Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

आप के अयोग्य विधायकों ने वापस ली हाई कोर्ट से अर्जी

कोर्ट की ओर से याचिका खारिज किए जाने से पहले ही आप के छह विधायकों ने अपनी अर्जी वापस ले ली, अब विधायक इस मामले में दोबारा कोर्ट में याचिका दायर करेंगे

FP Staff Updated On: Jan 22, 2018 06:20 PM IST

0
आप के अयोग्य विधायकों ने वापस ली हाई कोर्ट से अर्जी

कदम बढ़ाने के बाद आप के विधायकों ने अपने पैर वापस खींच लिए. पार्टी के अयोग्‍य घोषित विधायकों ने दिल्‍ली हाईकोर्ट से अपनी याचिका वापस ले ली है. कोर्ट की ओर से याचिका खारिज किए जाने से पहले ही आप के छह विधायकों ने अपनी अर्जी वापस ले ली. अब विधायक इस मामले में दोबारा कोर्ट में याचिका दायर करेंगे.

सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग के तरफ से कोर्ट को बताया कि जब विधायकों ने कोर्ट में अर्जी लगाई उस समय चुनाव आयोग राष्‍ट्रपति के पास विधायकों को अयोग्य करार करने की सिफारिश भेज चुका था. रविवार को राष्‍ट्रपति ने इसे मंजूरी दे दी. इसके बाद कोर्ट अर्जी को खारिज करने लगा तब विधायकों ने अपनी अर्जी वापस ले ली.

आप के 20 विधायकों की सदस्यता को ईसी ने किया था रद्द 

लाभ के पद पर होने के कारण आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को चुनाव आयोग ने अयोग्‍य घोषित कर दिया था. इस फैसले पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी मुहर लगा दी थी. इससे आप के 20 विधायकों की सदस्‍यता रद्द हो गई थी.

निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को सिफारिश की थी कि 13 मार्च 2015 और आठ सितंबर 2016 के बीच लाभ का पद रखने को लेकर 20 विधायक अयोग्य ठहराए जाने के हकदार हैं. इन आप विधायकों को संसदीय सचिव नियुक्त किया गया था और याचिकाकर्ता प्रशांत पटेल ने कहा था कि उनके पास लाभ का पद है.

निर्वाचन आयोग ने इस मुद्दे पर राष्ट्रपति को राय देते हुए कहा था कि विधायकों ने ससंदीय सचिव का पद लेकर लाभ का पद हासिल किया और वे विधायक के रूप में अयोग्य ठहराए जाने के हकदार हैं. राष्ट्रपति निर्वाचन आयोग की सिफारिश को मानने के लिए बाध्य होते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi