S M L

अमेरिका ने तानाशाहों, अत्याचारियों को शह दी और मिडिल ईस्ट को बरबाद कर दिया: ईरानी विदेश मंत्री

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने स्टेट ऑफ द यूनियन के संबोधन में ईरान पर हमला बोला, जिसके बाद ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ भड़क गए

Updated On: Feb 06, 2019 05:16 PM IST

FP Staff

0
अमेरिका ने तानाशाहों, अत्याचारियों को शह दी और मिडिल ईस्ट को बरबाद कर दिया: ईरानी विदेश मंत्री

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को अपना दूसरा स्टेट ऑफ द यूनियन का भाषण दिया. उन्होंने इस भाषण में कई मुद्दों पर बात की. विश्लेषकों ने उनके इस भाषण को स्टेट यूनियन के संबोधन से ज्यादा पॉलिटिकल पिच ज्यादा बताया है.

इस भाषण में ट्रंप ने ईरान पर लगाए गए अपने प्रतिबंधों पर भी टिप्पणी की. उन्होंने ईरान को आतंकवाद को प्रायोजित करने वाला देश और इसकी सरकार को भ्रष्ट तानाशाही बताते हुए कहा कि अमेरिका कट्टरवादी ईरान के खिलाफ कड़े कदम उठा रहा है. उन्होंने ईरान पर लगाए गए अपने प्रतिबंधों को सही भी ठहराया.

इस पर ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ भड़क गए हैं. ज़रीफ ने ट्विटर पर अमेरिका के खिलाफ बहुत तीखे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा है कि अमेरिका इस दुनिया का सबसे बड़ा आतंकवाद स्पॉन्सर करने वाला देश है.

ज़रीफ ने ट्विटर पर लिखा, 'हमारे यहूदी हमवतनों को साथ लेकर चल रहे ईरानी लोगों ने अमेरिकी दबाव के बावजूद 40 सालों में काफी प्रगति की है. अब डोनाल्ड ट्रंप ने हमपर फिर से आरोप लगाए हैं.'

ज़रीफ ने लिखा, 'अमेरिका ने विरोध करने के चक्कर में तानाशाहों, आततायियों और आतिवादियों को शह दिया है, जिससे बस ये क्षेत्र बरबाद ही हुआ है.'

इसके पहले भी ज़रीफ अमेरिका पर इतने तीखे शब्दों का इस्तेमाल कर चुके हैं. पिछले साल उन्होंने अपने फ्रेंच समकक्ष के साथ मुलाकात के दौरान कहा था कि अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने मिडिल ईस्ट में हथियार बेच-बेचकर इ,े गनपाउडर डिपो बना दिया है. इसके बाद यूरोप में भी ऐसा ही संदेश देने की कोशिश की थी. उन्होंने कहा था कि अमेरिका और यूरोपीय देशों को ईरान की मिसाइलों पर सवाल उठाने के बजाय हमारे क्षेत्र में हथियारीकरण को बढ़ावा देने के लिए अरबों डॉलर बरसाना बंद कर देना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi