S M L

कांग्रेस के समय सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी उसे अब बताने की क्या जरुरत आन पड़ी? : राजनाथ सिंह

राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उदयपुर में थे. राहुल ने कहा था कि पीएम मोदी सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल करते हैं

Updated On: Dec 02, 2018 04:33 PM IST

FP Staff

0
कांग्रेस के समय सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी उसे अब बताने की क्या जरुरत आन पड़ी? : राजनाथ सिंह

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है. सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा था कि कांग्रेस की सरकार के समय तीन बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी पर हमने कभी उसके लिए अपनी पीठ नहीं थपथपाई. लेकिन बीजेपी ऐसा कर रही है क्योंकि वो चुनाव हार रही है. राहुल गांधी के इसी आरोप का जवाब गृहमंत्री दे रहे थे.

उन्होंने पलटवार करते हुए कहा: वो अब इसके बारे में क्यों कह रहे हैं? उन्होंने सेना के बहादुरी और प्रयास को सार्वजनिक क्यों नहीं किया? लोगों को सेना की उपलब्धियों के बारे में जानने का अधिकार है. आखिर उन्हें अचानक यह महसूस हो रहा है?

साथ ही राजनाथ सिंह ने राफेल मुद्दे पर कांग्रेस द्वारा जेपीसी बनाने की मांग करने पर भी अपनी राय दी. उन्होंने कहा: अब वो लोग इस मुद्दे को सुप्रीम कोर्ट लेकर गए हैं. तो उन्हें कोर्ट के आदेश का इंतजार करना चाहिए.

उदयपुर में राहुल ने बीजेपी पर आरोप लगाए थे:

राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उदयपुर में थे. उसी दौरान उन्होंने शहर के युवाओं, कारोबारियों और अन्य क्षेत्र के लोगों से बातचीत की थी और केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की वसुंधरा सरकार पर जमकर हमला बोला था. राहुल ने सर्जिकल स्ट्राइक, नोटबंदी, जीएसटी, बेरोजगारी से लेकर तमाम मुद्दों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था. राहुल ने कहा था कि पीएम मोदी सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल करते हैं.

इस दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी और पीएम मोदी पर कई आरोप लगाए थे. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा था कि मनमोहन सिंह के पास आर्मी आई थी लेकिन नरेंद्र मोदी खुद आर्मी के पास गए और सर्जिकल स्ट्राइक को रचा. यही नहीं इसे राजनीतिक संपत्ति में बदल दिया. जबकि यह मिलिट्री का डिसिजन था. राहुल ने कहा कि आर्मी को यह पसंद आता कि हम इसे करते और किसी को पता नहीं चलता कि हमने किया है. लेकिन मोदी जी यह नहीं करना चाहते थे. वह उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ रहे थे और हार रहे थे. इसलिए उन्होंने मिलिट्री की संपत्ति को राजनीति की संपत्ति में बदल दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi