S M L

चंद्रशेखर रावण से कोई रिश्ता नहीं, बीएसपी के झंडे के नीचे लड़े लड़ाई: मायावती

मायावती ने कहा कि मेरा रिश्ता आम लोगों के साथ है, दलित, आदिवासी और पिछड़े वर्ग के साथ है, मैं रावण जैसे लोगों के साथ रिश्ता नहीं रखती

Updated On: Sep 16, 2018 03:00 PM IST

FP Staff

0
चंद्रशेखर रावण से कोई रिश्ता नहीं, बीएसपी के झंडे के नीचे लड़े लड़ाई: मायावती
Loading...

बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने अपने नए बंगले 9 मॉल एवेन्यू में रविवार को पत्रकारों से बातचीत की. इस दौरान मायावती ने बीजेपी की केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने रक्षा सौदे पर खूब सवाल उठाए. साथ ही उन्होंने कहा कि चुनावों को देखते हुए बीजेपी राजनीति कर रही है. मायावती ने चंद्रशेखर रावण से कोई रिश्ता ना होने की बात भी कही. चंद्रशेखर के मायावती को बुआ कहने के संदर्भ में उन्होंने कहा कि मेरा रिश्ता आम लोगों के साथ है, दलित, आदिवासी और पिछड़े वर्ग के साथ है. मैं रावण जैसे लोगों के साथ रिश्ता नहीं रखती. उन्होंने साफ कहा कि वह करोड़ों लोगों की लड़ाई लड़ रही हैं. उन्होंने रावण को सलाह दी और कहा कि अलग से संगठन बनाने की जरूरत क्यों? बीएसपी के झंडे के नीचे आकर लड़ाई लड़ें.

मायावती ने कहा कि राजनीतिक स्वार्थ के लिए लोग मुझसे रिश्ता दिखा रहे हैं. सहारनपुर हिंसा में आरोपी चंद्रशेखर मुझसे रिश्ता दिखा रहा है जबकि मेरा सिर्फ गरीबों से रिश्ता है. ऐसे किसी व्यक्ति से मेरा रिश्ता नहीं है, जो समाज में ऐसा काम करते हैं. समाज में ऐसे बहुत से संगठन बनते चले आ रहे हैं जो सिर्फ अपना धंधा चलाते हैं.

सम्मानजनक सीट नहीं मिली तो अकेली लड़ेगी बीएसपी

इस दौरान गठबंधन पर मायावती ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि बीएसपी गठबंधन के खिलाफ नहीं है लेकिन सम्मानजनक सीट मिलने पर ही साथ में लड़ेगी. सम्मानजनक सीट न मिलने पर बीएसपी अकेले लड़ेगी. मायावती ने कहा कि बीजेपी की केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की गलत नीतियों का ध्यान दिलाना चाहती हूं. जैसे-जैसे लोकसभा और कई राज्यों में विधानसभा चुनाव पास आ रहा है बीजेपी लुभावने वादे कर रही है.

अटल जी की मौत पर राजनीतिक लाभ ले रही बीजेपी

मायावती ने कहा कि बीजेपी ने कोई भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया है. अब आम जनता इनके झांसे में आने वाली नहीं है. बीजेपी ने देश के करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों के साथ धोखा किया है. मायावती ने कहा कि बीजेपी की केंद्र और राज्यों की सरकार अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए तरह-तरह की रणनीति अपना रहे हैं. उन्होंने एक भी चुनावी वायदे पूरे नहीं किए. ये अटल बिहारी वाजपेयी की मौत पर भी राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं. बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी ने गलत नीतियों से 100 से ज्यादा गरीबों की जान ले ली है. नोटबंदी राष्ट्रीय त्रासदी साबित हुआ है. नोटबंदी का फैसला गलत तरीके से किया गया है. इससे बेरोजगारी बढ़ी है. छोटे उद्योग बंद हो गए हैं. मायावती ने कहा कि डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमतें भी बढ़ गई हैं.

दलितों की मदद करने वाले वकीलों, एनजीओ के साथ सरकार अन्याय कर रही है. मायावती ने कहा कि कोर्ट में दलितों की मदद करने वाले वकीलों और एनजीओ के साथ भी बीजेपी सरकार अन्याय कर रही है. बीजेपी शासित राज्यों में गो रक्षा के नाम पर मॉब लींचिंग लोकतंत्र को कलंकित कर रहा है. उन्होंने कहा कि अच्छे दिन के सपने दिखाकर बीजेपी ने केवल कारोबारियों का भला किया है. महिला सुरक्षा पर बीजेपी सरकार की असफलता साफ दिखाई दे रही है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi