S M L

भारत ने UN में पाकिस्तान के आरोपों का दिया करारा जवाब, खोले कई बड़े राज

'राइट टू रिप्लाई’ के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत की दूत एनम गंभीर ने कुरैशी के आरोपों का बड़ी ही मजबूती के साथ खंडन किया

Updated On: Sep 30, 2018 12:02 PM IST

FP Staff

0
भारत ने UN में पाकिस्तान के आरोपों का दिया करारा जवाब, खोले कई बड़े राज

भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा लगाए गए आतंकी हमले में संलिप्तता जैसे आरोपों का खंडन करते हुए पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है. आपको बता दें कि पाकिस्ताक के विदेश मंत्री कुरैशी ने भारत पर 2014 में पेशावर के स्कूल में हुए आतंकी हमले में शामिल होने का आरोप लगाया था. संयुक्त राष्ट्र में भारत की दूत एनम गंभीर ने पाकिस्तान के आरोपों का जवाब देते हुए कहा, 'चार साल पहले पेशावर के स्कूल पर जानलेवा आतंकवादी हमले से संबंधित यह आरोप बिलकुल बेतुका है. पाकिस्तान की नई सरकार को याद दिलाना चाहूंगी कि भारत में भी 2014 पेशावर हमले की निंदा की गई थी. संसद के दोनों सदन में हमले में मारे गए बच्चों को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भी दी गई थी.'

भारत की दूत एनम गंभीर ने कुरैशी के आरोपों का किया खंडन

'राइट टू रिप्लाई’ के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत की दूत एनम गंभीर ने कुरैशी के आरोपों का बड़ी ही मजबूती के साथ खंडन किया. गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान भले ही कहे कि उसने आतंकवाद पर नकेल कस दी है, लेकिन सच्चाई यह है कि आतंकी आज भी वहां खुलेआम घूम रहे हैं और लोगों को चुनाव भी लड़वा रहे हैं. गंभीर ने आतंकवादी हाफिज सईद पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या पाकिस्तान यह स्वीकार करेगा कि यूएन से घोषित आतंकी सईद वहां खुलेआम घूम रहा है. पाकिस्तान मानवाधिकार की बात करता है लेकिन उसके मुंह से यह बातें बिल्कुल खोखली लगती हैं.

पाकिस्तान मानवाधिकार की बात करता है लेकिन अमल नहीं करता

एनम गंभीर ने कहा, 'हमने यह भी देखा है कि पाकिस्तान मानवाधिकार की भी बात करता है लेकिन, वह इस पर अमल नहीं करता. प्रिंसटन के अर्थशास्त्री आतिफ मियां के उदाहरण से इस बात को समझा जा सकता है. उन्हें इकोनॉमिक एडवाइजरी काउंसिल से सिर्फ इसलिए हटा दिया गया था क्योंकि वह अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखते थे.' यूएन में भारत की दूत एनम गंभीर ने नसीहत दी कि पाकिस्‍तान को दुनिया को उपदेश देने से पहले खुद के घर से ही मानवाधिकार की शुरुआत करनी चाहिए.

कुरैशी का आरोप भारत शांति वार्ता से पीछे हट रहा है

पाकिस्तान ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठाते हुए कहा कि अनसुलझा विवाद भारत और पाकिस्तान के बीच स्थायी शांति हासिल करने पर असर डाल रहा है और यह मानवता पर धब्बा बना हुआ है. वहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत शांति की वार्ता से पीछे हट रहा है. कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ सभी मुद्दों पर बातचीत करना चाहता था लेकिन नई दिल्ली ने शांति पर राजनीति को तरजीह देते हुए वार्ता रद्द कर दी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi