S M L

जयललिता का 'आखिरी' वीडियो फुटेज जांच आयोग के हवाले

अन्नाद्रमुक के विद्रोही नेता पी वेट्रिवेल ने न्यायमूर्ति ए अरूमुगास्वामी आयोग को यह वीडियो एक सीडी में मुहैया करवाया है

Updated On: Dec 27, 2017 11:46 AM IST

FP Staff

0
जयललिता का 'आखिरी' वीडियो फुटेज जांच आयोग के हवाले

तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता का वह विवादित वीडियो फुटेज उनकी मृत्यु के मामले की जांच कर रहे एक सदस्यीय जांच आयोग को दिया गया है, जिसमें वह कथित रूप से अस्पताल में दिखाई दे रही हैं.

अन्नाद्रमुक के विद्रोही नेता पी वेट्रिवेल ने न्यायमूर्ति ए अरूमुगास्वामी आयोग को यह वीडियो एक सीडी में मुहैया करवाया है.

शशिकला के भतीजे टीटीवी दिनाकरण के करीबी वेट्रिवेल ने 21 दिसंबर को हुए आरके नगर विधानसभा उपचुनाव से पहले यह वीडियो क्लिप मीडिया को भी जारी किया था.

अन्नाद्रमुक के अलग थलग किए गए नेता टीटीवी दिनाकरण के विश्वस्त वेट्रिवेल से जब पूछा गया कि क्या यह वीडियो आयोग को दिया गया है तो उन्होंने हां में जवाब दिया.

हालांकि, चुनाव से पहले वेट्रिवल की ओर से जारी किए गए इस वीडियो के मकसद पर सवाल उठाए गए थे. कहा गया था कि वेट्रिवल ने दिनाकरण को सहानुभूति दिलाने के लिए और चुनाव से पहले उन्हें वोटों का फायदा दिलवाने के लिए जारी किया गया था. दिलचस्प है कि इन चुनावों में दिनाकरण को 81,000 के वोटों के अंतर से जीत मिली.

इस मुद्दे पर वेट्रिवल ने कहा था कि उन्होंने वीडियो रिलीज अपनी मर्जी से किया है. इसके लिए न तो उन्होंने शशिकला से संपर्क किया था और न ही दिनाकरण से. दिनाकरण गुट ने आरोप लगाया था कि जयललिता का सही से इलाज नहीं किया गया.

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता का पांच दिसंबर, 2016 को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया था. वो कई महीनों तक बीमारी से लड़ी. लेकिन फिर भी उन्हें बचाया नहीं जा सका. इसके एक साल के बाद उनके निधन से पहले का एक वीडियो क्लिप सामने आया है, जिसमें जयललिता ग्लास में जूस पीती नजर आ रही हैं.

वीडियो सामने आने के बाद अपोलो अस्पताल ने वीडियो को लेकर अपनी सफाई में कहा था कि ये वीडियो जयललिता का आधिकारिक वीडियो नहीं है. इसे परिवार के किसी सदस्य ने बनाया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi