S M L

पीएम मोदी को मुझ पर झूठे आरोप नहीं लगाने चाहिए- सिद्धारमैया

कर्नाटक चुनाव से पहले चुनावी रणनीति पर खुलकर बात करते मौजूदा मुख्यमंत्री सिद्दारमैया की CNN-News18 से खास बातचीत

Updated On: Feb 18, 2018 09:17 PM IST

FP Staff

0
पीएम मोदी को मुझ पर झूठे आरोप नहीं लगाने चाहिए- सिद्धारमैया

कर्नाटक विधानसभा चुनावों में कुछ महीने ही बचे है. ऐसे में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान वे पंजाब नेशनल बैंक घोटाले को मुद्दा बनाएंगे. CNN-News18 की दीपा बालकृष्ण से बातचीत के दौरान सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि उनके चुनावी प्रचार में हिंदुत्व का मुद्दा नहीं होगा.

क्या आपको लगता है कि राजनीति में आते हुए आपने जो लक्ष्य निर्धारित किए थे वे हासिल हो गए हैं?

हमारी सरकार के पास विजन है लेकिन हमें एक जीवंत कर्नाटक बनाना है. इसीलिए हमारी सारी ठोस योजनाएं जिन्हें हमने लागू किया है वो सभी कर्नाटक के उत्थान के लिए कारगर साबित हुई है. हमारी सारी योजनाएं जैसे अन्ना भाग्य, खुशी भाग्य, विद्यासिरी हर समाज के गरीब तबके के लिए लाई गई. हमने 2025 के लिए भी अपना विजन तैयार कर लिया है और इसालिए हमें उसी दिशा में आगे बढ़ना है.

जब आपने एक युवा नेता के तौर पर राजनीति में कदम रखा था तब एक अलग सा उत्साह और जोश रहा होगा. क्या आपने अपने उन सभी सपनों को पूरा किया?

जी हां, हमारे सभी युवा नेताओं में समाज के प्रति कमिटमेंट और उत्थान के लिए विचारधारा होनी चाहिए और इसमें कोई कंफ्यूजन नहीं होना चाहिए. जहां तक विचारधारा, उसूलों और योजनाओं की बात है, कमिटमेंट और उसे पूरा करने की स्पष्टता होनी ही चाहिए. इसके बाद ही वो समाज की चुनौतियों का सामना कर सकते है.

बीते कुछ महीनों में आप एक ऐसे नेता के तौर पर उभरे हैं, जो सीधे-सीधे प्रधानमंत्री मोदी से टक्कर लेता है. क्या यह चुनावी रणनीति है? क्या ये चुनाव सिद्दारमैया vs मोदी होने वाला है?

मैं बिना किसी कारण प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार की आलोचना नहीं करता हूं. जब मोदी जी बेंगलुरु आए तो उन्होंने हमारी सरकार के खिलाफ आरोप लगाए जो कि पूरी तरह से आधारहीन और गैर-जिम्मेदाराना थे. इसीलिए मैंने कहा कि एक प्रधानमंत्री के नाते उन्हें इस तरह के झूठे आरोप नहीं लगाने चाहिए और इस तरह से उन्हें एक प्रधानमंत्री के तौर पर आगे रहना भी नहीं चाहिए.

उन्होंने आपको 10% CM कहा...

क्या उनके पास कोई डॉक्यूमेंट है? मोदी और येदियुरप्‍पा में क्या अंतर है? मोदी इस देश के प्रधानमंत्री है. उन्हें इस तरह से येदियुरप्‍पा के लगाए हुए आरोपों को दोहराना नहीं चाहिए. और मोदी, येदियुरप्‍पा की मौजूदगी में इस तरह के बयान दे रहे हैं, वो PM के एकदम साथ बैठे हुए थे, जब येदियुरप्‍पा CM थे तब उन्हें जेल जाना पड़ा था.

क्या आपको इस उनकी इस टिप्पणी से दुख हुआ?

100% आयोग वहां था, मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री वहां थे. किस आधार पर मोदी ने हमारी सरकार को 10% सरकार कहा ? वो भी बिना किसी सबूत और दस्तावेज के .

क्या आप, किसी प्वांइट पर , अपने आप को राष्ट्रीय राजनीति में देख रहे हैं?

नहीं, मुझे राष्ट्रीय राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं है, और ये लोग मुझे राष्ट्रीय नेता बना रहे हैं.

कौन?

ये बीजेपी वाले जबरदस्ती यह सब कर रहे हैं, क्योंकि मुझे राष्ट्रीय राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं है.

क्या आपको लगता है, इन चुनावों के लिए कांग्रेस को औपचारिक तौर पर अपने मुख्यमंत्री उम्मीदवार के लिए आपके नाम की घोषणा कर देनी चाहिए? अभी तक ऐसा क्यों नहीं हुआ?

नहीं, कांग्रेस आलाकमान ने इन चुनावों को मेरे नेतृत्व में लड़ने का फैसला किया है. जहां तक मुख्यमंत्री की बात है तो जब पार्टी को मेजॉरिटी मिलेगी तभी इसके लिए फैसला लिया जाएगा और आलाकमान इसे मंज़ूरी देंगे. यही प्रक्रिया है जो कांग्रेस पार्टी फॉलो कर रही है.

(न्यूज 18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi