S M L

बात सिर्फ चार साल की नहीं है, अभी तो लंबा सफर बाकी है: पीएम मोदी

एनडीए सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर पीएम मोदी ने ओडिशा के कटक में एक रैली को संबोधित किया और अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई

FP Staff Updated On: May 26, 2018 08:58 PM IST

0
बात सिर्फ चार साल की नहीं है, अभी तो लंबा सफर बाकी है: पीएम मोदी

सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा के कटक में थे. उन्होंने यहां पर एक रैली को संबोधित करते हुए सरकार की चार साल की उपलब्धियों को बताया और विपक्षियों पर जमकर हमला भी बोला. पीएम मोदी ने अपनी सरकार की सिर्फ चार साल की ही बात नहीं की बल्कि आगे के भी अपने इरादों को साफ कर दिया. पीएम मोदी ने कहा कि बात सिर्फ चार साल की नहीं है, अभी तो लंबा सफर तय करना है.

हमारी सरकार जनपथ से नहीं जनमत से चलती है

पीएम मोदी ने यूपीए की मनमोहन सिंह सरकार में सोनिया गांधी के दखल का जिक्र करते हुए कहा कि हम सरकार जनपथ से नहीं बल्कि जनमत से चलाते हैं. मनमोहन सरकर से तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कनफ्यूजन वाली नहीं बल्कि कमिटमेंट वाली है. उन्होंने कहा कि कमिटमेंट वाली सरकार चलती है तब देश का राजकोषीय घाटा कम हो जाता है.

भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई से डरकर दुश्मन हुए एक

उन्होंने विपक्षी एकता पर भी हमला बोला और कहा कि जब कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी सरकार लड़ाई लड़ रही है तो कट्टर दुश्मन भी एक हो गए हैं. उन्होंने कहा कि लोग पहले समझते थे कि केवल छोटे लोगों पर कार्रवाई होती है लेकिन हमारी सरकार ने बड़े-छोटे में कोई अंतर नहीं किया और आज चार पूर्व मुख्यमंत्री जेल में हैं.

उन्होंने कहा कि विभिन्न एजेंसियों ने 3000 छापे मारे और 73,000 करोड़ रुपए की अघोषित आय का खुलासा किया. काला धन के खिलाफ सख्त कानून ने एक मंच पर आने वाले कइयों को भयभीत कर दिया है.

लोग मानने लगे हैं कि देश बदल सकता है

उन्होंने कहा कि बीजेपी 20 राज्यों में सत्ता में है जिससे जाहिर होता है कि लोगों ने पिछले चार साल में एनडीए के कामकाज को सराहा है. एनडीए सरकार के चार साल के शासन पर प्रधानमंत्री ने कहा कि लोग अब मानने लगे हैं कि देश बदल सकता है. उन्होंने कहा कि देश कुशासन से सुशासन की ओर और कालाधन से जनधन की ओर बढ़ रहा है. सरकार ‘सबका साथ सबका विकास’ के उद्देश्य के साथ काम कर रही है.

देश के शीर्ष पदों पर बैठे हुए लोगों ने गरीबी देखी है

पीएम मोदी ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और अपनी पृष्ठभूमि का जिक्र करते हुए कहा कि हम सब गरीबी झेल कर आए हैं. यह एक ऐसी सरकार है जिसमें शीर्ष पर बैठे तीनों लोगों का जीवन एक-एक पैसे की चिंता करते हुए बीता है. चांदी के चम्मच की कहावत को तो छोड़ दीजिए, हमने तो बचपन में चम्मच तक नहीं देखा.

हम कड़े फैसले लेने में नहीं घबराते

पीएम मोदी ने कटक की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि जब देश के मतदाताओं ने तीस साल बाद पूर्ण बहुमत की सरकार चुनी तभी जनता की उम्मीदों से हम वाकिफ हो गए थे. हम न कड़े फैसले लेने से डरते हैं, न घबराते हैं. हमारी सरकार ने कमिटमेंट के साथ काम किया है तभी तो सर्जिकल स्ट्राइक संभव हुआ, तभी कई सालों से लटके वन रैंक-वन पेंशन को मंजूरी मिली और हम शत्रुओं की संपत्ति जब्त करने वाला कानून लाने में सफल हुए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi