S M L

तेजस्वी UPA के एक छोटे से मोहल्ले के नेता, असभ्य बात कहने से बाज आएं- केसी त्यागी

केसी त्यागी ने इसके साथ ही जेडीयू के महागठबंधन में शामिल होने की किसी भी संभावना को खारिज किया है

Updated On: Jun 27, 2018 02:20 PM IST

FP Staff

0
तेजस्वी UPA के एक छोटे से मोहल्ले के नेता, असभ्य बात कहने से बाज आएं- केसी त्यागी

बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर दिए तेजस्वी के बयान के बाद जेडीयू नेता केसी त्यागी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. केसी त्यागी ने इसके साथ ही जेडीयू के महागठबंधन में शामिल होने की किसी भी संभावना को खारिज किया है.

केसी त्यागी ने नीतीश कुमार पर दिए तेजस्वी के बयान को असभ्य बताया है. उन्होंने कहा है कि तेजस्वी यूपीए और महागठबंधन के एक छोटे से मुहल्ले के नेता हैं. वो अपरिपक्व और असभ्य वक्तव्य देने से बाज आएं.

केसी त्यागी ने तेजस्वी को सलाह देते हुए कहा है कि आक्रामक वक्तव्य देकर माहौल को उत्तेजित करने का प्रयास नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा है कि लालू प्रसाद के कुशलक्षेम के लिए नीतीश कुमार की फोन पर बातचीत हुई. तेजस्वी इसे राजनीतिक रंग दे रहे हैं. वो कोई सबूत पेश करें कि नीतीश कुमार की कोई राजनीतिक बातचीत हुई.

न्यूज 18 से बात करते हुए केसी त्यागी ने कहा है कि नीतीश कुमार को यूपीए में आने के लिए तेजस्वी के पास जाना पड़ेगा, वो हमारी ज़िंदगी का आखिरी दिन होगा.

साथ ही उन्होंने इस बात की तसल्ली भी दी कि बिहार एनडीए में सबकुछ ठीक है. बिहार में एनडीए सबसे ज्यादा सीट लेकर आएगी. सभी सहयोगी चाहते हैं कि सीट शेयरिंग पर जल्द से जल्द बातचीत हो.

केसी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार सीएम और स्टेट्समैन होने के साथ एक संवेदनशील व्यक्ति हैं. राजनीतिक कटुता के बावजूद तनावपूर्ण वातावरण में तेज प्रताप की शादी के दौरान नीतीश कुमार उनके आवास गए और काफी देर तक रहे.

तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कुछ नेता असंवेदनहीन और असभ्य हो गए हैं. नौसिखिया उत्तराधिकारी अपने बड़ों से ऐसा बर्ताव कर रहें हैं. त्यागी ने कहा कि हम महागठबंधन छोड़ चुके हैं,वापस जाने के लिए कहीं अप्लाई नहीं किया है.

इसके पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पूर्व सहयोगी और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को फोन किया था. इलाज के लिए मुंबई गए लालू यादव से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फोन कर उनकी सेहत का हालचाल पूछा था.

इसके बाद यह चर्चा भी शुरू हो गई कि आरजेडी और जेडीयू आपसी दुश्मनी भुलाकर फिर साथ आ सकते हैं. इस पर तेजस्वी यादव ने प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने कहा था कि अब महागठबंधन में चाचा के लिए कोई जगह नहीं है.

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव स्वास्थ्य कारणों से जमानत पर जेल से बाहर हैं. उनका मुंबई के अस्पताल में इलाज चल रहा है. बीते रविवार को उनका एक ऑपरेशन किया गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा लालू यादव का हालचाल पूछे जाने पर तेजस्वी यादव ने कहा कि रविवार को उनका (लालू यादव) का फिस्टुला का ऑपरेशन हुआ था, ऐसे में उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए कॉल किया था और कुछ नहीं. अस्पताल में भर्ती होने के 4 महीने बाद आश्चर्यजनक रूप से नीतीश जी को उनके खराब स्वास्थ्य के बारे में पता चला. मैं उम्मीद करता हूं कि वह महसूस करेंगे कि वो बीजेपी/एनडीए मंत्रियों के अस्पताल में लालू जी का हालचाल पूछने वाले अंतिम राजनेता हैं.

( न्यूज 18 के इनपुट के साथ )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi