S M L

जम्मू कश्मीर: राम माधव और उमर अब्दुल्ला के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग, जानिए पूरा मामला

नेशनल कांफ्रेंस के नेता ने बीजेपी महासचिव राम माधव को चुनौती दी कि वह अपने आरोप को साबित करें

Updated On: Nov 22, 2018 04:50 PM IST

FP Staff

0
जम्मू कश्मीर: राम माधव और उमर अब्दुल्ला के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग, जानिए पूरा मामला

जम्मू कश्मीर में विधानसभा भंग करने के राज्यपाल के निर्णय के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दु्ल्ला और बीजेपी महासचिव राम माधव के बीच खूब तकरार हुई.अब्दुल्ला ने जहां राम माधव से आरोप साबित करने या माफी मांगने को कहा, वहीं बीजेपी नेता ने नेशनल कांफ्रेंस नेता से कहा कि वह परेशान नहीं हों. हालांकि राम माधव ने ट्विटर पर कहा कि वह अपने शब्द वापस लेते हैं.

राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा विधानसभा भंग किए जाने के एक दिन बाद अब्दुल्ला ने प्रदेश सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त और धन के प्रयोग संबंधी दावों की जांच कराने की मांग की.

नेशनल कांफ्रेंस के नेता ने बीजेपी महासचिव राम माधव को चुनौती दी कि वह अपने आरोप को साबित करें कि पाकिस्तान के कहने पर पीडीपी और नेशनल कांफ्रेस का गठबंधन हुआ है.

अब्दुल्ला ने कहा, 'देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकर्ताओं के बलिदान को आप नहीं भुला सकते हैं. उन्हें माफी मांगनी चाहिए.' इसके बाद राम माधव ने गुरुवार को अपने ट्वीट में कहा, 'परेशान न हों, उमर अब्दुल्ला.. आपकी देशभक्ति पर सवाल नहीं उठा रहा हूं. लेकिन नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के बीच अचानक उमड़े प्रेम और सरकार बनाने की जल्दबाजी के कारण कई संदेह पैदा हुए और राजनीतिक टिप्पणी आई. आपको कष्ट पहुंचाने के लिए नहीं.'

राम माधव ने एक दिन पहले ही कहा था कि पीडीपी-एनसी ने पिछले महीने निकाय चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया था, वह आदेश भी उन्हें सीमा पार से आया था. ऐसा लगता है कि राज्य में सरकार बनाने को लेकर साथ आने के बारे में उन्हें नए निर्देश मिले होंगे. इसी कारण राज्यपाल को इस विषय पर विचार करना पड़ा.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi