S M L

SC/ST के खिलाफ अत्याचारों पर चुप क्यों हैं पीएम: राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक के शिवमोगा में चुटकी लेते हुए कहा कि एक तरफ प्रश्न पत्र लीक हो रहे हैं और दूसरी तरफ चुनाव कार्यक्रम लीक हो रहा है

Bhasha Updated On: Apr 03, 2018 06:45 PM IST

0
SC/ST के खिलाफ अत्याचारों पर चुप क्यों हैं पीएम: राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि वह दलितों और आदिवासियों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों और एससी/एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम को ‘शिथिल’ बनाए जाने जैसे मुद्दों पर ‘एक भी शब्द क्यों नहीं बोल रहे हैं.’

उन्होंने चुनावी राज्य कर्नाटक में अपनी पांचवें चरण की यात्रा के दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही. राहुल ने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम को कथित तौर पर कमजोर किए जाने के खिलाफ सोमवार को हुए प्रदर्शनों के दौरान देश के उत्तरी भाग में हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में यह टिप्पणी की. इस विषय पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ आहूत भारत बंद के दौरान हुए प्रदर्शनों ने देश के कई स्थानों पर हिंसक मोड़ ले लिया. इस वजह से 13 लोगों की जान चली गई और सैकड़ों लोग जख्मी हो गए.

राहुल ने कहा, ‘रोहित वेमुला की हत्या हो जाती है. उना (गुजरात) में दलितों को पीटा जाता है लेकिन प्रधानमंत्री इस पर एक शब्द भी नहीं बोलते हैं. दलितों और आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार के मामलों में वृद्धि हुई है और एससी/एसटी कानून को शिथिल कर दिया गया है. मोदी ने एक भी शब्द नहीं बोला.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने भाषण के दौरान कर्नाटक में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के उन्नयन के लिए किए गए राज्य सरकार के कामों की तुलना मोदी सरकार के इस दिशा में किए गए कार्यों से की. उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार द्वारा इन समुदायों के लोगों के कल्याण के लिए जारी किए गए धन का आधा हिस्सा अकेले कर्नाटक ने खर्च किया है.

 पेपरलीक मामले पर भी पीएम को घेरा

राहुल ने सीबीएसई के प्रश्न पत्र के लीक होने और कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीखों के ‘लीक’ होने को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इन मुद्दों पर भी प्रधानमंत्री चुप रहे. इस मुद्दे पर कटाक्ष करते हुए राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने परीक्षा की तैयारी को लेकर एक किताब (एग्जाम वॉरियर्स) भी लिखी और इस संबंधों में बच्चों को दो घंटे का व्याख्यान भी दिया.

कांग्रेस नेता ने कहा कि बच्चों ने उनके सुझावों को गंभीरता से लिया और अपने माता-पिता की मदद से परीक्षा की तैयारी की लेकिन जब वे परीक्षा देने पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि प्रश्न पत्र के लीक होने के कारण परीक्षा रद्द कर दी गई है.

राहुल ने कहा, ‘मोदी भले ही प्रश्न पत्र लीक को रोकने में विफल रहे हों लेकिन वह बच्चों को परीक्षा की तैयारी के बारे में फिर से व्याख्यान दे सकते हैं और उन्हें बता सकते हैं कि परीक्षा के दौरान क्या करें और क्या ना करें.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने चुटकी लेते हुए कहा कि एक तरफ प्रश्न पत्र लीक हो रहे हैं और दूसरी तरफ चुनाव कार्यक्रम लीक हो रहा है.

उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि आरएसएस ने मोदी को यह सिखाया है कि उन्हें भाषण देने पर अधिक जोर देना चाहिए. आरएसएस ने उन्हें खड़ा होना, लाठी पकड़ना, निकर पहनना और झूठ बोलना सिखाया है. मेरे ख्याल से प्रधानमंत्री को अब इस बात का एहसास हो गया है कि नफरत, लाठी, भाषणों और झूठे वादों से देश नहीं चलाया जा सकता.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ प्रधानमंत्री के झूला झूलने के बावजूद भारत और चीन के बीच जारी डोकलाम विवाद पर भी चुटकी ली. गांधी ने कहा, ‘मोदी और चीन के राष्ट्रपति ने एकसाथ झूला झूला. इसके बाद राष्ट्रपति ने जवाब दिया कि मैंने झूले का मजा लिया अब मैं डोकलाम आ रहा हूं.’ उन्होंने कहा, ‘चीन डोकलाम में सड़क और हवाई अड्डों का निर्माण कर रहा है लेकिन मोदी अब भी झूला ही झूल रहे हैं. 56 इंच के सीने वाले व्यक्ति ने चीन के डोकलाम में प्रवेश पर एक शब्द नहीं बोला.’

राहुल ने बीजेपी की राज्य इकाई के प्रमुख बी एस येदियुरप्पा पर भी जमकर निशाना साधा, जिन्हें पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश किया जा रहा है. शिवमोगा येदियुरप्पा का गृह जिला है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi