S M L

LIVE JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक : नीतीश बोले- लालू यादव के पास जनाधार नहीं

जेडीयू के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास में बुलाई गई है

| August 19, 2017, 05:28 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Aug 19, 2017

  • 17:38(IST)

    हम गड़बड़ी और भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेंगे- नीतीश कुमार

  • 17:36(IST)

    JDU का कोई भी कार्यकर्ता पार्टी छोड़कर नहीं जाएगा- नीतीश कुमार

  • 17:36(IST)

    खुद (तेजस्वी) इस्तीफा देते तो ऊंचाई पर चले जाते- नीतीश कुमार

  • 17:34(IST)

    अगर दो-तिहाई आपके साथ है तो ठीक, वर्ना सदस्यता जाएगी- नीतीश कुमार

  • 17:33(IST)
  • 17:33(IST)

    हिम्मत और ताकत है तो पार्टी को तोड़कर दिखाएं- नीतीश कुमार

  • 17:33(IST)

    सीएम नीतीश कुमार ने शरद यादव पर इशारों-इशारा में निशाना साधा

  • 17:32(IST)

    कोई कुछ भी कर ले, पार्टी पर उसका कोई असर नहीं- नीतीश कुमार

  • 17:26(IST)

    बहुत लोगों को भ्रम है, JDU का भी जनाधार है. JDU तो जिसके साथ जहां रहती है उसी की जीत होती है- नीतीश कुमार

  • 17:25(IST)

    लालू प्रसाद के पास जनाधार नहीं है- नीतीश कुमार

  • 17:22(IST)

    JDU की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोल रहे हैं 

  • 17:22(IST)

    2013 में जब हम अलग हो रहे थे NDA से तो वो (शरद यादव) पार्टी के अध्यक्ष थे, क्यों नहीं रोका था ?- नीतीश कुमार

  • 15:46(IST)
  • 15:46(IST)
  • 14:51(IST)

    मेरी किसी से कोई शिकायत नहीं है- शरद यादव

  • 14:51(IST)

    पुराने जनता दल के लोगों को एक साथ लाने की कोशिश की थी- शरद यादव

  • 14:51(IST)

    देश पर इस संकट के बादल मंडरा रहे हैं- शरद यादव

  • 14:44(IST)

    श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में अपने समर्थकों को संबोधित कर रहे हैं शरद यादव

  • 14:42(IST)

    धर्म के नाम पर लोगों की हो रही है हत्याएं- शरद यादव

  • 14:23(IST)

    हमारी लड़ाई बिहार के हित में है- शरद यादव

  • 13:45(IST)

    नीतीश कुमार पर जेडीयू का एनडीए के साथ जाने पर फिर डीएनए के तंज के साथ तेजस्वी यादव का पलटवार.

  • 13:28(IST)

    लोकजनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने नीतीश कुमार को एनडीए के साथ जाने पर बधाई दी है.

  • 13:20(IST)

    जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शरद यादव पर फैसला टला

  • 13:19(IST)

    नीतीश कुमार की तरफ से बुलाई गई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के समानांतर अलग बैठक करने वाले जेडीयू नेता शरद यादव पर पार्टी कार्रवाई कर सकती है. लेकिन, शरद यादव को इस बात का एहसास है. शरद यादव इस वक्त राज्यसभा के सांसद हैं और उनका कार्यकाल अभी लगभग चार साल का बचा है. ऐसे में शरद यादव की कोशिश है कि उनकी सदस्यता बरकरार रहे. उनको मालूम है कि अगर पार्टी उनपर कार्रवाई कर उन्हें सस्पेंड करती है तो फिर उनकी सदस्यता को कोई खतरा नहीं होगा. लेकिन, दूसरी तरफ नीतीश गुट की कोशिश है कि किसी तरह से शरद यादव की सदस्यता खत्म की जाए क्योंकि वो लगातार पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल हैं. राजनीति के चतुर खिलाड़ी शरद यादव इस बात को बखूबी समझते हैं, लिहाजा उनकी तरफ से बुलाए गए समानांतर सम्मेलन में उन्होंने मंच से साफ कर दिया कि किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कुछ बोलने की जरूरत नहीं है. उन्होंने अपने समर्थकों को साफ-साफ लहजे में कहा कि बिहार की जनता के लिए बोलना है ना कि किसी व्यक्ति के खिलाफ. शरद यादव का इशारा नीतीश कुमार की तरफ था. वो जानते हैं कि अगर पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार के खिलाफ कुछ भी बयानबाजी हुई तो फिर इसका असर उल्टा पड़ जाएगा और इस आधार पर उनकी सदस्यतता खत्म करने को लेकर भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की तलवार लटक सकती है. लिहाजा बिना नाम लिए हमला भी हो रहा है और अब जेडीयू पर कब्जा और चुनाव चिन्ह पर दावा करने की तैयारी भी हो रही है. लेकिन, अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच हुए घमासान के दौरान चुनाव आयोग के फैसले का आकलन करने पर यही लग रहा है कि यहां भी शरद यादव को मुंह की खानी पड़ेगी. क्योंकि पार्टी के अधिकतर विधायक और सांसद नीतीश कुमार के साथ खड़े दिख रहे हैं.
    अमितेश सिंह, फ़र्स्टपोस्ट 

  • 13:17(IST)
  • 13:12(IST)
  • 13:07(IST)

    जेडीयू के औपचारिक तौर पर एनडीए में शामिल होने के फैसले के बाद जल्द ही मोदी कैबिनेट का विस्तार हो सकता है. इस कैबिनेट विस्तार में जेडीयू कोटे को दो मंत्रियों को जगह दी जा सकती है. जिन नामों पर चर्चा चल रही है, उसमें जेडीयू संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह और राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर प्रमुख हैं. आरसीपी सिंह नीतीश कुमार के बेहद करीबी हैं. यही वजह है कि हाल ही में शरद यादव को हटाए जाने के बाद उन्हें पार्टी संसदीय दल का नया नेता चुना गया है. ब्युरोक्रेसी से सियासत में कदम रखने वाले आरसीपी सिंह नीतीश कुमार की ही जाति कुर्मी समुदाय से आते हैं. ऐसे में नीतीश कुमार पिछड़े तबके के आरसीपी सिंह को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल करने पर अपनी मुहर लगा सकते हैं. इसके अलावा राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर को भी राज्य मंत्री के तौर पर मोदी सरकार में जगह दी जा सकती है. रामनाथ ठाकुर बड़े समाजवादी नेता कर्पूरी ठाकुर के बेटे हैं. इस वक्त समाजवादी जमीन को लेकर नीतीश कुमार की लालू यादव और शरद यादव के साथ ठन गई है, ऐसे वक्त में कर्पूरी ठाकुर के नाम का फायदा उठाने और उनकी विरासत पर दावे के नजरिए से नीतीश कुमार कर्पूरी ठाकुर के बेटे रामनाथ ठाकुर का नाम आगे कर सकते हैं. लालू यादव से अलग होने और शरद यादव के बागी तेवर के बाद नीतीश कुमार एक बार फिर से पिछड़े के साथ-साथ अति पिछड़े समुदाय पर अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश मेें है. नीतीश के इस फॉर्मूले के तहत भी नाई जाति के रामनाथ ठाकुर फिट बैठते हैं.
    अमितेश सिंह, फ़र्स्टपोस्ट 

  • 13:06(IST)

    मेरी सभी लोगों से अपील है कि वो अपनी मर्यादा में रहें और सीमा में बोलें- शरद यादव

  • 13:04(IST)

    सीएम आवास के बाहर RJD कार्यकर्ताओं के हंगामा को देखते हुए पटना के SSP मनु महाराज मौके पर पहुंचे

  • 13:03(IST)

    हम किसी भी व्यक्ति के खिलाफ नहीं हैं- शरद यादव 

LIVE JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक : नीतीश बोले- लालू यादव के पास जनाधार नहीं

बिहार की राजनीति में शनिवार को बड़ा दिन है. जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) की पटना में शनिवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है. यह बैठक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में उनके सरकारी आवास एक अणे मार्ग में चल रही है. बैठक में जेडीयू के एनडीए गठबंधन के हिस्सा बनने को लेकर विचार-विमर्श किया जा रहा है. नीतीश कुमार और शरद यादव गुट के लोग अपने-अपने नेता को असली जेडीयू करार दे रहे हैं.

बिहार की राजनीति में शनिवार को बड़ा दिन है. आज ये फैसला हो सकता है कि जेडीयू में नीतीश कुमार और शरद यादव साथ रहेंगे या दोनों की राहें अब जुदा होंगी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू यादव से अलग होने के बाद और बीजेपी के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाने के बाद पहली बार पार्टी की बैठक बुलाई है. वहीं शरद यादव ने भी पार्टी नेताओं की पटना में ही बैठक बुलाई है. अब देखना दिलचस्प होगा कि कौन किसके साथ जाता है.

जेडीयू आज राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने के प्रस्ताव पर फैसला लेगी. पटना में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सहित राष्ट्रीय परिषद की बैठक इस पर निर्णय लिया जाना है. नीतीश कुमार तो इस बैठक में होंगे ही पर क्या शरद यादव इसमें शामिल होंगे. इस बैठक में 20 राज्यों के जेडीयू प्रदेश अध्यक्षों को भी बुलाया गया है. वहीं पार्टी के अंदर से यह भी खबर आ रही है कि नीतीश आज शरद यादव पर भी कार्रवाई सकते हैं.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक सुबह 11 बजे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास एक अणे मार्ग में रखी गई है. इसमें महागठबंधन छोड़ने की समीक्षा होगी और एनडीए के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाने पर भी चर्चा होगी. इसके बाद ये तय होगा कि एनडीए में शामिल हुआ जाए या सिर्फ बिहार तक बने रहना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi