S M L

'BJP को सरकार बनाने के लिए बुलाना मतलब खुलेआम खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देना'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यदि राज्यपाल वजुभाई वाला बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं, तो यह गलत फैसला होगा

Updated On: May 16, 2018 10:50 AM IST

Bhasha

0
'BJP को सरकार बनाने के लिए बुलाना मतलब खुलेआम खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देना'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को कहा कि कर्नाटक के राज्यपाल यदि बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं तो इसका मतलब होगा कि वह पार्टियों में खुलेआम खरीद फरोख्त, भ्रष्टाचार और दलबदल को आमंत्रित कर रहे हैं.

आजाद ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात के बाद कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त विधायक हैं और यह गठबंधन ही राज्य को एक स्थिर सरकार प्रदान करेगा.

उन्होंने कहा , ‘यदि माननीय राज्यपाल बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाते हैं तो इसका मतलब होगा कि वह खुलेआम खरीद फरोख्त , भ्रष्टाचार और दलबदल को आमंत्रित कर रहे हैं और संविधान के तहत, कर्नाटक राज्य के प्रमुख के तौर पर आपको यह नहीं करना चाहिए.

गोवा में भी दिया गया था बहुमत पर बल

कांग्रेस नेता ने कहा कि अकेली सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर बीजेपी द्वारा सरकार बनाने का दावा करना सही नहीं होगा. उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए क्योंकि गोवा के मामले में सुप्रीम कोर्ट का एक फैसला है जिसमें कांग्रेस अकेली सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी लेकिन बीजेपी ने छोटे दलों के साथ गठबंधन में बहुमत पर बल दिखा दिया था.

उन्होंने कहा कि उस वक्त अदालत ने कहा था कि यह जरूरी नहीं कि अकेली सबसे बड़ी पार्टी सरकार बनाने का दावा करे. यदि दलों के एक समूह के पास शपथ लेने के लिए बहुमत है तो वो सरकार बना सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi