S M L

'समाधान, सुविधा और सुगम' एप से होगा अगला चुनाव

इस चुनाव में आयोग ने ‘नोटा’ के नए चिन्ह का इस्तेमाल भी शुरू करने की पहल की है

Bhasha Updated On: Jan 18, 2018 05:50 PM IST

0
'समाधान, सुविधा और सुगम' एप से होगा अगला चुनाव

चुनाव आयोग ने अगले महीने त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय में होने वाले विधानसभा चुनाव में ईवीएम को विवादों से बचाने का प्रयास शुरू हो चुका है. पांच नए आईटी एप्लीकेशन की मदद से चुनाव प्रक्रिया को पारदर्शी, सुगम और त्रुटिमुक्त बनाने की पहल की गई है.

मुख्य चुनाव आयुक्त ए. के. जोती ने गुरूवार को चुनाव कार्यक्रम घोषित करते हुए बताया कि आईटी एप्लीकेशन ‘समाधान, सुविधा और सुगम’ की मदद से चुुनाव कराए जाएंगे. यहां मतदाताओं और उम्मीदवारों को मुहैया कराई जाने वाली सुविधाओं और चुनाव प्रक्रिया से जुड़ी शिकायतों के त्वरित निपटान पर निगरानी रखी जाएगी. दो अन्य एप्लीकेशन मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग और उम्मीदवारों को ई - भुगतान की सुविधा से जुड़े हैं.

जोती ने बताया कि चुनाव आयोग की ओर से विकसित ‘समाधान’ एप के जरिए मतदाताओं और उम्मीदवारों की सुविधा और अन्य मामलों से जुड़ी शिकायतों के त्वरित निपटान पर निगरानी रखी जाएगी.

सिंगल विंडो सिस्टम के जरिए मिलेगी सभा करने की मंजूरी 

इसके तहत मतदाता ई मेल, फैक्स, फोन कॉल और एसएमएस के अलावा मोबाइल एप के जरिए लिखित और तस्वीरों के माध्यम से शिकायत कर सकेंगे. ‘सुविधा’ एप के जरिए उम्मीदवारों को चुनाव अभियान के दौरान ‘सिंगल विंडो आईटी सिस्टम’ के माध्यम से विभिन्न प्रकार की मंजूरी हासिल करने की 24 घंटे ऑनलाइन सुविधा मिलेगी.

वहीं ‘सुगम’ एप के माध्यम से चुनाव प्रक्रिया में शामिल सरकारी और किराए पर लिए गए वाहनों के प्रयोग की मंजूरी लेने के अलावा इनके इस्तेमाल पर निगरानी की जा सकेगी. इसके जरिए वाहनों के किराए का भुगतान भी किया जा सकेगा.

आयोग ने इस चुनाव से मतदान केंद्रों पर मतदान का आईटी एप्लीकेशन आधारित वेब प्रसारण भी सुनिश्चित किया है. इसमें सीसीटीवी कैमरों को वेबकास्टिंग सिस्टम से जोड़ कर मतदान की निगरानी की जा सकेगी.

नोटा के लिए बना अलग निशान 

आयोग ने चुनाव प्रक्रिया में शामिल संसाधनों के एवज में किए जाने वाले भुगतान आईटी एप ‘ई पेमेंट’ के जरिए करने की सुविधा को बढ़ावा दिया है.  जोती ने बताया कि इसके जरिए चुनाव प्रक्रिया से जुड़े तमाम तरह के भुगतान त्वरित हो सकेंगे.

उन्होंने बताया कि इस चुनाव में आयोग ने ‘नोटा’ के नए चिन्ह का इस्तेमाल भी शुरू करने की पहल की है. आयोग ने किसी भी उम्मीदवार को मत नहीं देने के इच्छुक मतदाताओं को नोटा विकल्प मुहैया कराने के लिए ईवीएम पर इसका नया निशान चस्पा किया है.

इसमें उम्मीदवारों के नाम वाले अंतिम बटन के नीचे आखिरी बटन पर नोटा का चिन्ह अंकित होगा. अब तक ईवीएम में उम्मीदवारों के विकल्प वाले अंतिम बटन पर नोटा लिखा होता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi