S M L

रोजगार पैदा करने में चीन के साथ करें मुकाबला: राहुल गांधी

राहुल ने कहा कि युवाओं के बीच विश्वास पैदा करने का एकमात्र तरीका सरकार के लिए रोजगार सृजन में चीन का मुकाबला करना है, चीन 30 वर्ष तक भारत का प्रतिद्वंद्वी रहेगा

Updated On: Apr 08, 2018 06:25 PM IST

Bhasha

0
रोजगार पैदा करने में चीन के साथ करें मुकाबला: राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि सरकार रोजगार सृजन में चीन के साथ मुकाबला करके ही युवाओं में विश्वास पैदा कर सकती है. उन्होंने कहा कि नौकरियां पैदा करना आने वाले वर्षों में भारत का केंद्रीय मुद्दा होना चाहिए. राहुल ने कहा कि इस क्षेत्र में चीन अगले 30 वर्ष तक भारत का प्रतिद्वंद्वी रहेगा.

उन्होंने कहा कि युवाओं के बीच विश्वास पैदा करने का एकमात्र तरीका सरकार के लिए रोजगार सृजन में चीन का मुकाबला करना है जो अगले 30 वर्ष तक भारत का प्रतिद्वंद्वी रहेगा.

उद्योगपतियों के साथ बातचीत के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बदलाव के लिए मानसिकता में बदलाव बहुत जरूरी है, बिल्कुल वैसे ही जैसे हरित क्रांति और टेलीकॉम के पहले हुआ था.

देश के विकास में छोटे व्यवसायियों की अहम भूमिका

एक सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि देश के विकास में छोटे व्यवसायियों की बड़ी भूमिका है और रोजगार सृजन के लिए केंद्र सरकार को उनका समर्थन करना चाहिए. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि बड़े और लघु उद्योगों के लिए अलग-अलग दृष्टिकोण और ढांचा होना चाहिए.

एक अन्य सवाल पर राहुल ने कहा कि अगले कुछ महीनों में हम राष्ट्रीय घोषणापत्र बनाना शुरू करेंगे. उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीनों में हम कांग्रेस पार्टी के लिए राष्ट्रीय घोषणापत्र तैयार करने वाले हैं. घोषणापत्र तैयार करने के लिए हम कांग्रेस के भीतर बातचीत कर रहे हैं. यह बहुत बड़ा कदम है. हम प्रक्रिया शुरू करेंगे.

भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए जीएसटी में हो एक स्तरीय कर

राहुल ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि बीजेपी द्वारा ‘तैयार किए गए’ जीएसटी से कांग्रेस इत्तेफाक नहीं रखती है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए कांग्रेस एक स्तरीय कर के पक्ष में है. उन्होंने कहा कि हम एक स्तरीय (जीएसटी) चाहते हैं ताकि कहीं कोई भ्रष्टाचार न हो.

राहुल ने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आने पर जीएसटी की समीक्षा करेगी. उन्होंने कहा कि मौजूदा स्वरूप में भारत में लागू जीएसटी दुनिया का सबसे जटिल कर कानून है.

बुलेट ट्रेन परियोजना सिर्फ एक दिखावा

एनडीए की बुलेट ट्रेन परियोजना पर राहुल ने कहा कि यह सिर्फ दिखावा है और इसकी योजना सही तरीके से तैयार नहीं की गई है. उन्होंने कहा कि करीब एक लाख करोड़ रुपए ऐसी परियोजना पर खर्च होने वाले हैं, जिसकी रूपरेखा ही ठीक से नहीं बनी है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा कि देश नोटबंदी, जीएसटी और नीरव मोदी मुद्दे की ‘कीमत चुकाने जा रहा है.’

राहुल कांग्रेस की जन आशीर्वाद यात्रा के तहत प्रचार के छठे चरण में शनिवार को कर्नाटक आए. कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi