विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

आरबीआई कर सकता है ये बड़ा फैसला, जानिए कैसे होगा आपको फायदा

आरबीआई द्वारा दो अगस्‍त को की जाने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा में उससे रेपो रेट में कमी की उम्‍मीद की जाने लगी है

FP Staff Updated On: Jul 13, 2017 09:48 PM IST

0
आरबीआई कर सकता है ये बड़ा फैसला, जानिए कैसे होगा आपको फायदा

बुधवार को आए महंगाई के आंकड़ों ने सरकार को बड़ी राहत दी है. इसके बाद आरबीआई द्वारा दो अगस्‍त को की जाने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा में उससे रेपो रेट में कमी की उम्‍मीद की जाने लगी है. रेपो रेट कम होने से होम लोन, ऑटो लोन समेत सभी तरह के लोन की ब्‍याज दरें कम हो जाएंगी. इससे न सिर्फ उन लोगों को फायदा होगा जिन्‍होंने लोन ले रखा है, बल्कि वो लोग भी लोन लेने के लिए प्रेरित होंगे जो अधिक ब्‍याज दर के कारण फिलहाल लोन लेने से हिचक रहे हैं. इस तरह बाजार में पैसे आएंगे, जिससे बिजनेस एक्टिविटी बढ़ेगी और नौकरियां निकलेंगी.

ब्‍याज दर कम करने के ये हैं कारण

एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि आरबीआई के पास ब्‍याज दरें घटाने का सही मौका है क्‍योंकि फिलहाल महंगाई उसके लक्ष्‍य के दायरे में है. पिछले महीने जून में आरबीआई ने महंगाई की दलील देकर रेट कट करने से इंकार कर दिया था. वैसे 2 जून 2015 को आरबीआई ने दरों में 0.25 फीसदी की कटौती की थी, तब महंगाई दर 5.01 फीसदी के आसपास थी.

वहीं 29 सितंबर 2015 को महंगाई दर 3.74 फीसदी के आसपास रहने को दौरान आरबीआई ने दरों में 0.5 फीसदी की कटौती की थी. इसी तरह आरबीआई ने 5 अप्रैल 2016 को भी दरें 0.25 फीसदी घटाई थीं, तब महंगाई 4.83 फीसदी पर थी. आरबीआई ने 4 अक्टूबर 2016 को दरें 0.25 फीसदी घटाई थीं तब महंगाई 4.40 फीसदी पर थी. जबकि 2017 के जून का कंज्‍यूमर इन्‍फ्लेशन महज 1.54 फीसदी रिकॉर्ड किया गया है. ऐसे में रेट कट की पूरी संभावना बन रही है.

रेट कट से बढ़ेगा प्रोडक्‍शन, मिलेगी अधिक नौकरी

यूको बैंक के एमडी और सीईओ रवि कृष्ण टक्कर ने कहा कि महंगाई के जो आकड़े आए हैं, वो इसी दिशा में संकेत कर रहे हैं कि आरबीआई अब दरें घटाने का निर्णय ले सकता है. देश में प्रोडक्शन घटा है. इसकी वजह ये है कि देश में अभी नया निवेश नहीं हो रहा है. ऐसे में अगर आरबीआई दरों में कुछ कटौती करेगा तो देश में उत्पादन गतिविधियों को बढ़ाने में कुछ मदद जरूर मिल सकती है. इससे जॉब में भी इजाफा होगा. हालांकि निवेश बढ़ाने के लिए ब्याज दरों के अलावा भी काफी कुछ करने की जरूरत है.

अक्‍टूबर में हो सकती है बड़ी कटौती

एसबीआई के मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्य कांति घोष ने कहा कि महंगाई के आंकड़ों को देखते हुए 2 अगस्त की अपनी अगली पॉलिसी में आरबीआई दरों में 0.25 फीसदी की कटौती कर सकता है. अगर किसी कारण से आरबीआई अगस्त में रेट कट नहीं करता तो फिर अक्टूबर में हमें दरों में बड़ी कटौती देखने को मिलेगी.

इक्रा की सीनियर इकोनॉमिस्ट अदिति नायर ने कहा कि महंगाई के आंकड़े उम्मीद से भी कम रहे हैं. उम्मीद है कि अगस्त की पॉलिसी में 0.25 फीसदी की रेट कट देखने को मिल सकता है. लेकिन आगे रेट कट का ये सिलसिला बना रहेगा, ऐसा नहीं लगता.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi