ‘राज्य के एक प्रतिनिधि ने चार और पांच नवंबर की दरम्यानी रात हुर्रियत अध्यक्ष से मिलने की इच्छा जताई ताकि उनकी बैठक नामित वार्ताकार से कराई जा सके.’

उन्होंने कहा कि हुर्रियत के मुताबिक ‘जबरन कराई जा रही बातचीत’ को राजनीतिक या नैतिक आधार पर सही नहीं ठहराया जा सकता.

प्रवक्ता ने कहा, ‘हम वार्ता की पेशकश खारिज करते हैं. यह महज बयानबाजी और वक्त की बर्बादी है और हुर्रियत या संगठन का कोई भी धड़ा नामित वार्ताकार से न तो मिलेगा और न ही इस बेकार की कवायद में हिस्सा लेगा.’

जानिए कौन हैं कश्मीर पर नियुक्त किए गए विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा

केरल कैडर के 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी दिनेश्वर शर्मा बिहार के गया जिले के पाली गांव के रहने वाले हैं. उन्होंने अपने अभी तक के सेवाकाल में विभिन्न एजेंसियों के साथ 23 साल तक काम किया है.

कूटनीति के मुद्दे पर उन्हें समझदार खिलाड़ी माना जाता है. कम बोलने वाले और मृदु भाषी दिनेश्वर शर्मा लो-प्रोफाइल रहकर अपना काम करते हैं.

आईपीएस सर्विस में आने से पहले दिनेश्वर शर्मा का चयन इंडियन फोरेस्ट सर्विस (आईएफएस) के लिए भी हुआ था. लेकिन जल्दी ही वो आईपीएस में भी सेलेक्ट हो गए.

शर्मा दूसरे जगहों के अलावा काफी समय तक कश्मीर में भी तैनात रहे हैं. उन्हें कश्मीर के सामाजिक और राजनीतिक हालातों की गहरी जानकारी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi