S M L

कर्नाटक चुनाव नतीजे: गोवा से सबक लेकर राहुल ने नेताओं को भेजा बेंगलुरु

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बहुमत से दूर रहने की स्थिति में कांग्रेस जेडीएस को करीब लाने के लिए कई विकल्पों पर काम कर रही है. दलित सीएम का कार्ड ऐसा ही एक विकल्प है

Updated On: May 14, 2018 10:29 PM IST

FP Staff

0
कर्नाटक चुनाव नतीजे: गोवा से सबक लेकर राहुल ने नेताओं को भेजा बेंगलुरु
Loading...

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे आने में बस कुछ घंटे बाकी हैं. कांग्रेस कर्नाटक में उन गलतियों को नहीं दोहराना चाहती, जो उसने मेघालय और गोवा विधानसभा चुनाव बाद की थी. गोवा और मेघालय चुनावों से सबक लेते हुए कांग्रेस ने प्लान B बना लिया है. इसके तहत राहुल गांधी ने कर्नाटक चुनाव नतीजे आने के पहले ही पार्टी के दो सीनियर नेताओं गुलाम नबी आजाद और अशोक गहलोत को बेंगलुरु भेजा है. ताकि, वे सियासी समीकरणों को ठीक से समझ सके.

कर्नाटक में कांग्रेस प्रभारी केसी वेणुगोपाल समेत पांच सचिवों को भी वहां भेजा गया है. एग्जिट पोल में किसी भी पार्टी को बहुमत मिलता नहीं दिख रहा. ऐसे कांग्रेस कोई कोई रिस्क नहीं लेना चाहती. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बहुमत से दूर रहने की स्थिति में कांग्रेस जेडीएस को करीब लाने के लिए कई विकल्पों पर काम कर रही है. दलित सीएम का कार्ड ऐसा ही एक विकल्प है.

राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद इसके पहले कर्नाटक के इंचार्ज रह चुके हैं. पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा के साछ उनके अच्छे रिश्ते हैं. इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें कर्नाटक भेजा है, ताकि वो जेडीएस से सियासी गठजोड़ कर सके.

दरअसल, मेघालय और गोवा में कांग्रेस ने बेहतर प्रदर्शन किया था. लेकिन, ऐन वक्त पर बीजेपी ने बाजी मार ली. दोनों राज्यों में सरकार बनाने के लिए बीजेपी ने प्लान बी पहले से ही तैयार कर लिया था. दोनों विधानसभा चुनावों में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला, तो अन्य पार्टियों के विधायकों को साथ साने के लिए बीजेपी ने अपने सिपहसालारों को संबंधित राज्यों में भेज दिया था. ऐसे में कांग्रेस पीछे रह गई और बीजेपी ने दोनों राज्यों में सरकार बना ली. कांग्रेस अब कर्नाटक में ऐसी गलती नहीं करना चाहती.

राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, इस बार कर्नाटक की लड़ाई काफी अलग है. एग्जिट पोल में बीजेपी और कांग्रेस में कोई भी बहुमत का आंकड़ा (112) पार नहीं कर पा रहा. जेडीएस को 'किंगमेकर' बताया जा रहा है. यानी जेडीएस जिसका साथ देगी, कर्नाटक में उसी की सरकार बनेगी.

क्या है अनुमान?

टाइम्स नाउ-वीएमआर के एग्जिट पोल में कांग्रेस को 97 सीटें, बीजेपी को 94, जेडीएस को 28 और अन्य को 3 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है. वहीं टाइम्स नाउ के लिए टुडेज़ चाणक्य के एग्जिट पोल में बीजेपी को 120, कांग्रेस को 73, जेडीएस को 26 और अन्य को 3 सीटें मिलने का अनुमान है.

इसके अलावा इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया और आजतक के एग्जिट पोल में कांग्रेस को 106 से 118, बीजेपी को 79 से 82, जेडीएस को 22 से 30 और अन्य को 1 से 4 सीटों का अनुमान जताया गया है. वहीं न्यूज एक्स-सीएनएक्स के एग्जिट पोल में कांग्रेस को 72 से 78, बीजेपी को 102 से 110, जेडीएस को 35 से 39 और अन्य को 3 से 5 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है.

एबीपी-सी वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक, कांग्रेस को 88, बीजेपी को 107, जेडीएस को 25 और अन्य को 4 सीटों का अनुमान जताया गया है. जन की बात एग्जिट बोल की बात करें तो इसमें बीजेपी को 105, कांग्रेस को 78, जेडीएस को 37 व अन्य को 2 सीटें मिलने का अनुमान है. वहीं न्यूज नेशन के एग्जिट पोल के मुताबिक, बीजेपी को 107, कांग्रेस को 73, जेडीएस को 38 और अन्य को 4 सीटें मिलती दिख रहीं हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi