S M L

राम मंदिर मामले पर जेडीयू का बयान, कहा- बीजेपी नहीं ला सकती कोई अध्यादेश

जेडीयू कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि राम मंदिर पर हमारा रुख साफ है या तो आपसी सहमति या फिर कोर्ट के फैसले से राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए

Updated On: Dec 15, 2018 10:54 AM IST

FP Staff

0
राम मंदिर मामले पर जेडीयू का बयान, कहा- बीजेपी नहीं ला सकती कोई अध्यादेश

अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर को लेकर जेडीयू ने अब अपना बयान जारी किया है. जेडीयू का कहना है कि राम मंदिर पर अगर केंद्र कोई अध्यादेश लाता है तो उसे जेडीयू पार्टी का समर्थन नहीं मिलेगा. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बीते शुक्रवार को जेडीयू के राष्ट्रीय संगठन महासचिव आरसीपी सिंह ने इस बात की जानकारी दी.

आपसी सहमति या कोर्ट के फैसले से राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए

जेडीयू कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि राम मंदिर पर हमारा रुख साफ है या तो आपसी सहमति या फिर कोर्ट के फैसले से राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. इस पर हम अपना स्टैंड नहीं बदल सकते. उन्होंने कहा कि बीजेपी इस मुद्दे पर कोई अध्यादेश नहीं ला सकती है. कोई तीसरा रास्ता नहीं हो सकता. यदि इस पर कोई अध्यादेश आता है तो उसे जेडीयू का समर्थन नहीं मिलेगा.

बीजेपी मंदिर मुद्दे को उठाए बिना चुनाव जीत जाएगी

जेडीयू महासचिव के बयान को मौजूदा राजनीतिक स्थिति से जोड़कर देखा जा रहा है. राज्यों के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली शिकस्त के बीच उसके प्रमुख घटक दल जेडीयू के स्टैंड में उसके लिए नसीहत भी छुपी है कि समाज में सबको और सभी विचारधाराओं को साथ लेकर चलना होगा. वहीं जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कहा कि बीजेपी मंदिर मुद्दे को उठाए बिना चुनाव जीत जाएगी और भगवा पार्टी की लोकप्रियता निश्चित रूप से 2014 के बाद से गिर गई है.

सामाजिक एकजुटता और सांप्रदायिक भाईचारे के बारे में बात की है

हालांकि राज्य की बीजेपी इकाई ने अपने गठबंधन सहयोगी को यह कहने के लिए कहा कि मंदिर जल्द ही बनाया जाएगा क्योंकि यह बीजेपी के घोषणापत्र का हिस्सा रहा है. वहीं आरसीपी सिंह ने कहा, यदि बीजेपी मंदिर निर्माण पर एक अध्यादेश लाती है, तो हम इसका समर्थन नहीं करेंगे. हमने हमेशा सामाजिक एकजुटता और सांप्रदायिक भाईचारे के बारे में बात की है.

हमारा ध्यान शांति व सांप्रदायिक सद्भाव के साथ विकास पर होना चाहिए

जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने सांप्रदायिकता के मुद्दे पर टिप्पणी करते हुए कहा, बिहार में एनडीए का विकास एजेंडा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा निर्धारित रहा है. मुख्यमंत्री ने हाल ही में किशनगंज समारोह में सांप्रदायिकता के मुद्दों के साथ कोई समझौता नहीं करने के बारे में बात की है. उन्होंने कहा- प्रत्येक चुनाव में विजेताओं और हारने वालों के लिए एक संदेश होता है. बिहार के लिए, हमारा ध्यान शांति और सांप्रदायिक सद्भाव के साथ विकास पर होना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi