S M L

JNUSU Election 2018 Results: बैलेट बॉक्स चोरी की कोशिश के बाद बंद हुई काउंटिंग फिर से शुरू

एबीवीपी के सदस्यों पर मतगणना केंद्र पर हमला और तोड़कर कर वहां से बैलेट बॉक्स चोरी करने का आरोप लगा था, इसी के बाद काउंटिंग रुक गई थी जो फिर से शुरू हो गई है

Updated On: Sep 15, 2018 06:43 PM IST

FP Staff

0
JNUSU Election 2018 Results: बैलेट बॉक्स चोरी की कोशिश के बाद बंद हुई काउंटिंग फिर से शुरू
Loading...

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ चुनाव में वोटों की गिनती रुकी हुई थी जो फिर से शुरू हो गई है. इलेक्शन कमीशन ने आधिकारिक रूप से मतगणना की घोषणा कर दी है. कमीशन के इस घोषणा के बाद कैम्पस का माहौल बदल गया है.

शुक्रवार को चुनाव खत्म होने के बाद रात 10 बजे जब काउंटिंग शुरू हुई तो तोड़फोड़ और मारपीट की घटना हुई. एनएसयूआई ने एबीवीपी के इस हंगामे और बवाल के पीछे होने का आरोप लगाया है. वहीं एबीवीपी ने कहा कि उसके काउंटिंग एजेंटों को मतगणना केंद्र के अंदर नहीं जाने दिया गया. उसने चुनाव समिति और लेफ्ट दोनों के सदस्यों पर मिलकर साजिश और धांधली करने का आरोप लगाया.

एबीवीपी के आरोपों पर जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने ट्वीट कर कहा, 'बिल्कुल झूठ बात है. जेएनयूएसयू चुनाव समिति ने काउंटिंग के लिए रात 11 बजे के बाद तक इंतजार किया. उन्होंने इसके लिए कई बार काउंटिंग एजेंटों को आवाज लगाई.'

शेहला रशीद ने काउंटिंग सेंटर में हुई तोड़फोड़ पर ट्वीट कर कहा, 'मैं हैरान हूं! जेएनयू में इससे पहले आज तक कभी ऐसा नहीं देखा. बीती रात एबीवीपी के गुडों ने शीशे के गेट तोड़ दिया और जबरन मतगणना केंद्र में घुसने की कोशिश की. उन्होंने चुनाव समिति के सदस्यों पर हमला किया और मतपेटियों को छीनने की कोशिश की.'

जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में अभी तक का सर्वाधिक मतदान प्रतिशत 

जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में शुक्रवार को 68 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था. यह आंकड़े पिछले साल (2017) की तुलना में 9 प्रतिशत ज्यादा है. यह जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में अभी तक का सर्वाधिक मतदान प्रतिशत है.

निर्वाचन समिति की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार, कुल 7650 वोटों में से 5185 वोट पड़े हैं. शुक्रवार को जेएनयू छात्रसंघ के चुनाव दो पालियों में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव पदों के लिए हुए.

चुनाव समिति के मुताबिक, मतदान खत्म होने के बाद शुक्रवार रात 10 बजे वोटों की गिनती शुरू हुई.

इस साल अध्यक्ष पद के लिए कुल 8 उम्मीदवार मैदान में हैं. आइसा, एआईएसएफ, एसएफआई और डीएसएफ ने इस साल गठबंधन के तहत अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन के विद्यार्थी एन. साई बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना संयुक्त उम्मीदवार बनाया है. वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से संबद्ध विद्यार्थी शाखा, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने अध्यक्ष पद के लिए ललित पाण्डेय को अपना उम्मीदवार बनाया है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi