विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

हरियाणा: जाटों ने असहयोग की घोषणा की, दिल्ली में करेंगे विरोध-प्रदर्शन

असहयोग आंदोलन के तहत जाट समुदाय दिल्ली में जरूरी चीजों की किल्लत पैदा करने की तैयारी में हैं

IANS Updated On: Mar 01, 2017 11:07 PM IST

0
हरियाणा: जाटों ने असहयोग की घोषणा की, दिल्ली में करेंगे विरोध-प्रदर्शन

हरियाणा में अपनी मांगों और शिकायतों पर अधिकारियों के रुख से नाराज जाट प्रदर्शनकारियों ने होली के बाद असहयोग आंदोलन चलाने की घोषणा की. साथ ही दो मार्च से आंदोलन को दिल्ली ले जाने की भी घोषणा की.

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के नेता यशपाल मलिक ने कहा कि, ‘बीते 29 जनवरी से आंदोलन कर रहे जाट नेता अपने विरोध-प्रदर्शन को दो मार्च से नई दिल्ली ले जाएंगे.'

असहयोग आंदोलन के तहत जाट समुदाय के लोगों से बिजली और पानी के बिल का भुगतान नहीं करने की अपील की गई है. साथ ही उनसे दिल्ली को दूध और दूसरी जरूरी चीजें जैसे सब्जियां, फल, आदि की सप्लाई भी बंद करने को कहा गया है.

इस बीच, हरियाणा विधानसभा में जाट आंदोलन पर चर्चा की गई. बजट सत्र के दौरान स्थगन प्रस्ताव पेश करने वाले इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) के नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि, ‘कांग्रेस और बीजेपी हरियाणा में जाटों को सरकारी नौकरियों और सरकारी संस्थानों में आरक्षण पर राजनीति करने का प्रयास कर रही हैं.

चौटाला ने कहा कि, ‘राज्य की बीजेपी सरकार जाट समुदाय की मांगों को पूरा करने में विफल रही है, जबकि उसने पिछले साल इस पर सहमति जताई थी.’

आरक्षण के अलावा पिछले साल जाट आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों के परिजनों को नौकरी, घायलों को मुआवजा, उनके खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने और जाटों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश देने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

फरवरी 2016 में जाट आंदोलन के दौरान हुई हिंसा में 30 लोग मारे गए थे, जबकि 200 से अधिक लोग घायल हुए थे. इस दौरान हजारों करोड़ रुपए की सरकारी और निजी संपत्ति का नुकसान हुआ था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi