S M L

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018: शिमोगा विधानसभा सीट, पिछली हार भुलाना चाहेंगे के एस ईश्वरप्पा

श्वरप्पा बीजेपी सरकार में एक ताकतवर मंत्री थे और कर्नाटक में दो बार पार्टी के अध्यक्ष भी बने थे

FP Staff Updated On: Apr 30, 2018 04:32 PM IST

0
कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018: शिमोगा विधानसभा सीट, पिछली हार भुलाना चाहेंगे के एस ईश्वरप्पा

शिमोंगा विधानसभा सीट बीजेपी के लिए महत्वपूर्ण सीट है. क्योंकि राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री के एस ईश्वरप्पा को यहां से उम्मीदवार बनाया गया है. ईश्वरप्पा बीजेपी सरकार में एक ताकतवर मंत्री थे और कर्नाटक में दो बार पार्टी के अध्यक्ष भी बने थे. इस वक्त ईश्वरप्पा विधान परिषद में विपक्ष के नेता हैं.

यही वजह है कि बीजेपी के सभी स्टार कैंपेनर यहां सभा कर रहे हैं या करनेवाले हैं. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सभा कर चुके हैं. पीएम मोदी की एक जनसभा यहां भी होने जा रही है.

यहां उनके सामने कांग्रेस की ओर से निवर्तमान विधायक केबी प्रसन्नाकुमार ताल ठोक रहे हैं. इसके आलाव जेडीएस की ओर से महिला उम्मीदवार के तौर पर शारदा पूर्य नायक अपना दम दिखा रही हैं. इस विधानसभा सीट में कुल 2,46,564 वोटर हैं. पिछले चुनावों में लगभग 44 प्रतिशत मतदान यहां हुए हैं.

प्रसन्नाकुमार के लिए इस बार मुकाबला कठिन होने जा रहा है. क्योंकि साल 2013 में हुए विधानसभा चुनाव चुनाव उन्होंने मात्र 288 वोटों से चुनाव जीता था. कड़े मुकाबले में उन्होंने केजेपी के एस रुद्रगौड़ा को हराया था. प्रसन्नाकुमार को 39,355 वोट मिले थे, जबकि रुद्रगौड़ा को 39,077 मत मिले थे. वहीं बीजेपी के केएस ईश्वरप्पा तीसरे स्थान पर रहे थे. उन्हें 33,462 वोट मिले थे.

बीते फरवरी में उनका एक बयान ने काफी चर्चा में रहा. उन्होंने कांग्रेस का साथ देने वाले मुसलमानों को हत्यारा और बीजेपी के साथ रहने वालों को अच्छा बताया था. उन्होंने आरोप लगाया है कि राज्य में बीजेपी और आरएसएस के जिन 22 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई, उन्हें कांग्रेस के साथ रहने वाले मुस्लिमों ने मारा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi