S M L

Karnataka: बुधवार को CM पद की शपथ लेंगे कुमारस्वामी, समारोह में सोनिया, राहुल, ममता समेत कई नेताओं को न्यौता

कर्नाटक में येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम पर आरोप लगाए हैं.

| May 20, 2018, 10:39 AM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

May 19, 2018

  • 20:01(IST)

    एक और चुनावी हार के साथ राहुल गांधी गठबंधन के साथ सत्ता हथियाने वाले नायक के रूप में उभरे हैं...
     

    राहुल गांधी को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नरेंद्र मोदी, अमित शाह और संघ पर डेमोक्रेसी की हत्या के लिए भड़कते देखना बेहद दिलचस्प वाकया था. राहुल गांधी के जीत में उन्मत शब्द, टीवी मीडिया, डिजिटल प्लेटफॉर्म और सोशल मीडिया पर उत्साहजनक कमेंटरी, देखकर कोई भी भूल वश ये समझ सकता है कि कांग्रेस कर्नाटक में पूरी तरह जीती है और बीजेपी बैकडोर से सत्ता तक पहुंचने का प्रयास कर रही है.

    थोड़ी देर के लिए खुद को शांत रखकर सोचना होगा. तथ्य ये है कि कांग्रेस चुनाव में जेडीएस को बीजेपी की बी टीम कहकर लड़ रही थी. लड़ाई उसने दूसरे नंबर पर आकर खत्म की और नतीजे आने के बाद तीसरे नंबर की पार्टी को मुख्यमंत्री पद का न्योता दिया. येदियुरप्पा को सत्ता से बाहर रखने के लिए कांग्रेस ने अपना बेहतरीन प्रयास किया. लेकिन सच्चाई ये कि राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस लगातार दो विधानसभा चुनाव हार चुकी है. गुजरात में जबरदस्त एंटी इंकंबैंसी होने के बावजूद कांग्रेस चुनाव जीतने में नाकाम रही. राहुल गांधी जेडीएस से समझौते के दौरान नदारद थे. नतीजे के दिन जब उन्होंने देखा कि बीजेपी विजेता बनकर उभरी है तो उसके बाद नेपथ्य में चले गए थे. जब तक फ्लोर टेस्ट अपनी आखिरी परिणति में नहीं पहुंचा राहुल गांधी तब तक पीछे ही रहे. जब येदियुरप्पा ने इस्तीफा दे दिया उसके बाद राहुल गांधी लोगों के बीच जीत का क्रेडिट लेने के लिए सामने आए. निश्चित रूप से उन्हें इस बात का क्रेडिट तो मिलना ही चाहिए कि वो हार दर हार के बावजूद मीडिया से मुखातिब होते रहे हैं. लेकिन अगर कर्नाटक के चुनाव नतीजों की बात की जाए तो बहुमत साबित न कर पाने के बावजूद ये भारतीय जनता पार्टी है जो विजेता बनकर उभरी है.

  • 19:59(IST)

    कुमारास्वामी ने बताया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश सीएम चंद्रबाबू नायडू और तेलंगाना सीएम चंद्रशेखर राव ने मुझे बधाई दी है. मायावतीजी ने भी शुभकामनाएं दी हैं. कुमारास्वामी ने कहा कि मैंने सभी क्षेत्रिय नेताओं को शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी को मैंने व्यक्तिगत तौर पर निमंत्रण दिया है.

  • 19:57(IST)

    राज्यपाल से मिलने के बाद एचडी कुमारास्वामी ने कहा कि गवर्नर ने हमें सरकार गठन के लिए आमंत्रित किया है. शपथ ग्रहण समारोह सोमवार को दोपहर 12 बजे से होगा.

  • 19:27(IST)

    जेडीएस नेता एचडी कुमारास्वामी गवर्नर वजुभाई वाला से मिलने के लिए राजभवन पहुंच चुके हैं. कुमारास्वामी सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.

  • 18:53(IST)

    शाम 7.30 बजे जेडीएस नेता कुमारास्वामी राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा करेंगे

  • 18:25(IST)

    राहुल गांधी का यह दावा हास्यास्पद है कि कांग्रेस ने बीजेपी को हराया है. कांग्रेस के लिए ईवीएम तब अच्छी होती है जब वो जीतते हैं लेकिन जब वो कहीं हारते हैं तो उनके लिए ईवीएम बुरी हो जाती है: प्रकाश जावडेकर, बीजेपी

  • 18:22(IST)

    संजय निरूपम के बयान का वीडियो

  • 17:52(IST)

    बीएस येदियुरप्पा ने अपना इस्तीफा गवर्नर वजूभाई वाला को सौंपा.

  • कांग्रेस को बीजेपी की हार और येदियुरप्पा के इस्तीफे से मिलेगा ये 5 फायदा

    जैसा कि पहले से अनुमान था येदियुरप्पा फ्लोर टेस्ट का सामना नहीं करके इस्तीफा दे सकते हैं क्योंकि यह साफ था कि बीजेपी के पास आवश्यक बहुमत नहीं है. उनका विधानसभा में आंसुओं से भरा दिया गया भावुक भाषण और कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर इस्तीफे की घोषणा कांग्रेस कैंप की जीत की खुशी के साथ बिल्कुल अलग दृश्य पेश कर रहा था. भारत की सबसे पुरानी पार्टी को इसलिए माफ किया जा सकता क्योंकि उन्होंने एक बड़ी जीत बहुत मुश्किल से खींचकर यह बड़ी जीत हासिल की है. देर से ही सही पर यह जीत कांग्रेस के लिए जरूरी जीत के रूप में आई. कांग्रेस इस जीत से कुछ सकारात्मक चीजें ले सकती है. पहली, बीजेपी के बाद दूसरे नबंर पर रहने के बावजूद वो कर्नाटक में सरकार में बनी रहेगी. दूसरी, यह काफी अधिक दबाव की स्थिति में भी संगठन और विधायकों को एकजुट बनाए रखने की ताकत के अद्भुत प्रदर्शन को दिखाती है. तीसरी, कम विधायकों के बावजूद कुमारास्वामी को सीएम बनाकर कर्नाटक मॉडल को 2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष की एकता के रूप में दुहराया जा सकता है. चौथी, कांग्रेस ने यह साबित किया कि वो भी राजनीतिक कुशलता दिखाने में बीजेपी के बरअक्स बराबर माहिर है. और अंत में बीजेपी अपने नुकसान की भरपाई करते हुए दिखी. पांचवीं, फ्लोर टेस्ट में कांग्रेस की सफलता ने उसे बीजेपी के ऊपर इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले एक बढ़त दे दी है, जहां कांग्रेस की बीजेपी से सीधी टक्कर होने वाली.

  • 17:45(IST)

    संजय निरूपम से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पीएम मोदी पर सीधा हमला बोला था. राहुल ने कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी विधायकों द्वारा राष्ट्रगान के अपमान की बात उठाते हुए कहा था कि संघ के कार्यकर्ता सिवाय संघ के इस देश में किसी भी दूसरी संस्था की इज्जत नहीं करते हैं. उन्होंने पीएम के बारे में कहा था कि वो भ्रष्टाचार मिटाने की बात करते हैं कि लेकिन अब वो खुद ही भ्रष्टाचार बन चके हैं.

    राहुल के बाद संजय निरूपम के इस बयान बीजेपी खेमे से नाराजगी की खबर आ सकती है. इससे पहले वरिष्ठ बीजेपी नेता अनंत कुमार ने राहुल गांधी के आरोपों का जवाब देते हुए कहा था कि नरेंद्र मोदी ने ऐसी सरकार दी है जो घोटालों से रहित है. उन पर भ्रष्टाचार के आरोप कैसे लगाए जा सकते हैं. अगर राहुल ऐसा ही करते रहे तो लोग सोचेंगे कि वो अपनी मानसिक स्थिति खो चुके हैं

  • 17:40(IST)

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने कर्नाटक के गवर्नर वजूभाई वाला पर विवादित बयान दे दिया है. उन्होंने कहा कि वजूभाई वाला ने वफादारी का नया कीर्तिमान स्थापित किया है. अब शायद हिंदुस्तान का हर आदमी अपने कुत्ते का नाम वजूभाई ही रखेगा क्योंकि इससे ज्यादा वफादार तो कोई हो ही नहीं सकता.

  • 17:35(IST)

    येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद दिल्ली में खुशियां मनाते कांग्रेसी कार्यकर्ता

  • 17:31(IST)

    ये बीजेपी के लिए तगड़ा झटका है और मैं सोचती हूं कि 2019 के लिए उन्होंने जो तैयारी कर रखी थी वो सब फेल हो गई हैं. अब उन्हें दोबारा सोचना होगा और अपनी रणनीति फिर से बनानी होगी: मायावती

  • 17:17(IST)

    वो आखिर पीएम के बारे में क्या बोल रहे हैं? मोदी ऐसे पीएम हैं जिन्होंने बिना घोटालों वाली सरकार दी है. अगर राहुल ऐसे ही आरोप लगाते रहेंगे तो लोग सोचेंगे कि वो अपनी मानसिक स्थिति खो चुके हैं: राहुल गांधी के आरोपों पर अनंत कुमार 

  • 17:03(IST)
  • 17:02(IST)

    मुझे इस बात पर गर्व है कि बीजेपी को हराने के लिए विपक्ष एक हुआ. और हम अगर यूं ही रहे तो आगे भी ऐसा ही करते रहेंगे : राहुल गांधी 

  • 17:00(IST)

    राहुल गांधी का पीएम पर हमला- पीएम सिर्फ आरएसएस का सम्मान करते हैं

  • 16:59(IST)

    संघ इस देश में किसी भी संस्था का सम्मान नहीं करती सिवाय खुद के. अगर बीजेपी पूर्ण बहुमत लाती तो हम उसे सरकार बनाने देते. सच्चाई ये हेै कि उनके पास पूर्ण बहुमत नहीं था. 

  • 16:57(IST)

    हम देश में बीजेपी और संघ को रोकेंगे और जनता की आवाज की रक्षा करेंगे: राहुल गांधी 

  • 16:56(IST)

    पीएम भ्रष्टाचार को खत्म करने की बात करते हैं लेकिन वो इसे और ज्यादा बढ़ा रहे हैं. यहां कि प्रधानमंत्री खुद ही भ्रष्टाचार हैं: राहुल गांधी

  • 16:55(IST)
  • 16:53(IST)

    राहुल गांधी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में ही कर्नाटक के बीजेपी विधायकों पर हमला बोला है. उन्होंने मीडिया से कहा कि क्या आप लोगों ने नोटिस किया कि बीजेपी विधायक सदन में राष्ट्रगान बजने से पहले ही चले गए.

  • AmiteshAmitesh16:45 (IST)

    कर्नाटक में जिस तरह से कांग्रेस ने बीजेपी को सरकार बनाने से रोक दिया है , उसके बाद अब पार्टी की कोशिश इस मोमेंटम को आगे भी बढ़ाने को लेकर है. अब आने वाले दिनों में मध्यप्रदेश, छत्सीगढ़ औ राजस्थान में विधानसभा के चुनाव होने हैं. इन तीनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकारें हैं और तीनों ही राज्यों में सीधी लड़ाई बीजेपी-कांग्रेस के बीच है. ऐसे में कर्नाटक में हार कर भी जीतने वाली कांग्रेस भी अब बढ़े हुए मनोबल के साथ बीजेपी पर हमलावर होगी. दूसरी तरफ, कांग्रेस ने कर्नाटक में छोटी पार्टी को मुख्यमंत्री का पद देकर दूसरे राज्यों में भी संकेत दे दिया है कि वो आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को रोकने के लिए छोटे दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने को तैयार है. यानी बिहार, यूपी के अलावा और भी कई राज्यों में कांग्रेस छोटे क्षेत्रीय दलों की बी टीम बनने को तैयार हो सकती है, क्योंकि उसे मोदी को रोकना है.

  • AmiteshAmitesh16:44 (IST)

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी थोड़ी देर में कांग्रेस मुख्यालय दिल्ली में प्रेस को संबोधित करने वाले हैं. राहुल गांधी के प्रेस कांफ्रेंस से साफ है कि कांग्रेस येदियुरप्पा के इस्तीफे को कर्नाटक में अपनी बड़ी जीत के तौर पर देख रही है. कांग्रेस के हाथों से कर्नाटक की सत्ता निकल गई थी और इस बार चुनाव में वो दूसरे नंबर पर पहुंच गई थी. तीसरे नंबर की पार्टी जेडीएस को समर्थन देने के फैसले के बाद एक बार फिर से कांग्रेस कर्नाटक में मजबूत स्थिति में आ गई है. पहले नंबर की पार्टी बीजेपी को रोकने के मकसद से कांग्रेस ने तीसरे  नंबर की पार्टी जेडीएस के नेता कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार कर लिया है. उत्साहित राहुल गांधी अपने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अब बीजेपी आलाकमान पर निशाना साधने वाले हैं. 

  • 16:44(IST)

    येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार और जेडीएस नेता कुमारास्वामी ने एक साथ हाथ उठाकर एका प्रदर्शित किया

  • 16:42(IST)

    आखिर लोकतंत्र की जीत हुई, कर्नाटक को बधाई. देवेगौड़ा जी, कुमारास्वामी जी, कांग्रेस को बधाई. ये रीजनल फ्रंट की जीत है

  • 16:40(IST)

    अभी ये खबर आई है कि बीएस येदियुरप्पा ने इस्तीफा दे दिया है. क्या आप सब लोग खुश हैं? वो सभी लोग जो लोकतंत्र में भरोसा करते हैं वो खुश हैं: आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्र बाबू नायडू

  • 16:38(IST)

    जब जेडीएस के नेता कुमारास्वामी से पूछा गया कि वो कब सरकार बनाने जा रहे हैं तो उन्होंने जवाब दिया,  'हम गवर्नर के यहां से बुलावे का इंतजार कर रहे हैं'

  • 16:34(IST)

    इस्तीफा देने के बाद येदियुरप्पा अब राजभवन पहुंच चुके हैं.

  • 16:16(IST)
Karnataka: बुधवार को CM पद की शपथ लेंगे कुमारस्वामी, समारोह में सोनिया, राहुल, ममता समेत कई नेताओं को न्यौता

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा को आज यानी शनिवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना होगा. शाम 4 बजे होने वाले फ्लोर टेस्ट के लिए राज्यपाल ने के जी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया है.

कांग्रेस और जेडीएस ने बोपैया को प्रोटेम स्पीकर बनाने पर आपत्ति जताते हुए सुप्रीम कोर्ट में इसके खिलाफ याचिका डाली है. शनिवार सुबह साढ़े 10 बजे सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच जस्टिस सीकरी, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस बोबडे इस मामले की सुनवाई करते हुए याचिका को खारिज कर दी. कोर्ट ने कहा कि वो प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति नहीं कर सकती और न ही इस बारे में राज्यपाल को कोई निर्देश दे सकता है.

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा में 4 बजे होने वाले बहुमत परीक्षण का लाइव टेलीकास्ट करने का निर्देश दिया.

कांग्रेस और जेडीएस ने राज्यपाल वजूभाई बाला के बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता देने के फैसले को अदालत में चुनौती दी है.

इससे पहले गुरुवार को कर्नाटक के राज्यपाल ने बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी, लेकिन वहां राजनीतिक अनिश्चितता अभी भी बनी हुई है.

जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एसके बोबडे और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच ने आदेश दिया था कि बीजेपी ने कर्नाटक में सरकार बनाने का दावा करने के लिए राज्यपाल वजुभाई वाला को विधायकों के समर्थन का जो पत्र दिया है वह उसके समक्ष पेश किया जाए. कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल और येदियुरप्पा से राज्यपाल को बहुमत के समर्थन वाली चिट्ठी पेश करने के निर्देश दिए थे.

येदियुरप्पा को गुरुवार को शपथ दिलाई गई. उनके शपथ से कोई चार घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आधी रात में चली सुनवाई में आदेश दिया था कि येदियुरप्पा शुक्रवार सुबह कोर्ट खुलते ही समर्थक विधायकों की सूची कोर्ट को उपलब्ध कराएं.

हालांकि कर्नाटक का मामला सुप्रीम कोर्ट के इतिहास का ऐसा पहला मामला नहीं है जब शीर्ष अदालत ने आधी रात में अपने दरवाजे खोलते हुए सुनवाई की हो. येदियुरप्पा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ का रास्ता साफ करने वाली इस ऐतिहासिक सुनवाई में वरिष्ठ वकीलों ने कई उदाहरणों का जिक्र किया जब शीर्ष अदालत में आधी रात के बाद भी सुनवाई हुई.

बीजेपी के कुछ विधायकों की ओर से पेश पूर्व अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने 29 जुलाई 2015 के उस दिन को याद किया जब पीठ ने 1993 मुंबई विस्फोट मामले में मौत की सजा पाने वाले दोषी याकूब मेमन की प्रस्तावित फांसी पर रोक लगाने के अनुरोध पर आधी रात के बाद भी विचार किया और यह सुनवाई अगले दिन सुबह छह बजे तक चली.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi