S M L

कर्नाटक चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस के ऑफिस में सन्नाटा, साढे़ तीन बजे तक टली PC!

कर्नाटक की जनता ने इस बार सत्ता में बदलाव के लिए वोट किया है. बीजेपी को बहुमत के पार वोट मिले हैं. इस हार के बाद कांग्रेस के नई दिल्ली के हेडक्वार्टर पर सन्नाटा पसरा हुआ है

Updated On: May 15, 2018 02:10 PM IST

FP Staff

0
कर्नाटक चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस के ऑफिस में सन्नाटा, साढे़ तीन बजे तक टली PC!

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है. कर्नाटक की जनता ने इस बार सत्ता में बदलाव के लिए वोट किया है. बीजेपी को बहुमत के पार वोट मिले हैं. इस हार के बाद कांग्रेस के नई दिल्ली के हेडक्वार्टर पर सन्नाटा पसरा हुआ है.

खबर के मुताबिक, अकबर रोड के कांग्रेस हेडक्वार्टर पर कोई बड़ा नेता नजर नहीं आ रहा. कुछ मीडिया पर्सन को छोड़कर महज कुछ पार्टी कार्यकर्ता ही मौजूद हैं. कांग्रेस ने अपनी हार स्वीकार कर ली है.

लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में गुस्सा और निराशा है. कांग्रेस के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा कि नतीजे निराशाजनक हैं. कांग्रेस ने इन चुनावों में काफी मेहनत की थी. कांग्रेस एंटी इनकम्बेंसी फैक्टर को भेद नहीं पाई. हर हार-जीत का प्रभाव पार्टी और कार्यकर्ताओं पर पड़ता है लेकिन हम इस हार से सबक लेते हुए अगले मध्य प्रदेश राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों की तैयारी करेंगे. राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ से इसकी शुरुआत कर भी दी है.

लेकिन एक सवाल और है. क्या प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी मौजूद होंगे? सूत्रों की मानें तो राहुल इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिस्सा नहीं लेंगे. वो इस वक्त नई दिल्ली के तुगलक लेन के अपने आवास पर हैं. कांग्रेस के बड़े नेता फिलहाल हेडक्वार्टर में इस पूरे आउटकम पर विचार-विमर्श नहीं कर रहे. कांग्रेस दोपहर 2:00 बजे तक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी. पार्टी के प्रवक्ता प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करेंगे.

इस हार के बाद कांग्रेस के नेताओं के बयान भी आने शुरू हो गए हैं. कर्नाटक के मंत्री डी शिवकुमार ने कहा कि राहुल गांधी ने पूरी मेहनत की थी, ये हम स्थानीय नेतृत्व की गलती है कि हम हार गए. हमने सही तैयारी नहीं की, न ही सही रणनीति से लड़े, इसलिए हम हार गए.

कांग्रेस के नेता मोहन प्रकाश ने ईवीएम को मुद्दा खड़ा किया है. उन्होंने कहा कि ईवीएम पर पहले भी सवाल उठते रहे हैं. बीजेपी ने खुद इस पर सवाल खड़े किए हैं. अब अगर सभी पार्टियां ईवीएम पर सवाल उठा रही हैं, तो बीजेपी के बैलट से चुनाव कराने में क्या दिक्कत है?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi