S M L

ट्रंप प्रशासन के खिलाफ डेमोक्रेट्स की आक्रामक रणनीति के पीछे एक भारतीय-अमेरिकी महिला

ट्रंप प्रशासन की कथित विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ डेमोक्रेटिक पार्टी की आक्रामक संवाद रणनीति बनाने में भारतीय-अमेरिकी सबरीना सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही है

Updated On: Jul 18, 2018 09:44 PM IST

PTI

0
ट्रंप प्रशासन के खिलाफ डेमोक्रेट्स की आक्रामक रणनीति के पीछे एक भारतीय-अमेरिकी महिला

ट्रंप प्रशासन की कथित विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ डेमोक्रेटिक पार्टी की आक्रामक संवाद रणनीति बनाने में भारतीय- अमेरिकी सबरीना सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

वर्ष 1946 के उस ऐतिहासिक कानून को बनाने में सबरीना के दादा जेजे सिंह की महती भूमिका थी जिसके माध्यम से प्रतिवर्ष अमेरिका में 100 भारतीय प्रवासियों का कोटा निश्चित हुआ था.

सबरीना पिछले वर्ष प्रवक्ता और उप संवाद निदेशक के रूप में डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी (डीएनसी) से जुड़ी थीं. डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता का कहना है कि वह अपने दादा सरदार जेजे सिंह के काम से प्रेरणा लेते हुए ट्रंप प्रशासन की विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ लड़ रही हैं.

डोनाल्ड ट्रंप के वाइट हाउस में जाने के 18 महीने बाद सिंह ने कहा कि डेमोक्रेट आक्रामक हो गए हैं. उन्होंने कहा कि डेमोक्रेट्स के पास निश्चित तौर फेवर है. हम प्रशासन को जिम्मेदारी का एहसास करा रहे हैं और ऐसा हम नवंबर, 2020 तक करते रहेंगे. सबरीना ने कहा कि हम आगे बढ़ते हुए इसमें और तेजी लाएंगे.

सबरीना ने कहा कि हर दिन हम देख रहे हैं कि ट्रंप प्रशासन अलग-अलग समूहों के खिलाफ हमलों की लॉबिंग कर रहा है, चाहे वह लैटिन, एशियाई-अमेरिकी या प्रशांत द्वीपसमूह के हों. उन्होंने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने 'दलदल को खत्म करने' के अपने वादे को पूरा नहीं किया है. कुछ भी हो मुझे लगता है कि सबकुछ दलदल की तरह हो गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi