S M L

कैराना-नूरपुर उपचुनाव खत्म, 31 मई को आएंगे नतीजे

बिजनौर के नूरपुर उपचुनाव में शाम 5 बजे तक 57 फीसदी मतदान हुआ, जबकि कैराना लोकसभा उपचुनाव में शाम 5 बजे तक 50 प्रतिशत मतदान हुआ

Updated On: May 28, 2018 08:20 PM IST

FP Staff

0
कैराना-नूरपुर उपचुनाव खत्म, 31 मई को आएंगे नतीजे

ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों के बावजूद कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर मतदान समाप्त हो गया है. इस दौरान वोटरों में मतदान के प्रति जबरदस्त उत्साह देखने को मिला. भीषण गर्मी के बावजूद लोग अपने घरों से निकले और यही कारण रहा कि बिजनौर के नूरपुर उपचुनाव में शाम 5 बजे तक 57 फीसदी मतदान हुआ, जबकि कैराना लोकसभा उपचुनाव में शाम 5 बजे तक 50 प्रतिशत मतदान हुआ. 6 बजते ही मतदान रोक दिया गया, अब सिर्फ वही लोग मतदान कर सकते हैं, जो पोलिंग बूथ के अंदर हैं.

वहीं कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों पर राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने कहा है कि 384 ईवीएम और वीवीपैट मशीनें कैराना और नूरपुर में बदली गई हैं. उन्होंने कहा कि जरूरत होगी तो पुनर्मतदान कराएंगे. ईवीएम में मामूली गड़बड़ियां हैं, ज्यादातर शिकायतें वीवीपैट की आई हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि गोरखपुर में भी कुछ गड़बड़ियां आई थीं लेकिन इस बार संख्या अधिक है. उन्होंने कहा कि ज्यादा गर्मी की वजह से वीवीपैट प्रभावित हुई है.

बदली गईं 384 वीवीपैट मशीनें

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वीवीपैट की गंभीर समस्या रही है. अब तक 384 मशीन बदली गई हैं और कई मशीन ठीक कराई गई हैं. इस बारे में उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त से वार्ता की है. इस समस्या के क्या कारण रहे, इसकी हम जांच कराएंगे. जांच के बाद जहां मशीन ठीक होने या बदलने में 2 घंटे से अधिक समय लगा, वहां पुनर्मतदान होगा. अब तक कैराना में 340 और नूरपुर में 44 वीवीपैट मशीनें बदली गई. 6 बजे तक जो वोटर मतदान केंद्र पर पहुंचेंगे, उन सभी को वोट डालने का अवसर मिलेगा.

मशीन की खराबी से परेशान हुए सभी राजनीतिक दल

इससे पहले दोपहर 3 बजे तक कैराना में 41.5 फीसदी तो नूरपुर में 45 फीसदी  मतदान दर्ज किया गया. उधर उपचुनाव में मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी को समाजवादी पार्टी ने बीजेपी की साजिश करार दिया है. एसपी ने इस संबंध में निर्वाचन आयोग से भी शिकायत की है. एसपी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि कैराना और नूरपुर में बीजेपी की हार तय है. लिहाजा वह सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर ईवीएम खराबी की साजिश रच रही है.

वहीं बीजेपी ने भी ईवीएम खराबी को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत की. साथ ही एसपी पर पलटवार करते हुए कहा कि उपचुनाव में हार को भांप एसपी ईवीएम का बहाना बना रही है.

बता दें कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान सोमवार सुबह 7 बजे शुरू हो गया था. मतदान शांतिपूर्वक तरीके से कराने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स सहित अन्य फ़ोर्स को भी मतदान स्थलों पर लगाया गया.

कैराना में मृगांका और तबस्सुम के बीच सीधी टक्कर

गौरतलब है 21 फरवरी को लखनऊ इन्वेस्टर मीट में जाते वक्त नूरपुर विधायक लोकेंद्र चौहान की सड़क हादसे में मौत हो गई थी. वहीं, कैराना सीट बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के निधन की वजह से खाली हुई है. इन दोनों सीटों पर 31 मई को नतीजे के लिए मतगणना हुई.

कैराना में सीधा मुकाबला बीजेपी की मृगांका सिंह और गठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम हसन के बीच हुआ जबकि नूरपुर की सीट पर बीजेपी ने अवनी सिंह को अपनी पार्टी से प्रत्याशी बनाया. वहीं, एसपी ने नईमुल हसन को अपना प्रत्याशी बनाया था. उन्हें पहले ही एसपी गठबंधन में शामिल दूसरी पार्टियों से समर्थन मिला है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi