S M L

नई पार्टी का ऐलान कर कमल हासन बोले, जाति-धर्म के खेल से परे होगी हमारी पार्टी

पार्टी का ऐलान करने से पहले हासन रामेश्वरम में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के घर गए

FP Staff Updated On: Feb 22, 2018 08:53 AM IST

0
नई पार्टी का ऐलान कर कमल हासन बोले, जाति-धर्म के खेल से परे होगी हमारी पार्टी

अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने अपनी पार्टी ‘मक्कल नीधि मय्यम’ की धूम धड़ाके के साथ शुरुआत की. उन्होंने पार्टी का झंडा भी पेश किया. ‘मक्कल नीधि मय्यम’ के मुताबिक पार्टी का झंडा एकता की शक्ति की निशानी है.

ऐसा है पार्टी का झंडा

पार्टी के नाम का अर्थ है ‘जन न्याय का केंद्र’. पार्टी का नाम घोषित करने से पहले हासन ने कहा, मैं आपका नेता नहीं... आपका जरिया हूं... इस सभा में सब नेता हैं. पार्टी का नाम रखने से ठीक पहले इसका झंडा पेश किया गया. सफेद रंग के झंडे पर आपस में गोलाई में गुंथे छह हाथ बने हैं. तीन हाथ लाल और तीन सफेद रंग के हैं. इसके बीच एक सितारा बना है.

हासन के साथ केजरीवाल

हासन की मानें तो पार्टी बनाना जनता के शासन की दिशा में पहला कदम है. इस कार्यक्रम में अरविंद केजरीवाल के अलावा आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सोमनाथ भारती, किसान नेता पी आर पांडियान भी मंच पर मौजूद थे. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तमिलनाडु के लोगों से अपील की कि वे कमल हासन की नई पार्टी को वोट दें और कथित ‘भ्रष्ट’ पार्टियां एआईएडीएमके व डीएके को बाहर का रास्ता दिखाएं.

केजरीवाल ने कहा, ‘मैं देख सकता हूं कि तमिलनाडु के लोग डीएमके और एआईएडीएमके को बाहर करने और कमल हासन को सत्ता में लाने के लिए तैयार हैं.’

कलाम के घर गए हासन

पार्टी का ऐलान करने से पहले हासन रामेश्वरम में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के घर गए. यहां उन्होंने कलाम के बड़े भाई से आशीर्वाद लिया. वह उस स्कूल में नहीं जा पाए जहां से कलाम ने पढ़ाई की क्योंकि जिला प्रशासन ने स्कूल में उनके दौरे को सियासी बताते हुए इसकी इजाजत नहीं दी. हालांकि हासन ने कहा कि उनका कलाम के घर जाने में कोई राजनीति नहीं है. केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने हासन को शुभकामनाएं दीं.

'जाति-धर्म के खेल से परे होगी पार्टी'

कमल हासन ने कहा कि उनकी पार्टी ऐसी राजनीति के लिए है जो ‘जाति-धर्म के खेल’ से परे और सुशासन पर ध्यान देगी. हासन ने अपने भाषण में तमिलनाडु से जुड़े अहम मुद्दों मसलन कावेरी जल विवाद, कथित भ्रष्टाचार और नोटर फॉर वोट को शामिल किया. अपनी पार्टी के झंडे के बारे में उन्होंने कहा, ‘आप करीब से देखेंगे तो इसमें दक्षिण भारत का नक्शा पाएंगे. इसमें छह हाथ छह दक्षिणी राज्यों के लिए हैं. बीच में जो सितारा है वह जनता के लिए है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi