विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

जेएनयू विवाद: पुलिस ने कहा, कन्हैया कुमार को नहीं दी क्लीन चिट

कन्हैया कुमार पर राजद्रोह का मामला दर्ज है

FP Staff Updated On: Mar 01, 2017 01:36 PM IST

0
जेएनयू विवाद: पुलिस ने कहा, कन्हैया कुमार को नहीं दी क्लीन चिट

दिल्ली पुलिस ने इस बात से इंकार किया है कि उसने देश विरोधी नारेबाजी के मामले में जेएनयू के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को क्लीन चिट दे दी है.

इससे पहले खबर आई थी कि दिल्ली पुलिस ने जो चार्जशीट तैयार की है, उसमें कहा गया है कि पुलिस ने जांच में इस बात सबूत नहीं जुटा पाई कि कन्हैया ने कैंपस में देश विरोधी नारे लगाए थे.

हालांकि दिल्ली पुलिस का कहना है कि अभी मामले में चार्जशीट तैयार ही नहीं हुई है.

पिछले साल 9 फरवरी को जेएनयू कैंपस में हुए विरोध प्रदर्शन में आरोप लगाया गया था कि कन्हैया कुमार ने देश विरोधी नारे लगाए थे. इसके बाद हुए बवाल ने दिल्ली की सियासत में भूचाल ला दिया था. दिल्ली पुलिस में इस मामले पर एफआईआर भी दर्ज हुई थी.

अब पता चला है जिस आवाज का हवाला देकर ये कहा जा रहा था कि ये कन्हैया कुमार की आवाज है, जो देशविरोधी नारे लगा रहा है. फॉरेसिंक जांच में वो वॉयस सैंपल फेल हो गया.

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने जेएनयू कैंपस में चले विरोध प्रदर्शन में 40 वॉयस सैंपल की जांच की थी. लेकिन कोई भी सैंपल पॉजिटिव नहीं निकला.

हालांकि दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारियों का कहना है कि अभी भी इस मामले के लूप होल्स की जांच चल रही है. अभी तक पुलिस ने चार्ज शीट नहीं फाइल की है. और ये कहना सही नहीं होगा कि इस मामले के आरोपी दोषमुक्त साबित हो गए हैं और उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है.

हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक 9 छात्रों ने कैंपस में देश विरोधी नारे लगाए थे, जिसमें उमर खालिद भी शामिल है. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक नारा लगाने वाले ज्यादातर छात्र कश्मीर के थे और उनका संबंध दूसरे विश्वविद्यालयों से था. इसमें जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र भी शामिल थे.

कन्हैया कुमार को इस मामले में फरवरी 2016 में गिरफ्तार किया गया था. उस पर राजद्रोह का मामला लगा था. कोर्ट में पेशी के दौरान उस पर कुछ लोगों ने हमला भी बोला था.

कन्हैया कुमार जमानत पर है और वो दिल्ली मंगलवार को रामजस कॉलेज में हुए विवाद के बाद गुरमेहर कौर के समर्थन में हुए विरोध प्रदर्शन में भी हिस्सा लिया.

अब सारी निगाहें दिल्ली पुलिस के चार्जशीट पर लगी है. पिछले साल इस मामले पर खूब हंगामा हुआ था. पुलिस के चार्जशीट फाइल होने के बाद इस मामले को लेकर छात्र राजनीति से लेकर दिल्ली की सियासत एक बार फिर गर्म हो सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi